आज महिलाओं को बाहर निकलने से डर लग रहा है: राहुल गांधी

राहुल गांधी का कैंडल मार्च इमेज कॉपीरइट Twitter/INC

उन्नाव और कठुआ में हुए रेप केस को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों से साथ दिल्ली में कैंडल मार्च किया.

राहुल गांधी के साथ कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे.

कैंडल मार्च में राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी और उनके पति रॉबर्ट वाड्रा भी मौजूद थे.

दिल्ली के मानसिंह रोड से शुरू हुआ ये मार्च इंडिया गेट पर ख़त्म हुआ.

मिडनाइट कैंडल मार्च को देखते हुए सुरक्षा का कड़ा इंतज़ाम किया गया था.

इस मार्च में अच्छी संख्या में महिलाओं ने भी हिस्सा लिया.

मार्च को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, "देश में महिलाओं के ख़िलाफ एक के बाद एक जो घटनाएं हो रही हैं, हत्या की, बलात्कार की, हिंसा की, उसके ख़िलाफ़ हम खड़े हैं. हम चाहते हैं कि सरकार उसके ख़िलाफ़ कार्रवाई करे. आज भारत की महिलाओं को बाहर निकलने से डर लग रहा है. हम चाहते हैं कि सरकार इस मामले का हल निकाले कि हिंदुस्तान की महिला शांति से जी पाए. "

कैंडल मार्च में शामिल लोगों में उन्नाव में नाबालिग युवती के साथ बीजेपी विधायक के कथित बलात्कार और जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची की बलात्कार के बाद निर्मम हत्या को लेकर रोष था.

मार्च में शामिल महिलाओं का आरोप है कि केंद्र की मौजूदा नरेंद्र मोदी सरकार महिलाओं और बच्चियों को सुरक्षा देने में नाकाम रही है.

लोगों के हाथों में बैनर थे जिसमें महिलाओं के ख़िलाफ अत्याचार को लेकर नारे लिखे गए थे.

दरअसल राहुल गांधी ने अब से कुछ घंटे पहले ट्वीट कर लोगों से कैंडल मार्च में शामिल होने की अपील की थी.

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था, '' लाखों भारतीयों की तरह आज की रात मैं दुखी हूं. आज जिस तरह भारत में महिलाओं के साथ व्यवहार किया जा रहा है, उसे और बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. इस हिंसा और न्याय की मांग के लिए मेरे साथ शांतिपूर्ण कैंडलमार्च में इंडिया गेट पर शामिल हों.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)