गढ़चिरौली: मुठभेड़ में 14 माओवादियों को मारने का दावा

  • 22 अप्रैल 2018
स्पेशल सिक्योरिटी फोर्ट इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption सांकेतिक तस्वीर

छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे हुए महाराष्ट्र के गढ़चिरौली ज़िले में पुलिस ने एक मुठभेड़ में 14 माओवादियों के मारे जाने का दावा किया है.

पुलिस ने कुछ और माओवादियों के भी मारे जाने की आशंका से इंकार नहीं किया है.

नागपुर में नक्सल विरोधी अभियान के विशेष पुलिस महानिरीक्षक शरद शेलार ने बीबीसी को बताया, "अभी तक हमें 14 माओवादियों की मौत की ख़बर मिली है. इस पूरे घटनाक्रम को हमारे सुरक्षाबलों की सी-60 टीम ने अंजाम दिया है."

पुलिस के अनुसार सुरक्षाबलों का एक दल भामरागढ़ इलाके के ताड़गांव जंगलों में सर्च ऑपरेशन पर निकला हुआ था, जहां रविवार की सुबह माओवादियों के साथ उनकी मुठभेड़ हुई.

ये मुठभेड़ कई घंटों तक चली और मुठभेड़ के बाद पुलिस ने मौक़े से 13 माओवादियों के शव बरामद किए हैं.

इमेज कॉपीरइट DIBYANGSHU SARKAR/AFP/Getty Images
Image caption सांकेतिक तस्वीर

पुलिस ने मुठभेड़ की जगह पर मिले ख़ून के धब्बों से अनुमान लगाया है कि कुछ और माओवादियों की भी इस मुठभेड़ में मौत हुई हो सकती है. इलाके में सर्च ऑपरेशन और तेज़ कर दिया गया है.

मुठभेड़ में दो बड़े माओवादी कमांडरों साईनाथ और शिनू की मौत की ख़बर है लेकिन पुलिस ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है.

पुलिस इसे बड़ी कामयाबी मान कर चल रही है क्योंकि गढ़चिरौली में कई सालों के बाद इतनी बड़ी संख्या में माओवादी मारे गये हैं.

इसके अलावा छत्तीसगढ़ के सुकमा में भी सुरक्षाबल और माओवादियों के बीच मुठभेड़ की जानकारी सामने आ रही है, लेकिन अभी तक इसकी कोई पुष्टि नहीं हुई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे