हिमाचल में कब्ज़ा हटाने गई अधिकारी को गोली मार बिल्डर पुलिस के सामने हुआ फ़रार

  • 2 मई 2018
हिमाचल प्रदेश इमेज कॉपीरइट Pankaj Sharma/BBC
Image caption शैल बाला

हिमाचल प्रदेश के सोलन ज़िले के कसौली में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर अवैध निर्माण गिराने पहुंची शैल बाला की एक बिल्डर ने कथित तौर पर मंगलवार को गोली मार कर हत्या कर दी.

शैल बाला असिस्टेंट टाउन प्लानर के पद पर तैनात थीं. वो दोपहर के 2.30 बजे अपनी टीम के साथ अवैध कब्जा हटाने मंढोधर में नारायणी गेस्ट हाउस पहुंची थीं, जहां होटल मालिक विजय ठाकुर कथित तौर पर उनसे बहस करने लगे.

पुलिस के मुताबिक बहस बढ़ने पर विजय ठाकुर ने अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से शैल बाला पर तीन गोलियां चला दीं. उनकी घटना स्थल पर ही मौत हो गई.

इमेज कॉपीरइट Pankaj Sharma/BBC

हिमाचल जैसे शांति प्रिय प्रदेश में इस घटना ने लोगों को हैरान कर दिया है.

हैरान करने वाली बात ये भी है कि विजय ठाकुर गोली दागने के बाद पुलिस की मौजूदगी में वहां से फ़रार हो गए.

घटना पर शैल बाला के बड़े भाई मदन कांत शर्मा कहते हैं, "मेरी बहन अपना फ़र्ज निभाने वहां गई थीं और उन्हें मार दिया गया. उसे जो भी निर्देश मिले थे, वो उसे निभाने गई थी."

शैल बाला का परिवार सदमे में है. मदन कांत कहते हैं कि इस तरह की घटना हिमाचल प्रदेश में पहले कभी नहीं हुई. यह चौंकाने वाली घटना है.

इमेज कॉपीरइट Pankaj Sharma/BBC

वहीं, मामले में क़ानून व्यवस्था के लिए जिम्मेदार एसपी कुशाल शर्मा ने बीबीसी को बताया कि एक विशेष टीम का गठन किया गया है, जो इसकी जांच करेगी.

उन्होंने यह भी बताया कि अभियुक्त की जानकारी देने वाले को एक लाख रुपए का इनाम दिया जाएगा.

घटना में लोक निर्माण विभाग की कर्मचारी गुलाब सिंह घायल हो गए हैं. मामले में अभियुक्त विजय ठाकुर शिमला में बिजली बोर्ड के कर्मचारी हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे