प्रेस रिव्यू: डेटिंग ऐप पर लव अफ़ेयर और फिर मर्डर क्राइम

  • 8 मई 2018
टिंडर ऐप इमेज कॉपीरइट Leon Neal/Getty Images

'पैसे नहीं मिले तो कर दी हत्या.' हिंदुस्तान टाइम्स ने जयपुर की इस आपराधिक घटना को अपने पहले पन्ने पर जगह दी है.

डेटिंग ऐप टिंडर पर दुष्यंत शर्मा ने विवान कोहली नाम से फ़ेक आईडी बनाई और ख़ुद को करोड़पति बताया. टिंडर पर दुष्यंत की दोस्ती 27 साल की प्रिया सेठ से हुई.

हालांकि प्रिया पहले से ही किसी और के साथ रिलेशनशिप में थीं. प्रिया, उनके ब्वॉयफ्रेंड और एक अन्य दोस्त ने दुष्यंत को लूटने की साज़िश रची.

तीनों ने एक हफ़्ते पहले ही बजाज नगर इलाके में एक किराए पर घर लिया था. दो मई को प्रिया ने दुष्यंत को घर बुलाया और उनसे 10 लाख रुपये की मांग की.

इसके बाद उन्होंने उनके पिता को फ़िरौती के लिए फ़ोन किया.

लेकिन जब उन्हें पता चला कि दुष्यंत इतना अमीर नहीं है कि उनकी मांग पूरी कर सके तो उन्होंने कथित तौर पर उसकी हत्या कर दी.

फिलहाल तीनों आरोपियों को पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मोर की अंत्येष्टि

टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने एक मोर को तिरंगे में लपेटकर दफ़नाने की ख़बर को पहले पन्ने पर जगह दी है.

शुक्रवार को एक दिल्ली पुलिस के एक कर्मचारी को सड़क किनारे मरा हुआ मोर मिला था.

उसने मोम को दफ़नाने से पहले तिरंगे में लपेटा, फिर लकड़ी के बॉक्स में रखा और फिर दफ़ना दिया.

पुलिसकर्मी को यह मोर हाई कोर्ट के बाहर घायल हालत में मिला था. पुलिस का कहना है कि उन्होंने प्रोटोकॉल का पालन किया क्योंकि मोर हमारा राष्ट्री पक्षी है.

लेकिन मोर को इस तरह दफ़नाने के लेकर एक नया विवाद पैदा हो गया है.

एक विशेषज्ञ के हवाले से अख़बार ने लिखा है कि ऐसा करना वाइल्ड लाइफ़ प्रोटेक्शन एक्ट 1972 का उल्लंघन है. क़ानून ये कहता है कि राष्ट्रीय पक्षी का अंतिम संस्कार सिर्फ़ राज्य वन विभाग कर सकता है, वो भी पोस्टमार्टम के बाद.

इमेज कॉपीरइट MONEY SHARMA/AFP/GETTY IMAGES

द स्टेट्समैन ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बयान को पहले पन्ने पर जगह दी है.

कर्नाटक में एक एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सिंह ने मोदी सरकार पर आर्थिक कुप्रबंधन को लेकर निशाना साधा.

उन्होंने कहा कि मुझे मौजूदा स्थिति को देखकर काफी दुख होता है कि मोदी सरकार को जब भी कमियां बताई जाती हैं तो उनका रवैया उसे दबाने वाला होता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए