कर्नाटक चुनाव: दो साल बाद सोनिया की चुनावी रैली, 10 बातें

सोनिया गांधी इमेज कॉपीरइट Getty Images

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव प्रचार अपने अंतिम चरण में हैं. प्रचार के लिए देश की दोनों ही बड़ी पार्टियों कांग्रेस और भाजपा ने अपनी पूरी ताक़त झोंक दी है.

कर्नाटक में चुनाव 12 मई को होंगे और परिणाम 15 मई को आएगा.

गुजरात और पूर्वोत्तर के चुनावों में मिली हार के बाद कांग्रेस के लिए ये चुनाव काफ़ी अहम है, वहीं कांग्रेस कर्नाटक में पाँच साल बाद सत्ता में वापसी का सपना संजोए हुए है.

कांग्रेस के लिए ये चुनाव कितनी अहमियत रखते हैं इसका अंदाज़ा इस बात से भी लगाया जा सकता है उसने पार्टी की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी को मैदान में उतार दिया.

सोनिया लगभग दो साल बाद किसी चुनावी रैली को संबोधित कर रही हैं. रैली के दौरान उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर कई हमले किए और सिद्धारमैया सरकार की तारीफ़ की.

सोनिया गांधी ने कहा कि राज्य की सिद्धारमैया सरकार ने किसानों और गरीबों के लिए बहुत कुछ किया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

चुनावी रैली में सोनिया ने क्या-क्या कहा?

  • राज्य के किसान सूखे से जूझ रहे हैं. आपके सीएम पीएम नरेंद्र मोदी से इस मुद्दे पर मिलना चाहते थे, लेकिन उन्होंने मना कर दिया. इससे पीएम ने न केवल किसानों की बल्कि कर्नाटक की बेइज्ज़ती की है. क्या यही उनका सबका साथ, सबका विकास है.
  • किसी ने भी ऐसा प्रधानमंत्री नहीं देखा होगा जो इतनी बात करता हो, लेकिन महत्वपूर्ण मुद्दों पर हमेशा शांत रहता हो. उन्होंने किसानों, गरीबों और मध्यम वर्ग के लिेए क्या किया?
  • मोदी जी को इस बात का गर्व है कि वो बहुत अच्छा भाषण देते हैं. वो एक अभिनेता की तरह भाषण देते हैं. मैं चाहती हूं कि अगर उनके भाषण से लोगों का पेट भरता हो तो वो और भी भाषण दें.
  • मैं जानती हूं आप नरेंद्र मोदी की सरकार को 12 मई को होने वाले चुनावों में सफल नहीं होने देंगे. आप लोग कांग्रेस को बहुमत के साथ जिताएंगे.
  • मोदी जी पर कांग्रेस मुक्त भारत का जुनून है, उन्हें इसका भूत लगा है, कांग्रेस मुक्त भारत को छोड़िए, वो अपने सामने किसी को बर्दाश्त नहीं कर सकते.
  • पीएम के भ्रष्टाचार हटाने के वादे का क्या हुआ? सरकार आने के 4 साल बाद भी केंद्र में लोकपाल की नियुक्ति क्यों नहीं हुई.
  • देश ये देखकर हैरान है कि पीएम जहां भी जाते हैं गलत ही बोलते हैं. इतिहास का अपमान करते हैं.
  • कांग्रेस ने कर्नाटक को देश का नंबर वन राज्य बनाया और लोगों के लिए कई योजनाएं शुरू की. हमने इंदिरा कैंटीन शुरू की, जिसमें गरीब से गरीब भी 10 रुपये में पूरा आहार ले सकता है.
  • जहां कांग्रेस विकास का काम कर रही है वहीं, दूसरी तरफ मोदी जी का चार साल से एक ही काम है कि कांग्रेस ने जो भी अच्छा काम किया उसे खत्म करना.
  • पिछले कुछ साल से भयंकर परेशानी का माहौल है. देश के व्यापारी, किसानों, दलित, महिलाओं, गरीबों, पिछड़ों सबको उनके भविष्य के लिए डर लग रहा है. इस देश में बच्चियां तक सुरक्षित नहीं है.
  • देश के युवाओं के साथ दो करोड़ नौकरी का वादा किया था पर आज भी वो युवा रोजगार की तलाश में हैं. वे समझ गए हैं कि मोदी ने उनके साथ धोखा किया है.

रेड्डी ब्रदर्स ने कैसे खड़ा किया अरबों का साम्राज्य

चुनावी घोषणापत्र में सैनिटरी नैपकिन पर सवाल

कर्नाटक: न हवा, न लहर चुनाव में हावी है जाति

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)