सत्ता के दो दावेदारों के बीच उलझी कर्नाटक की राजनीति

  • 15 मई 2018
कर्नाटक विधानसभा चुनाव इमेज कॉपीरइट Getty Images/Twitter

ऐसा लग रहा है कि कर्नाटक की सत्ता हासिल करने के लिए सभी राजनीतिक दलों ने अपनी पूरी ताक़त झोंक दी है.

कर्नाटक विधानसभा की 222 सीटों में 214 के परिणाम आ चुके हैं. बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर रही है.

भाजपा ने अभी तक 99 सीटें जीती हैं और वो 5 सीटों पर आगे चल रही है. कांग्रेस 77 सीटें अपने नाम कर चुकी है और 2 सीटों पर उसे अभी उम्मीद है.

जिस पार्टी के हाथ में सत्ता की चाभी बताई जा रही है वो पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जनता दल सेकुलर है.

जेडीएस 37 सीटें जीत चुकी है और कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन का ऐलान कर दिया है.

कर्नाटक में मायावती की बसपा ने भी खाता खोला है और उसकी झोली में एक सीट आई है. कर्नाटक प्रग्न्यावंथा जनता पार्टी ने एक सीट जीती है.

इमेज कॉपीरइट JAGADEESH NV/EPA

कर्नाटक में क्या चल रहा है

"बीजेपी ने पिछले 14 चुनाव लगातार चुनाव जीते हैं. ये 15वां चुनाव है जिसे भी बीजेपी जीतने जा रही है.

बीजेपी पार्टी मुख्यालय में अमित शाह के इस बयान से कर्नाटक की राजनीति के उलझे दांव-पेंच का अंदाज़ा लगाया जा सकता है.

कर्नाटक की राजनीति में कांग्रेस चुनाव हारकर भी सत्ता से दूर फिसलती हुई नहीं दिखना चाहती है.

उसने पूर्व प्रधानमंत्री देवगौड़ा की जनता दल सेकुलर को समर्थन देने का ऐलान किया है.

देवगौड़ा के बेटे कुमारास्वामी ने कांग्रेस नेताओं के साथ राज्यपाल के पास जाकर सरकार गठन का दावा किया है.

हालांकि दावा तो सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरने वाली भाजपा के येदियुरप्पा ने भी किया है पर ये तस्वीर साफ़ नहीं है कि आठ और ज़रूरी विधायक वे कहां से लाएंगे.

इमेज कॉपीरइट MANJUNATH KIRAN/AFP/Getty Images

राज्यपाल के पास दावा

18:21- भाजपा संसदीय दल की बैठक मंगलवार शाम सात बजे दिल्ली में बुलाई गई है. इस बीच कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली ने कहा है कि जनता दल सेकुलर और कांग्रेस के पास सरकार गठन के लिए पर्याप्त नंबर है. बीजेपी बिना आंकड़ों के सरकार नहीं बना सकती है.

15:10- येदियुरप्पा ने कहा है कि भाजपा सबसे बड़ी पार्टी है और हम सरकार बनाने जा रहे हैं. उन्होंने राज्यपाल से मिलने के बाद कहा कि हमें 100 फीसदी भरोसा है कि हम ही सरकार बनाएंगे.

15:02- सीनियर टीवी जर्नलिस्ट राजदीप सरदेसाई ने ट्वीट किया है, "आज के लिए एक और गीत, जैसे को तैसा... बीजेपी ने गोवा में कांग्रेस से जीत छीन ली. कांग्रेस कर्नाटक में बीजेपी के साथ वही कर रही है. ज़िंदगी में एक और सबक. जब आप एक राज्य में नैतिकता के ऊपर सत्ता को चुनते हैं तो अगले राज्य में आप नैतिक सत्ता खो देते हैं."

16:56- कर्नाटक की राजनीति में सत्ता के लिए विधायकों की खरीदफरोख्त की ओर इशारा करते हुए जम्मू और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, काश कि बेंगुलुरु मेरे पास एक रिजॉर्ट होता.

16:34- मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक़ जेडीएस नेता एचडी कुमारास्वामी ने राज्यपाल से मिलने का समय मांगा है. ऐसी ख़बरें हैं कि सरकार बनाने के लिए कांग्रेस के समर्थन की पेशकश उन्होंने स्वीकार कर लिया है.

16:09- मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कर्नाटक के राज्यपाल को अपना इस्तीफ़ा सौंप दिया है.

16:07- बीजेपी नेता येदियुरप्पा ने एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा, लोगों ने कांग्रेस को खारिज किया है और बीजेपी को अपनाया है. लोग कांग्रेस मुक्त कर्नाटक की तरफ़ बढ़ रहे हैं. खारिज होने के बावजूद कांग्रेस सत्ता पर काबिज़ होने के लिए कोशिश कर रही है.

इमेज कॉपीरइट JAGADEESH NV/EPA

सत्ता की चाभी

मीडिया रिपोर्टों में कहा जा रहा है कि कांग्रेस के अहमद पटेल कर्नाटक के लिए रवाना हो गए हैं.

गुलाम नबी आज़ाद और अशोक गहलोत पहले से ही बेंगलुरु में मौजूद हैं.

उधर, दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात के बाद कर्नाटक के प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर मंगलवार को ही दिल्ली पहुंच रहे हैं.

जावड़ेकर के साथ राजनीतिक प्रबंधन के लिए जेपी नड्डा और धर्मेंद्र प्रधान भी बेंगलुरु में बीजेपी के हितों को संभालने के लिए साथ हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार