वाराणसी पुल हादसा: वो जिन्हें मौत छूकर निकल गई

वाराणसी पुल हादसा इमेज कॉपीरइट Getty Images

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर का हिस्सा गिरने से 18 लोगों की मौत हो गई.

घटना में कई लोगों के घायल होने की भी खबर है. उत्तर प्रदेश के प्रधान सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी के मुताबिक घटनास्थल से तीन लोगों को ज़िंदा बचा लिया गया है. राहत और बचाव कार्य जारी हैं.

अधिकारियों के मुताबिक हादसा भीड़भाड़ वाले कैंट इलाक़े में शाम के वक्त हुआ. पुल काफी समय से बन रहा था और शाम को अचानक इसका एक हिस्सा गिर गया. इससे नीचे से गुजर रही कई गाड़ियां दब गई.

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हादसा शाम को करीब साढ़े पाँच बजे हुआ, उस समय निर्माणाधीन पुल पर मजदूर काम कर रहे थे. कैंट लहरतारा-जीटी रोड वाराणसी की व्यस्ततम सड़कों में से एक है और इस पर अक्सर जाम की स्थिति बनी रहती है. हादसे में कई ऐसे लोग थे जो बाल-बाल बच गए.

इमेज कॉपीरइट NILAMBUJ TIWARI-BBC
Image caption हादसे में घायल शकील

चेतगंज निवासी मोहम्मद इस्लाइल मुर्गा कारोबार से जुड़े हैं और रोज की तरह बस में बैठकर लंका से कैंट की ओर आ रहे थे. इस्माइल बस में आगे बैठे थे. इस्माइल बताते हैं, "अचानक कोई बड़ी चीज़ बस पर आ गिरी. जब तक हम कुछ समझ पाते, चारों ओर अंधेरा और चीख-पुकार मचने लगी."

इस्माइल के सिर, पैर और हाथ में गंभीर चोट आई हैं.

जैतपुर शक्कर तालाब निवासी मोहम्मद शकील फूल माला बेचने का काम करते हैं और अपना काम निपटाकर घर लौट रहे थे.

शकील का कहना है कि वो मौत के मुंह से बच निकले हैं. शकील ने बताया, "नसीरुद्दीन बाइक चला रहे थे और मैं उनके पीछे बैठा था. हम घर लौट रहे थे. हमारी बाइक बाउंड्री के पास सटी थी, इसीलिए बच गए. गार्टर के नीचे कई लोगों की जान फंसी थी."

इमेज कॉपीरइट NIlAMBUJ TIWARI-BBC
Image caption हादसे में घायल इस्माइल

शकील और नसीर घायल हैं और उन्हें करीबचौरा अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

नदेसर निवासी रिंकू भी उन लोगों में शामिल हैं जो उस वक्त घटनास्थल से गुजर रहे थे और इसकी चपेट में आ गए.

रिंकू अपने ससुर को नई कार में बिठाकर घर लौट रहे थे. रिंकू ने बताया, "कुछ ही देर पहले मैंने अपने चालक को पीछे बैठने को कहा था और खुद गाड़ी चलाने लगा. तभी ये हादसा हो गया."

वाराणसी पुल हादसा: जो बातें अभी तक हमें मालूम हैं

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे