प्रेस रिव्यू: मध्यप्रदेश के स्कूलों में अब 'यस सर' नहीं 'जय हिंद'

सांकेतिक तस्वीर इमेज कॉपीरइट Getty Images

'नई दुनिया' के मुताबिक मध्य प्रदेश के स्कूलों में अब हाजिरी के दौरान छात्र-छात्राएं 'यस सर' की बजाय 'जय हिंद' बोलेंगे.

राज्य शासन ने मंगलवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं. शासन के आदेश में कहा गया है कि विद्यार्थियों में देशभक्ति की भावना जागृत करने के लिए यह निर्णय लिया गया है. शासन का कहना है कि अभी स्कूलों में हाजिरी के लिए अलग-अलग शब्द बोले जाते हैं. अब सब 'जय हिंद' ही बोलेंगे.

हालाँकि आदेश में ये स्पष्ट नहीं है कि क्या राज्य के निजी स्कूलों में भी हाजिरी के दौरान 'जय हिंद' बोला जाएगा.

पेंशन के लिए आधार नहीं

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हिंदुस्तान के मुताबिक केंद्रीय राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा है कि केंद्रीय कर्मचारियों को पेंशन के लिए आधार ज़रूरी नहीं है. स्वैच्छिक एजेंसियों की स्थायी समिति की 30वीं बैठक में उन्होंने कहा कि आधार एक अतिरिक्त सुविधा है.

उन्होंने कहा कि इसके ज़रिए जीवन प्रमाण पत्र जमा करने के लिए टेक्नोलॉज़ी का उपयोग किया जा सकता है और इसके लिए बैंकों में जाने की ज़रूरत नहीं है. केंद्र सरकार के 61 लाख से अधिक पेंशनभोगी कर्मचारी हैं.

उन्होंने स्पष्ट किया कि सरकारी कर्मचारियों को पेंशन पाने के लिए आधार को जरूरी नहीं किया गया है. इसके साथ ही सरकार ने न्यूनतम पेंशन को बढ़ाकर 9,000 रुपये कर दिया है.

कठुआ केस के लिए चंदा

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक जम्मू के कठुआ गैंग रेप मामले में एक हिंदूवादी संगठन हिंदू एकता मंच इस मामले की कोर्ट में पैरवी करने के लिए लोगों से चंदा मांग रहा है. जनवरी में एक आठ साल की बच्ची के साथ गैंग रेप और फिर हत्या के मामले में अभियुक्त सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं.

एकता मंच का कहना है कि वो सीबीआई मांग को लेकर कोर्ट में याचिका दाखिल करेंगे और इसीलिए उन्होंने जनता से चंदा देने की अपील की है.

पश्चिम बंगाल में पुनर्मतदान

इमेज कॉपीरइट Sanjay Das-BBC

फाइनेंशियल एक्सप्रेस के मुताबिक पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के सिलसिले में राज्य चुनाव आयोग ने मंगलवार को कहा कि राज्य में 568 बूथों पर पुनर्मतदान होगा. आयोग ने प्रशासन को पुनर्मतदान वाले इलाकों में सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था रखने का निर्देश दिया है.

जिन बूथों पर पुनर्मतदान कराए जायेंगे वहां के इलाकों में माइक द्वारा घोषणा करने का निर्देश बीडीओ और एसडीओ को राज्य चुनाव आयोग की ओर से दिया गया है. जानकारी के अनुसार सोमवार को हुए मतदान को लेकर राज्य चुनाव आयोग के समक्ष करीब एक हजार शिकायतें मिलीं. उन शिकायतों की जांच के आधार पर राज्य चुनाव आयोग ने कुल सीटों के करीब दो प्रतिशत सीटों पर पुनर्मतदान का फ़ैसला लिया है.

पश्चिम बंगाल: चुनावी हिंसा में सात की मौत, कई घायल

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)