प्रेस रिव्यू: येदियुरप्पा ने पहले ही दिन कर्ज़ माफ़ किए, अफ़सर बोले- थोड़ा इंतज़ार कीजिए

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक़ बीएस येदियुरप्पा ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद पहले ही दिन वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की. इसका मकसद चुनाव पूर्व किसानों से किया गया उनका वादा था. इसके तहत सभी बैंकों से लिए गए उनके एक लाख रुपए तक के कर्ज़ माफ़ किए जाने थे.

येदियुरप्पा को शपथ दिलाए जाने के ख़िलाफ़ कांग्रेस और जनता दल (सेक्युलर) ने आधी रात को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. अदालत ने एतिहासिक सुनवाई करते हुए शपथ ग्रहण पर रोक लगाने से तो इनकार कर दिया था, लेकिन कहा था कि इस मामले की सुनवाई शुक्रवार को साढ़े 10 बजे होगी.

अख़बार ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि वरिष्ठ नौकरशाहों ने येदियुरप्पा से कहा कि कर्ज़ माफ़ी के इस तरह के फ़ैसलों को लागू करने के लिए वित्तीय ब्यौरे की ज़रूरत होती है और इसमें वक्त लगता है.

कर्नाटक के सियासी महासमर में अब आगे क्या होगा

कांग्रेस-राजद ने मांगा मौका

इमेज कॉपीरइट Getty Images

दैनिक भास्कर के मुताबिक़ सबसे बड़े दल को सरकार बनाने का मौका देने के फॉर्मूले पर 4 राज्यों में नई राजनीति शुरू हो गई है.

कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल ने बिहार, गोवा, मणिपुर और मेघालय में सबसे बड़ी पार्टी होने का दावा पेश करते हुए राज्यपाल से सरकार बनाने का मौका देने की मांग की है.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि देश में एक नियम-क़ानून लागू होता है, इसलिए इन चारों राज्यों के मुख्यमंत्रियों को इस्तीफ़ा देना चाहिए. सुरजेवाला ने कहा कि इन राज्यों में राज्यपाल से मिलकर कांग्रेस सरकार बनाने का दावा पेश करेगी.

टीएमसी की शानदार जीत

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पश्चिम बंगाल में हिंसा से भरपूर पंचायत चुनावों में तृणमूल कांग्रेस को सबसे अधिक सीटें मिली हैं और वो प्रतिद्वंद्वी पार्टियों से बहुत आगे है. राज्य में 31,812 ग्राम पंचायतों में हुए चुनावों में टीएमसी को 20,441 सीटें मिली हैं. भारतीय जनता पार्टी को 5,565 सीटें हासिल हुई हैं.

निर्दलीयों को 1,741 सीटें हासिल हुई हैं, जबकि मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी निर्दलियों से भी पीछे रही और उसे 1,415 सीटें मिली हैं. मतगणना देर रात भी जारी थी.

केजरीवाल से आज होगी पूछताछ

इमेज कॉपीरइट Getty Images

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से शुक्रवार शाम 5 बजे उनके कैंप कार्यालय में पूछताछ होगी. केजरीवाल ने सुबह 11 बजे उपलब्ध रहने में असमर्थता जताई थी. पुलिस ने उनके इस आग्रह को मान लिया है.

केजरीवाल ने पूछताछ की ऑडियो-वीडियो रिकॉर्डिंग कराने की बात कही थी, लेकिन पुलिस ने किसी भी प्रकार की ऑडियो-वीडियो रिकॉर्डिंग करने से इनकार कर दिया.

माफ़ियों से केजरी की साख दांव पर, 'आप' का क्या?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)