प्रेस रिव्यूः कर्नाटक में कांग्रेस ने मांगे दो डिप्टी सीएम पद

  • 22 मई 2018
राहुल गांधी कुमारस्वामी इमेज कॉपीरइट TWITTER/CONGRESS

कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल सेक्यूलर (जेडीएस) की गठबंधन सरकार बनने के लिए बैठकों का दौर शुरू हो गया है. ऐसी खबरें हैं कि कांग्रेस ने सरकार में अपने लिए दो डिप्टी सीएम के पद मांगे हैं.

दैनिक जागरण में प्रकाशित खबर के मुताबिक जेडीएस नेता और कर्नाटक के भावी मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सोमवार को दिल्ली पहुंचकर यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की. यह मुलाकात करीब 20 मिनट तक चली.

इस दौरान कांग्रेस की ओर से सरकार में अपने लिए डिप्टी सीएम के दो पद मांगे गए, लेकिन जेडीएस की ओर से अभी इसे लेकर कोई सहमति नहीं दी गई है.

अखबार लिखता है कि इस बैठक में मंत्री पदों और विभागों के बंटवारें को लेकर चर्चा हुई है.

कुमारस्वामी के शपथ में दिखेगी विपक्ष की ताकत

कर्नाटक में कांग्रेस जेडीएस गठबंधन सरकार के नामित मुख्यमंत्री कुमारस्वामी बुधवार को शपथ लेगें. इस दौरान देश के प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं के भी शपथ समारोह में शामिल होंगे.

डैकन क्रॉनिकल की खबर के अनुसार इस शपथ समारोह के ज़रिए आगामी लोकसभा चुनावों से पहले विपक्ष एकजुट होकर अपनी ताकत दिखाने की कोशिश करेगा.

बताया गया है कि इस कार्यक्रम में देश भर के पांच मुख्यमंत्री हिस्सा लेने पहुंचेगे. जिसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी, केरल के सीएम पिनाराई विजयन, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव शामिल रहेंगे.

इनके अलावा अभिनेता से नेता बने कमल हासन, यूपी के दो पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और मायावती सहित डीएमके प्रमुख एम के स्टालिन भी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे.

इमेज कॉपीरइट TWITTER/CONGRESS

मायावती के बंगले का नाम बदला

उत्तर प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकारी बंगले खाली करने संबंधी नोटिस जारी होने के बाद बसपा प्रमुख मायावती के बंगले का नाम बदल दिया गया है.

इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित खबर में बताया गया है कि मायावति के 13ए, मॉल एवेन्यू बंगले के बाहर नेम प्लेट पर लिखा गया है 'श्री कांशीराम जी यादगार विश्राम स्थल'.

सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों से 15 दिनों के भीतर सरकारी बंगले खाली करने को कहा गया है.

अखबार लिखता है कि इस संबंध में जब बसपा नेताओं से संपर्क किया गया तो एक वरिष्ठ बसपा नेता ने कहा कि इस बंगले में कांशीराम से जुड़ी कई महत्वपूर्ण यादें हैं और इसके परिसर में उनकी मूर्ती भी है.

वहीं उत्तर प्रदेश के संपदा अधिकारी योगेश कुमार शुक्ल ने कहा है कि बंगले का नाम बदल देने से वे उस बगंले पर अपना हक नहीं जता सकते और ना ही वे उसे किसी गेस्ट हाउस या संग्राहलय में बदल सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आधी रात को कोर्ट खुलवाने के लिए दीपक मिश्रा ने दी थी इजाज़त

सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा और कांग्रेस के बीच टकराव की स्थिति अक्सर देखने को मिलती है, यहां तक कि कांग्रेस दीपक मिश्री के खिलाफ महाभियोग तक लाने की तैयारी कर चुकी थी.

लेकिन टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के अनुसार कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए बीजेपी और कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के बीच चली उठापटक के दौरान जब बीजेपी को सरकार बनाने का मौका मिला और कांग्रेस इस मुद्दे को सुप्रीम कोर्ट तक ले गई उस समय दीपक मिश्रा ने ही आधी रात में कोर्ट खुलवाने के आदेश दिए थे.

अखबार लिखता है कि सुप्रीम कोर्ट की रजिस्ट्री से यह साफ होता है कि कांग्रेस की अपील चीफ जस्टिस को आधी रात में 12 बजकर 10 मिनट में प्राप्त हुई. उन्होंने इस पर तुरंत कार्यवाही करते हुए तीन जजों की बेंच का गठन किया जिसके बाद रात 2 बजे कोर्ट में इस मसले पर सुनवाई पूरी हुई.

इमेज कॉपीरइट NALSA.GOV.IN
Image caption दीपक मिश्रा

नकल रोकने के लिए शौचालय में लगे सीसीटीवी

अलीगढ़ के कॉलेज में परीक्षा के दौरान नकल रोकने के मकसद से पुरुष शौचालय में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं.

द टेलीग्राफ अखबार में प्रकाशित खबर में बताया गया है कि कॉलेज के छात्रों ने इस कदम का विरोध किया है और उनका कहना है ये उनकी निजता के हनन का मामला है.

धर्म समाज डिग्री कॉलेज में यह वाकया हुआ है. कैमरे हटवाने की मांग पर छात्रों ने विरोध प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया लेकिन कॉलेज के प्रिंसिपल ने कैमरे हटाने से इंकार कर दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए