कुमारस्वामी ने कहा, "हां, ख़तरा ज़रूर है''

  • 25 मई 2018
कुमारस्वामी इमेज कॉपीरइट Getty Images

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने बीजेपी पर जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन सरकार को अस्थिर करने की कोशिश करने को लेकर निशाना साधा है. हालांकि, उन्होंने कहा है कि वह शुक्रवार को होने वाले विश्वास मत को जीतेंगे.

कर्नाटक विधानसभा में आज पेश होने वाले विश्वास प्रस्ताव पर बीबीसी हिंदी से बात करते हुए कुमारस्वामी ने कहा, "हां, ख़तरा ज़रूर है. हमारे बीजेपी के दोस्त विश्वास मत में हराने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन वे सफल नहीं होंगे. मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि वे यह क्यों नहीं समझ पा रहे हैं कि हर दिन एक सा नहीं होता है."

उन्होंने आगे कहा, "वे अनावश्यक रूप से हमारी सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर रहे हैं. मैं पूरे आत्मविश्वास के साथ आप से यह कह सकता हूं कि हम पूरे पांच साल सरकार चलाएंगे. मैं जानता हूं कि कैसे एक स्थिर सरकार देनी है."

कुमारस्वामी दोपहर को विश्वास प्रस्ताव पेश करेंगे लेकिन उससे पहले प्रोटेम स्पीकर के.जी. बोपय्या स्पीकर का चुनाव कराएंगे. विधानसभा सत्र दोपहर 12.15 बजे से शुरू होगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption येदियुरप्पा ने विश्वास प्रस्ताव पेश करने से पहले ही दे दिया था इस्तीफ़ा

बीजेपी ने चला अंतिम दांव

इस पूरे विश्वास प्रस्ताव को बीजेपी के एक क़दम ने बेहद रोमांचक बना दिया है. बीजेपी ने पूर्व क़ानून मंत्री सुरेश कुमार को स्पीकर पद के लिए खड़ा किया है. वहीं, जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन ने पूर्व स्पीकर और स्वास्थ्य मंत्री रमेश कुमार को स्पीकर पद का उम्मीदवार बनाया है.

विधानसभा के पहले एजेंडे में सुरेश कुमार के स्पीकर चुनाव का प्रस्ताव होगा. अगर वह हारते हैं तो सदन रमेश कुमार को स्पीकर बनाने के प्रस्ताव को चुनेगा.

जब स्पीकर का चुनाव संपन्न हो जाएगा तब जेडीए-कांग्रेस गठबंधन सरकार के भाग्य का फ़ैसला होगा. मुख्यमंत्री कुमारस्वामी विश्वास प्रस्ताव पेश करेंगे. वर्तमान में उनके मंत्रिमंडल में केवल वह और उप-मुख्यमंत्री डॉक्टर जी. परमेश्वरा शामिल हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

17 मई को बीजेपी सरकार के बी.एस. येदियुरप्पा ने सदन में विश्वास प्रस्ताव पेश करने से पहले अपने इस्तीफ़े की घोषणा कर दी थी. उनकी पार्टी के पास केवल 104 विधायक थे.

224 सीट वाली विधानसभा में बहुमत के लिए 113 सदस्यों का समर्थन ज़रूरी है. हालांकि, विधानसभा की दो सीटों के लिए अभी चुनाव होने हैं. जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन ने अपने पास 118 सदस्यों के समर्थन का दावा किया है.

इसमें 37 जेडीएस, 78 कांग्रेस और दो निर्दलीय सदस्य शामिल हैं.

ये भी पढ़ें:

कुमारस्वामी की ताजपोशी या विपक्ष का शक्ति प्रदर्शन

राहुल गांधी ने जो कर्नाटक में किया वो 2019 में करेंगे?

कर्नाटक में गठबंधन सरकार के बाद की कथा, जो बाक़ी है

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए