प्रेस रिव्यू: कैराना उपचुनाव में बीजेपी सांसद पर मुक़दमा दर्ज

  • 27 मई 2018
कैराना उपचुनाव इमेज कॉपीरइट ARINDAM DEY/AFP/Getty Images

उत्तर प्रदेश की सहारनपुर पुलिस ने चुनाव आयोग के आदेश पर भारतीय जनता पार्टी की सांसद कांता करदम पर आचार संहिता के उल्लंघन का मुक़दमा दर्ज किया है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक सांसद पर ये मुक़दमा मंगलवार को कैराना लोकसभा क्षेत्र में दिए एक भाषण की वजह से दर्ज किया गया है.

उन पर एक धार्मिक समूह की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप लगाए गए हैं.

वहीं करदम का कहना है कि उन्हें मीडिया से ही एफ़आईआर के बारे में पता चला है. उनका कहना है कि उन्होंने अपने भाषण में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं कहा था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

बागपत में किसान की मौत

उत्तर प्रदेश के बाग़पत ज़िले में हड़ताल कर रहे एक किसान की मौत के बाद लोग ग़ुस्से में हैं.

अंग्रेज़ी अख़बार 'द इंडियन एक्सप्रेस' की एक रिपोर्ट के मुताबिक 58 वर्षीय किसान उदयवीर सिंह गन्ने के भुगतान की मांग को लेकर 21 मई से आंदोलन कर रहे किसानों में शामिल थे.

सिंह की मौत की ख़बर फैलने के बाद किसानों में गुस्सा भड़क गया और भारी तादाद में किसान धरनास्थल पर पहुंच गए.

समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय लोकदल और कांग्रेस के नेता भी प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे. उदयवीर सिंह और करीब 50 किसान बाग़पत की बड़ौत तहसील पर प्रदर्शन कर रहे थे.

शुरुआत में प्रशासन ने कहा कि सिंह की मौत की वजह दिल का दौरा पड़ने से हुई लेकिन बाद में उनके परिवार की ओर से अप्राकृतिक मौत का मुक़दमा दर्ज करवाया गया है.

किसानों का आरोप है कि एक ओर उन्हें अपने गन्ने का भुगतान नहीं मिल रहा है और दूसरी ओर बिजली के बिल लगातार बढ़ रहे हैं.

किसानों का कहना है कि बिजली के बिल बढ़ने और भुगतान न होने से उनकी आर्थिक हालत दिन ब दिन ख़राब होती जा रही है और सरकार को इसकी परवाह नहीं है.

सरकार ने बीते पांच महीनों में दो बार बिजली के बिल बढ़ाए हैं जिससे किसानों को काफ़ी दिक्क़त हो रही है.

प्रशासन ने शुरुआत में उदयवीर के परिवार के लिए पांच लाख रुपए के मुआवज़े का ऐलान किया था, लेकिन बाद में लोगों के ग़ुस्से को देखते हुए इसे बढ़ाकर 12 लाख रुपए कर दिया गया.

Image caption गोवा के समुद्री तट अपनी ख़ूबसूरती के लिए प्रसिद्ध हैं

गोवा बीच पर रेप का वीडियो

'द टाइम्स ऑफ़ इंडिया' की एक रिपोर्ट के मुताबिक गोवा पुलिस ने दक्षिण गोवा के एक बीच पर एक बीस वर्षीय युवती के साथ कथित गैंगरेप का वीडियो सामने आने के बाद मध्य प्रदेश के इंदौर के तीन लोगों को गिरफ़्तार किया है.

पुलिस के मुताबिक अभियुक्तों ने पहले युवती का गैंगरेप किया और फिर उसके बॉयफ्रेंड को उसके साथ रेप करने के लिए कथित तौर पर मजबूर किया.

उन्होंने प्रेमी जोड़े का वीडियो बना लिया और फिर उन्हें एक लाख रुपये न देने की स्थिति में वीडियो इंटरनेट पर वायरल करने की धमकी दी. ये घटना गुरुवार की है.

पुलिस के मुताबिक तीनों अभियुक्तों का आपराधिक रिकॉर्ड है और वो गोवा बीच के पास एकांत इलाक़ों से परिचित थे और यहां किसी प्रेमी जोड़े की तलाश में थे.

इमेज कॉपीरइट PTI

गठबंधन में पर्याप्त सीटें नहीं मिलीं तो अकेले लड़ेंगी मायावती

'द टाइम्स ऑफ़ इंडिया' की एक रिपोर्ट के मुताबिक बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा है कि यदि उनकी पार्टी को प्रस्तावित गठबंधन में पर्याप्त सीटें नहीं मिलीं तो वह अकेले चुनाव भी लड़ सकती हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक मायावती ने कहा है कि यदि उनकी पार्टी को काम भर सीटें नहीं दी गईं तो वो लोकसभा चुनावों में अकेले भी लड़ सकती हैं.

पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि उनकी पार्टी की यूपी और अन्य प्रदेशों में गठबंधन करने की बातचीत चल रही है, लेकिन कार्यकर्ताओं को किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए.

मायावती ने कहा कि गठबंधन की बातें चल रही हैं, लेकिन कार्यकर्ताओं को हर हालत में पार्टी का झंडा ऊंचा रखने के लिए तैयार रहना चाहिए.

उन्होंने ये भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी को राष्ट्रहित में सत्ता से बाहर करने का समय आ गया है.

उत्तर प्रदेश में चिर प्रतिद्वंद्वी रही समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने बीजेपी के ख़िलाफ गठबंधन करने का फ़ैसला किया है.

हालांकि अभी इस गठबंधन को अंतिम रूप नहीं दिया गया है.

उत्तर प्रदेश में गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों के लिए हुए उप चुनाव में दोनों पार्टियां मिलकर लड़ीं थीं और दोनों सीटों पर जीत हासिल की थी.

कैराना में सोमवार को होने वाले उप-चुनाव में भी सपा-बसपा ने राष्ट्रीय लोकदल की उम्मीदवार को समर्थन दिया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption बीजेपी विधायकों से फिरौती क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन में मांगी गई है

विधायकों को धमकाने वाले के खाते में पहुंचे आठ लाख

उत्तर प्रदेश के विधायकों को धमकाने वाले के खाते में 1.60368338 बिटकॉइन भेजा गया, जिसका मूल्य 8.19 लाख रुपये है.

इन पैसों को बाद में किसी और अकाउंट में भेज दिया गया.

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश पुलिस और केंद्रीय जांच एजेंसियों को धमकाने वाले के खाते में इस लेन-देन होने का पता चला है.

उत्तर प्रदेश में एक दर्जन से अधिक बीजेपी विधायकों को धमकी भरे संदेश भेजकर एक क्रिप्टोकरेंसी खाते में फिरौती मांगी गई है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन धमकियों का संज्ञान लिया है और पुलिस को कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.

यूपी पुलिस की आतंकवाद निरोधी शाखा-एटीएस, विशेष जांच दल के अलावा केंद्रीय खुफ़िया एजेंसियां भी जांच में मदद कर रही हैं.

अख़बार के मुताबिक मामले की जांच से जुड़े एक व्यक्ति के मुताबिक जिस खाते में फिरौती मांगी गई है उसमें 8.19 रुपये का लेनदेन होने का पता चला है.

जांच में पता चला है कि क्रिप्टो करेंसी खाते में दो से 18 मई के बीच 6 बार बिटकॉइन का लेनदेन हुआ है. हालांकि ये पता नहीं चला है कि ये पैसे किसने भेजे हैं.

फिरौती मांगने वाले ने स्वयं को अली भाई बुदेश बताया है जो कथित रूप से बहरीन में रहने वाले एक कुख्यात भारतीय गैंगस्टर हैं.

वहीं शुरुआती जांच में इस पूरे प्रकरण के पीछे किसी पेशेवर हैकर या हैकर समूह के होने के संकेत मिल रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए