आज की पाँच बड़ी ख़बरें: क्या नीतीश पकड़ेंगे अलग राह?

मोदी और नीतीश कुमार

इमेज स्रोत, PIB

नीतीश कुमार एनडीए के साथ रहेंगे या फिर कोई दूसरी राह चुनेंगे, इसे लेकर तस्वीर साफ़ होने की उम्मीद है.

जनता दल (यूनाइटेड) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक नई दिल्ली में होने जा रही है. इसमें पार्टी 2019 के आम चुनाव को लेकर अपनी रणनीति पर फैसला ले सकती है.

इस बेहद अहम बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी शामिल हो रहे हैं. उनकी पार्टी 2019 के आम चुनाव के दौरान बिहार में बड़े साझेदार के तौर पर ज़्यादा से ज़्यादा सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है.

हालांकि भारतीय जनता पार्टी और उनके रामविलास पासवान और उपेंद्र कुशवाहा जैसे सहयोगियों को देखते हुए सीटों के मुद्दे पर घमासान बढ़ सकता है.

आधिकारिक तौर पर बीजेपी की ओर से कुछ नहीं कहा गया है कि लेकिन माना जा रहा है कि बीजेपी नीतीश कुमार को बड़े साझेदार के तौर पर पेश नहीं करेगी.

इमेज स्रोत, Getty Images

कश्मीर में चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था

भारत प्रशासित कश्मीर में चरमपंथी नेता बुरहान वानी की मौत की दूसरी बरसी पर सुरक्षा के कड़े इंतेज़ाम किए गए हैं.

बुरहान वानी 8 जुलाई 2016 को सुरक्षाबलों के हाथों एनकाउंटर में मारे गए थे.

उनकी मौत के बाद कश्मीर घाटी में व्यापक प्रदर्शन हुए थे और सुरक्षाबलों को चरमपंथियों के ख़िलाफ़ कड़े अभियान चलाने पड़े हैं.

स्थानीय लोगों के प्रदर्शन को रोकने के लिए प्रदेश में रेल सेवाएं और इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं.

बुरहान वानी के गृह नगर त्राल को पूरी तरह सील कर दिया गया है. त्राल में मार्च का आह्वान करने वाले अलगाववादी नेताओं को नज़रबंद कर दिया गया है.

इमेज स्रोत, Reuters

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति की भारत यात्रा

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन आज अपने पहले भारत दौरे पर आ रहे हैं. वे 11 जुलाई तक यहाँ रहेंगे.

यात्रा के दौरान मून जे-इन के साथ उनकी पत्नी किम जोंग सुक के अलावा उनके मंत्रिमंडल के वरिष्ठ सहयोगी, अधिकारी और उद्योग जगत की कई जानी-मानी हस्तियाँ भी मौजूद रहेंगी.

तकनीकी क्षमता के लिए विश्व में अपनी अलग पहचान बनाने वाला कोरियाई प्रायद्वीप का ये देश कई मायनों में भारत के लिए महत्व रखता है.

ट्रेड वॉर की बढ़ती आहट के बीच आर्थिक महत्व के साथ-साथ रणनीतिक तौर पर भी मून जे-इन की यात्रा को उम्मीद के साथ देखा जा रहा है.

इमेज स्रोत, FACEBOOK/EKATOL

थाईलैंड में बच्चों को बचाने का संघर्ष

क़रीब दो हफ्ते से थाईलैंड की एक गुफा में फंसे 12 बच्चों और उनके कोच को बचाने की कोशिशें तेज़ की गई हैं.

राहत और बचाव दल के प्रमुख के मुताबिक़, अगले तीन से चार दिनों के बीच इन लोगों को गुफ़ा से निकाल लिया जाएगा.

राहत और बचाव कार्य में बारिश के चलते मुश्किलें आ रही थी लेकिन अब हालात बेहतर बताए जा रहे हैं.

ये सभी बच्चे और उनके कोच 23 जून की शाम फ़ुटबॉल का अभ्यास करने के बाद इस गुफा को देखने गये थे. लेकिन बाढ़ के पानी के कारण सभी गुफा के अंदर फंस गये.

नौ दिन बाद बचावकर्ताओं के एक दल ने इन बच्चों को खोज निकाला था.

बचाव दल के अनुसार गुफा में फंसे बच्चों और उनके कोच ने गुफा के भीतर कोई ऐसी जगह तलाश ली थी जिससे वे बाढ़ के पानी की चपेट में आने से बच गए.

इमेज स्रोत, Reuters

फ़ीफ़ा विश्व कप के सेमीफ़ाइनल मुक़ाबले

फ़ीफा विश्व कप का पहला सेमीफ़ाइनल मुक़ाबला फ़्रांस और बेल्जियम के बीच 10 जुलाई को खेला जायेगा.

वहीं 11 जुलाई को दूसरे सेमीफ़ाइनल मुक़ाबले में क्रोएशिया और इंग्लैंड आमने सामने होंगे.

शनिवार रात को हुए पहले क्वार्टर फ़ाइनल मुक़ाबले में इंग्लैंड टीम ने स्वीडन को 2-0 से हरा दिया.

वहीं मेज़बान रूस और क्रोएशिया के बीच टक्कर का मुक़ाबला हुआ. दोनों टीमों ने 2-2 गोल किए और खेल का नतीजा पेनल्टी शूट आउट से तय हुआ जिसमें क्रोएशिया ने रूस को 4-3 से हरा दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)