आज की पाँच बड़ी ख़बरें: '2019 में लीड रोल में होंगी ममता'

ममता बनर्जी

इमेज स्रोत, AFP

तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने ये दावा किया है कि 2019 के आम चुनाव में ममता बनर्जी मुख्य रोल में दिखेंगी.

बुधवार को कुछ ख़बरें आई थीं जिनमें पार्टी के सूत्रों के हवाले से कहा गया था कि कांग्रेस किसी महिला नेता को पीएम पद का उम्मीदवार बनाने से परहेज़ नहीं करेगी.

इसके बाद टीएमसी नेताओं के हौसले काफ़ी बढ़े हुए दिखे.

पार्टी के सांसद डेरेक ओ ब्रायन का कहना है कि ममता बनर्जी के पास 40 साल का राजनैतिक अनुभव है और उनके पास विधानसभा और संसद, दोनों का अनुभव है. इसी वजह से वो एक मज़बूत दावेदार हैं.

इमेज स्रोत, Getty Images

अंबानी ने लिखी राहुल गांधी को चिट्ठी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उद्योगपति अनिल अंबानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को रफ़ाल सौदे पर पत्र लिखा था.

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि इस पत्र में अनिल अंबानी ने राहुल गांधी को ये स्पष्ट किया कि उनके रिलायंस समूह को अरबों डॉलर का यह सौदा क्यों मिला है.

अनिल अंबानी ने उन आरोपों को ख़ारिज किया है कि उनके रिलायंस समूह के पास रफ़ाल लड़ाकू जेट सौदे के लिए अनुभव की कमी है.

साथ ही उन्होंने कहा है कि कंपनी को रफ़ाल का कॉन्ट्रैक्ट मिलने में मोदी सरकार की कोई भूमिका नहीं है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान रफ़ाल विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा था.

राहुल गांधी ने आरोप लगाया था कि इस सौदे के माध्यम से देश के एक नामी उद्योगपति को चार अरब डॉलर का 'इनाम' दिया गया है.

इमेज स्रोत, AFP

माल्या को एक और झटका

शराब कारोबारी विजय माल्या को ब्रिटेन की कोर्ट से एक और झटका लगा है.

ब्रिटेन के अपीलीय न्यायालय ने हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ विजय माल्या को अपील करने की इजाज़त देने से इनकार कर दिया है.

ब्रिटिश हाईकोर्ट ने 13 भारतीय बैंकों के पक्ष में माल्या से करीब 1.145 अरब पाउंड की रकम वसूलने का फैसला दिया था.

जज एंड्र्यू हेनशॉ ने विजय माल्या की संपत्तियां जब्त करने पर रोक लगाने से भी मना कर दिया.

हाईकोर्ट ने कहा था कि ब्रिटिश अधिकारी उनके खिलाफ कार्रवाई के दौरान जरूरत पड़ने पर पुलिस की मदद भी ले सकते हैं.

इमेज स्रोत, PMO INDIA

10वां ब्रिक्स सम्मेलन

दक्षिण अफ्रीका के जोहानसबर्ग शहर में 10वां ब्रिक्स सम्मेलन शुरू हो गया है.

सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दक्षिण अफ्रीका पहुंच चुके हैं.

ये सत्र ब्रिक्स की अफ़्रीका में पहुंच बढ़ाने के लिए रखा गया है और इसमें ब्रिक्स देशों (ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ़्रीका) के नेता नौ अफ़्रीकी देशें अंगोला, इथियोपिया, गबोन, नामीबिया, रवांडा, सेनेगल, टोगो, युगांडा और ज़ांबिया के नेताओं से वार्ता करेंगे.

ब्रिक्स समूह दुनिया की बड़ी आबादी और अर्थव्यवस्था का नेतृत्व करता है.

प्रधानमंत्री मोदी के पास भारत की अफ़्रीकी विदेश नीति को पारंपरिक पूर्वी तट से आगे ले जाने का ये बेहतरीन मौका होगा.

शिखर सम्मेलन का मुख्य विषय अफ्रीका महाद्वीप पर केंद्रित है और इसकी थीम 'ब्रिक्स इन अफ्रीका' यानी 'अफ्रीका में ब्रिक्स' है.

इमेज स्रोत, NIRAJ SINHA

ओडिशा: बाढ़ के कारण 20 लोगों की मौत

सरकारी अधिकारियों के अनुसार, ओडिशा में बाढ़ की वजह से अब तक 20 लोगों की मौत हो चुकी है.

इन दिनों बाढ़ से ओडिशा के कम से कम 20 ज़िलों के तीन लाख से ज़्यादा लोग प्रभावित हैं.

स्थानीय प्रशासन ने एक अनुमान के तहत ये बताया है कि बाढ़ के कारण आठ हज़ार से ज़्यादा घर क्षतिग्रस्त हो चुके हैं.

ओडिशा के कई ज़िलों में 15 जुलाई से ही भारी बारिश हो रही है.

हालांकि सरकारी अधिकारियों का ये दावा है कि बीते दो दिनों में स्थिति में सुधार हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)