आज की पाँच बड़ी ख़बरें: इमरान ख़ान का बढ़ाया दोस्ती का हाथ कबूल करें पीएम मोदी- महबूबा मुफ़्ती

  • 29 जुलाई 2018
Mehbooba इमेज कॉपीरइट Getty Images

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि वो कश्मीर में ख़ूनख़राबा रोकने के लिए पाकिस्तान तहरीके-इंसाफ (पीटीआई) के प्रमुख इमरान ख़ान की ओर से बढ़ाया गया दोस्ती का हाथ कबूल करें.

शनिवार को पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के 19वें स्थापना दिवस के अवसर पर महबूबा मुफ़्ती एक सार्वजनिक रैली में बोल रही थीं.

क्रिकेटर से नेता बने इमरान ने पाकिस्तान के आम चुनावों में अपनी पार्टी की जीत के बाद पहले सार्वजनिक संबोधन में कहा था कि वह भारत के साथ अपने रिश्ते सुधारने के लिए तैयार हैं.

उन्होंने कहा था कि उनकी सरकार चाहेगी कि दोनों पक्षों के नेता कश्मीर सहित सभी अहम मसले बातचीत के ज़रिए सुलझायें.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

14 अगस्त को पीएम पद की शपथ ले सकते हैं इमरान

पाकिस्तान तहरीके-इंसाफ़ (पीटीआई) के वरिष्ठ प्रवक्ता फ़ैसल जावेद ख़ान ने बताया है कि इमरान खान पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस यानी 14 अगस्त से पहले प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं.

पाकिस्तान की नेशनल असेंबली और चारों प्रांतीय असेंबलियों के लिए बुधवार को हुए चुनावों के अंतिम नतीजे चुनाव आयोग ने शनिवार शाम घोषित कर दिए.

इमरान ख़ान की पार्टी ने नेशनल असेंबली में 115 सीटें हासिल की हैं. चूंकि 270 सीटों पर चुनाव कराए गए थे, लिहाजा उन्हें बहुमत के लिए 20 और सीटों की दरकार है.

फैसल जावेद ख़ान ने भी बताया है कि मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) के साथ गठबंधन को लेकर बातचीत जारी है. एमक्यूएम को इस चुनाव में 6 सीटें मिली हैं.

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK

चिराग के बाद अठावले ने की सरकार से फ़ैसला बदलने की माँग

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के बेटे और सांसद चिराग पासवान के बाद केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने भी सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज ए के गोयल को लेकर सवाल उठाए हैं.

हाल ही में एससी-एसटी एक्ट पर फ़ैसला देने वाले सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज ए के गोयल को राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) का अध्यक्ष बनाया गया है.

भाजपा के कुछ सहयोगी नेता सरकार के इस फ़ैसले की आलोचना कर रहे हैं.

अठावले ने शनिवार को कहा, ''जस्टिस गोयल ने एससी-एसटी एक्ट पर ग़लत फ़ैसला दिया. मुझे लगता है कि उन्हें एनजीटी का अध्यक्ष नियुक्त नहीं किया जाना चाहिए था. मैं एनडीए का हिस्सा हूँ, लेकिन मैं उन्हें पद से हटाने की माँग करता हूँ. उन्होंने दलितों की भावनाओं को ठेस पहुँचाई है.''

सुप्रीम कोर्ट ने 20 मार्च को एससी-एसटी एक्ट में कुछ बदलाव के आदेश दिए थे जिसके ख़िलाफ़ भारत के दलित संगठनों ने देशव्यापी बंद भी आयोजित किया था.

दिल्ली में बाढ़ का ख़तरा

हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से यमुना में 1.87 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है.

इसके बाद दिल्ली में यमुना से सटे इलाक़ों में बाढ़ का ख़तरा बढ़ गया है. यमुना ख़तरे के निशान से ऊपर पहुँच चुकी है, इसकी घोषणा भी शनिवार को कर दी गई थी.

दिल्ली में 1 जून से 27 जुलाई के बीच इस मॉनसून सीज़न में सामान्य से 18 फ़ीसदी अधिक 11.58 इंच बारिश हो चुकी है.

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर, हरियाणा, चंडीगढ़ और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मॉनसून फ़िलहाल ज़ोरदार तरीक़े से सक्रिय है.

सरकारी अधिकारियों के अनुसार, भारत के 6 राज्यों में अब तक बारिश से 537 लोगों की मौत हो चुकी है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

फ़ीफ़ा की मेज़बानी के लिए धांधली करने का आरोप

क़तर पर साल 2022 में होने वाले फ़ुटबॉल विश्व कप की मेज़बानी हासिल करने के लिए ग़लत तरीक़े अपनाने का आरोप लगा है.

ब्रिटेन के एक अख़बार 'संडे टाइम्स' ने ये दावा किया है कि क़तर ने फ़ीफ़ा की मेज़बानी के लिए बोली लगाते समय कुछ ग़लत तरीक़े अपनाए.

अख़बार का दावा है कि उसने कुछ निजी कंपनियों और पूर्व सीआईए एजेंटों की मदद से अपने प्रमुख प्रतिद्वंद्वियों ऑस्ट्रेलिया और अमरीका को कमज़ोर दिखाने की कोशिश की थी.

क़तर को इस टूर्नामेंट की मेज़बानी के लिए चुना गया है. इन आरोपों पर फ़िलहाल क़तर ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

फ़ीफ़ा के नियमों के अनुसार, अगर क़तर ने बोली लगाते वक़्त ऐसा कुछ किया होगा तो उसे फ़ीफ़ा के नियमों का उल्लंघन माना जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)