वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा पर टैक्स का पैसा लगाने के आरोप

  • अभिजीत श्रीवास्तव
  • बीबीसी संवाददाता
वसुंधरा राजे, अमित शाह, गौरव यात्रा

इमेज स्रोत, DIPRRajasthan/BBC

शनिवार को राजस्थान के राजसमंद से शुरू हुई मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की 40 दिवसीय गौरव यात्रा को भाजपा जहां पार्टी का कार्यक्रम बता रही है वहीं कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि इसमें सरकारी मशीनरी को झोंक दिया गया है.

जयपुर में रथ पूजा समारोह के दौरान भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी ने मुख्यमंत्री की इस यात्रा को भाजपा के चुनावी अभियान की शुरुआत बताया है.

मगर कांग्रेस के राजस्थान यूनिट के अध्यक्ष सचिन पायलट इसे जनता के पैसों का दुरुपयोग बता रहे हैं.

उन्होंने ट्वीट किया, "हमें भाजपा के किसी अभियान से कोई परहेज़ नहीं है लेकिन इसमें पब्लिक के पैसे का इस्तेमाल क्यों किया जा रहा है? सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या यह गैरक़ानूनी है?"

पायटल ने साथ ही पीडब्ल्यूडी विभाग को मिले आदेश की एक कॉपी भी ट्वीट की. इसमें पीडब्ल्यूडी विभाग से टेंट, साउंड सिस्टम, मंच इत्यादि की व्यवस्था करने को कहा गया है.

इसके साथ ही पीडब्ल्यूडी को चार अधिकारियों की एक टीम बना कर सभी निर्देशों का हूबहू पालन किया जाना सुनिश्चित करने का आदेश भी दिया गया है.

राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग (डीआईपीआर) के अतिरिक्त मुख्य सचिव जे सी मोहंती ने 1 अगस्त को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कार्यक्रम की विस्तृत सूची सभी अतिरिक्त मुख्य सचिवों, प्रधान सचिवों, डिविजनल कमिश्नरों और अन्य अधिकारियों को भेजा.

इसमें कहा गया है कि मुख्यमंत्री 4 अगस्त से शुरू होने वाली राजस्थान गौरव यात्रा के संबंध में ज़िले में स्थित संबंधित विभागों के अधीनस्थ अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर सभी आवश्यक कार्यवाही और व्यवस्था सुनिश्चित कराएं. इसमें यह भी लिखा गया है कि इस बाबत सभी उच्चाधिकारियों को इसकी सूचना भिजवाएं.

फिर 2 अगस्त को राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग (डीआईपीआर) के कमिश्नर रवि जैन ने मुख्यमंत्री के गौरव यात्रा को लेकर जनसंपर्क अधिकारी से मीडिया प्रंबंधन को लेकर संयोजन करने का आदेश दिया जिसमें कहा गया कि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का व्यापक प्रचार सुनिश्चित करें.

सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने इस यात्रा को लेकर एक प्रेस नोट भी जारी किया. हालांकि बाद में इसे सूचना जनसंपर्क विभाग की वेबसाइट से हटा दिया गया.

इमेज स्रोत, @MPMadanLalSaini

इमेज कैप्शन,

राजस्थान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी

बीबीसी ने राजस्थान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी से बात की और उनसे पूछा कि इस गौरव यात्रा का मकसद क्या है. इसके जवाब में उन्होंने कहा, "बतौर राजनीतिक पार्टी जनता से हमारे संवाद बने रहने चाहिए. जनता के बीच हम जा रहे हैं. हमने काम किया है. क्षेत्र में हमारे कार्यकर्ताओं को भी उत्साह दिलाना होता है और यह चुनावी वर्ष भी है."

बीबीसी ने फिर उनसे पूछा कि कांग्रेस यह आरोप लगा रही है कि इसमें जनता का पैसा लगा है तो उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने तो काम ही नहीं किया. उन्होंने कहा, "मुख्यमंत्री के नाते कुछ व्यवस्थाएं होती हैं जो सरकार करती है. बाकी सारी व्यवस्थाएं हमारी ही पार्टी की हैं. गाड़ियां, पेट्रोल, डीजल सभी हमारी हैं. सरकारी एंबुलेंस तो मुख्यमंत्री के नाते साथ ही चलेंगी."

बीबीसी ने पूछा कि टेंट, बिजली, माइक की व्यवस्था सरकारी खर्चे पर की गई है तो उन्होंने कहा, "कुछ खर्च निश्चित रूप से मुख्यमंत्री के नाते सरकार करती है लेकिन बाकी सभी खर्च पार्टी की तरफ से किया जा रहा है."

इमेज स्रोत, Pratap Singh Khachariyawas @khachariyawasofficial

इमेज कैप्शन,

राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता प्रताप सिंह खाचरियावास

सैनी के बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता ने क्या कहा?

इस पर बीबीसी ने राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता प्रताप सिंह खाचरियावास ने बात की तो उन्होंने कहा कि मदन लाल सैनी झूठ बोल रहे हैं.

उन्होंने कहा, "मदन लाल सैनी झूठ बोल रहे हैं. हमने बीजेपी के सामने उस ऑर्डर के लिखित दस्तावेज़ पेश कर दिए हैं."

वो जोर देकर कहते हैं, "यह सरकारी यात्रा हो रही है जिसमें टेंट, माइक, बिजली, इत्यादि सभी तो सरकारी खर्च पर हो रहे हैं तो बाकी क्या रह गया? सरकार यह मान रही है कि उसने ऑर्डर दे दिए हैं. भाजपा यह माने कि इस यात्रा पर सरकार खर्च कर रही है. यह सरकारी यात्रा है, बीजेपी की यात्रा नहीं है."

इमेज स्रोत, @BJP4Rajasthan

गौरतलब है कि इस गौरव यात्रा से राजस्थान भाजपा अपने साढ़े चार साल में किए गए काम के रिपोर्ट कार्ड को जनता के सामने पेश करेगी. 4 अगस्त से शुरू हुई यह यात्रा 30 सितम्बर को पूरी होगी. इसमें 58 दिनों के दौरान वसुंधरा राजे 40 दिन यात्रा करेंगी.

ये भी पढ़ें-

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)