पांच बड़ी ख़बरें: ख़ालिस्तान समर्थकों को सुषमा ने क्या दिया जवाब

सुषमा स्वराज

इमेज स्रोत, @SushmaSwaraj

लंदन में ख़ालिस्तान समर्थकों की रैली से ठीक पहले भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने रविवार को दुनिया भर के सभी भारतीय दूतावासों में सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक की 500वीं जयंती मनाने की घोषणा की है.

विदेश मंत्रालय की इस घोषणा को ख़ालिस्तान समर्थकों की गोलबंदी से मुक़ाबला करने के तौर पर देखा जा रहा है. पिछले महीने भारत सरकार ने लंदन में ख़ालिस्तान रैली को लेकर आपत्ति दर्ज कराई थी.

हालांकि ब्रितानी सरकार ने कहा था कि लोगों को किसी मंच पर आकर अपनी बात कहने का अधिकार है. लंदन में इस तरह की रैली का आयोजन अमरीकी संगठन सिख फ़ॉर जस्टिस ने किया है. लंदन में इस रैली के आयोजन के लिए लंदन के मेयर ऑफ़िस ने अनुमति दे दी थी.

ऑडियो कैप्शन,

बीबीसी न्यूज़मेकर्स शशि थरूर से ख़ास बातचीत .

डोकलाम में सैनिकों की संख्या बढ़ाने की सिफ़ारिश

कांग्रेस सांसद शशि थरूर की अध्यक्षता में विदेशी मामलों पर बनी एक संसदीय समिति ने कहा है कि उत्तरी डोकलाम में सेना की संख्या बढ़ाई जानी चाहिए ताकि भारत के सामरिक हितों को चोट ना पहुंचे.

इस संसदीय पैनल का कहना है कि भूटान को सैनिकों की संख्या बढ़ाए जाने के लिए प्रोत्साहित करने ज़रूरत है. पैनल का कहना है कि उत्तरी डोकलाम और सिक्किम सेक्टर में चीनी सैनिकों की गतिविधि पर नज़र रखने के लिए यह ज़रूरी है.

पिछले साल चीन और भारत की सेना डोकलाम में 73 दिनों तक आमने-सामने रही थी. डोकलाम को लेकर भूटान और चीन में विवाद है और दोनों देशों के बीच इस बात पर सहमति थी कि वहां कोई निर्माण कार्य नहीं होगा.

केरल में बाढ़ का कहर

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने केरल में बाढ़ से निपटने के लिए तत्काल 100 करोड़ रुपए की मदद की घोषणा की है. केरल में बाढ़ की स्थिति काफ़ी गंभीर हो गई है.

राजनाथ सिंह ने रविवार को केरल की बाढ़ का जायज़ा हेलिकॉप्टर से लिया. उन्होंने कई बाढ़ प्रभावित इलाक़ों का दौरा किया. बंगाल की खाड़ी में एक बार फिर से लो प्रेशर बनने के कारण केरल में मूसलाधार बारिश शुरू हो गई है.

राज्य सरकार का कहना है कि बाढ़ से अब तक 38 लोगों की जान जा चुकी है. इसके साथ ही एक लाख लोगों को 1,026 राहत कैंपों में शिफ़्ट किया गया है.

इमेज स्रोत, Getty Images

सोमनाथ चटर्जी की हालत गंभीर

लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी को रविवार को दिल का दौरा पड़ा. उन्हें इस आघात के बाद कोलकाता के एक निजी अस्पताल में वेंटिलेशन पर रखा गया है.

सोमनाथ चटर्जी 89 साल के हैं. वो किडनी की समस्या से भी जूझ रहे हैं. अस्पताल का कहना है कि चटर्जी की हालत अभी स्थिर बनी हुई है. चटर्जी का हर दिन डायलिलिस भी हो रहा है क्योंकि उनकी किडनी ठीक से काम नहीं कर रही है.

चटर्जी को जून में स्ट्रोक आया था और वो एक महीने तक अस्पताल में भर्ती रहे थे.

इमेज स्रोत, Getty Images

गिरते लीरा को कैसे संभाले तुर्की

तुर्की के वित्तमंत्री और राष्ट्रपति एर्दोआन के दामाद बेरत अल्बायरक ने कहा है कि उन्होंने लीरा की गिरती क़ीमत और मौजूदा अर्थसंकट से निपटने के लिए एक ऐक्शन प्लान बनाया है.

हुर्रियत नाम के एक अख़बार को दिए एक इंटरव्यू में बेरत ने कहा कि नया प्लान लीरा की गिरती क़ीमत पर लगाम लगाएगा. साथ ही बैंकों और छोटे कारोबार के लिए भी मददगार होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)