अटल बिहारी वाजपेयी मेरे लिए पिता तुल्य थे: मोदी

  • 16 अगस्त 2018
अटल बिहारी वाजपेयी इमेज कॉपीरइट Reuters

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी है. उन्होंने कहा कि वाजपेयी का निधन राष्ट्र के लिए अपूरणीय क्षति है.

वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में निधन हो गया था. वाजपेयी 93 साल के थे.

नरेंद्र मोदी ने क्या कहा, पढ़िए

इमेज कॉपीरइट BJP-Twitter

अटल जी मां भारती के सच्चे सपूत थे, उनके निधन से एक युग का अंत हो गया है. उनका निधन संपूर्ण राष्ट्र के लिए अपूरणीय क्षति है. मेरे लिए तो अटल जी का जाना पिता तुल्य संरक्षक का साया सिर से उठने जैसा है. उन्होंने मुझे संगठन और शासन दोनों का महत्व समझाया. दोनों में काम करने की शक्ति और सहारा दिया.

वे जब भी मिलते थे पिता की तरह खुश होकर, आत्मीयता के साथ गले लगाते थे. मेरे लिए उनका जाना एक ऐसी कमी है, जो कभी भर नहीं पाएगी. अटलजी ने अपने कुशल नेतृत्व और अविरत संघर्ष के द्वारा जनसंघ से लेकर भाजपा तक इन संगठनों को मजबूती के साथ खड़ा किया. उन्होंने भाजपा के विचारों और नीतियों को देश में जन-जन तक पहुँचाने का कार्य किया. उन्हीं के दृढ़ निश्चय और कठिन परिश्रम का परिणाम है कि आज भाजपा की यात्रा यहाँ तक पहुँची है.

अटलजी भले ही हमें छोड़कर चिरनिद्रा में लीन हो गए हों, लेकिन उनकी वाणी, उनका जीवन, उनकी सादगी उनका दर्शन, हम समस्त भारतवासियों को प्रेरणा देता रहेगा. उनका ओजस्वी व्यक्तित्व हम देशवासियों का मार्गदर्शन करता रहेगा.

अपार शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदना परिवार और समस्त देशवासियों के साथ है. इस दुख की घड़ी में मैं अटलजी के चरणों में आदरपूर्वक अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ.

अटल बिहारी वाजपेयी: ओजस्वी वक्ता से सर्वमान्य राजनेता तक

अटल बिहारी वाजपेयीः तस्वीरों में सफ़र

वाजपेयी ने जब नेहरू की तस्वीर मंगवाई

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए