भारत माता की जय बोलनेवाले फ़ारूक़ की नमाज़ के बीच नारेबाजी

  • 22 अगस्त 2018
इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की प्रार्थना सभा में 'भारत माता की जय' कहा था

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फ़ारूक़ अब्दुल्लाह के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी कर उन्हें परेशान करने का मामला सामने आया है.

फ़ारूक़ अब्दुल्लाह श्रीनगर में 17वीं सदी में बनी हज़रतबल मस्जिद में ईद की नमाज़ के लिए गए थे.

ये घटना पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के लिए दो दिन पहले हुए प्रार्थना सभा में फ़ारूक़ अब्दुल्लाह के ''भारत माता की जय'' कहने के बाद हुई है.

हालांकि नारेबाज़ी के बाद भी नेशनल कॉन्फ़्रेंस नेता शांत बने रहे और अपनी नमाज़ अदा करते रहे. उन्होंने कहा कि उनका उपहास उड़ानेवाले और उन्हें ताना देनेवाले लोग दरअसल उनके ''अपने'' ही हैं जिन्हें उकसाया गया है.

नमाज़ के लिए जुटे लोगों में से कुछ लोगों ने ''फ़ारूक़ अब्दुल्लाह वापस जाओ'' और ''हम क्या चाहते आज़ादी'' जैसे नारे लगाए.

फ़ारूक़ अब्दुल्लाह: 'डिस्को मुख्यमंत्री' से लेकर भारत माता की जय तक

'मीडिया ने बेवजह तूल दिया'

फ़ारूक़ अब्दुल्लाह हज़रतबल मस्जिद में हमेशा से ईद की नमाज़ अदा करने जाते रहे हैं.

जब नारेबाज़ी कर रहे कुछ युवाओं ने ख़राब तबीयत की वजह से पहली पंक्ति में व्हील चेयर पर बैठे फ़ारूक़ अब्दुल्लाह के नज़दीक जाने की कोशिश की तो कुछ लोगों ने हाथ से हाथ मिलाकर मानव शृंखला बनाई ताकि अब्दुल्लाह को कोई नुक़सान न पहुंचे.

वहां मौजूद सुरक्षाबल के जवानों ने भी श्रीनगर से सांसद फ़ारूक़ अब्दुल्लाह को सुरक्षा देने के लिए एक घेरा बना दिया.

फ़ारूक़ अब्दुल्ला के घर मारा गया यह युवक कौन था?

सांसद अब्दुल्लाह ने बाद में अपने आवास पर समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा, ''मैंने वहां से हटा नहीं और अपनी नमाज़ पूरी की. वे लोग गुमराह हैं और उनके नेता के तौर पर मैं अपने कर्तव्यों से पलायन नहीं कर सकता. कुछ लोग नाराज़ थे इसका मतलब ये नहीं है कि मैं भाग जाता. मेरी ज़िम्मेदारी है कि मैं सबको एकजुट रखूं.''

अब्दुल्लाह ने हैरानी जताई कि इस मामले को मीडिया के एक वर्ग ने बेवजह ज़रूरत से ज़्यादा तूल क्यों दे दिया.

उन्होंने कहा,"एक राजनेता को कई बार लोगों की नाराज़गी का सामना करना पड़ता है. मैं यही उम्मीद करता हूं कि इन भटके हुए नौजवानों को सही राह दिखाई जाए."

20 अगस्त को दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के लिए आयोजित सर्वदलीय प्रार्थना सभा में फ़ारूक़ अब्दुल्लाह ने एक भावुक वक्तव्य दिया था और भारत माता का जयकार किया था.

फ़ारुक़ अब्दुल्ला से एक मुलाक़ात

''पहले मोदी सरकार लाल चौक पर तो तिरंगा फहराए'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए