रोहतक: बछड़े का शव मिलने के बाद गांव में तनाव

  • 23 अगस्त 2018
टिटौली गांव रोहतक, तनाव इमेज कॉपीरइट Sat Singh/BBC

हरियाणा के रोहतक ज़िले के एक गांव टिटौली में गाय के 18 महीने के एक बछड़े का शव मिलने के बाद तनाव की स्थिति है.

बुधवार दोपहर एक फ़ोन कॉल आने के बाद पुलिस मौक़े पर पहुंची और मामले की जांच शुरु कर दी गई है.

उप पुलिस अधीक्षक नारायण चंद ने बीबीसी को बताया कि पुलिस जब टिटौली गांव पहुंची, उस वक्त कुछ गांववाले मिलकर दो मुसलमान युवकों को पीट रहे थे. गांववालों का आरोप था कि इन दो युवकों ने ही गाय के बछड़े को मारा है.

टिटौली गांव में अधिकतर परिवार जाट समुदाय से हैं. यहां कई पीढ़ियों ने करीब 150 मुसलमान परिवार भी रहते हैं.

इमेज कॉपीरइट Sat Singh/BBC

पीटे गए युवक गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार दोनों युवकों यामीन और शौक़ीन को हिरासत में लिया गया है. उनके ख़िलाफ़ हरियाणा गौवंश संरक्षण और गौसंवर्धन कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है और पूछताछ जारी है.

बीबीसी की टीम अब तक इन दो युवकों के परिवारों से बात नहीं कर सकी है.

उप पुलिस अधीक्षक का कहना है "कुछ जाट युवकों ने यामीन के घर पर जा कर तोड़फोड़ भी की है. यामीन के परिवारवालों को वहां से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है."

वो बताते हैं कि साथ ही गुस्साई भीड़ ने मुसलमान समुदाय से जुड़ी एक इमारत की एक तरफ की दीवार तोड़ दी है.

इमेज कॉपीरइट Sat Singh/BBC
Image caption उप पुलिस अधीक्षक नारायण चंद

मस्जिदों के आसपास बढ़ाई गई सुरक्षा

पुलिस के अनुसार तनाव की स्थिति को देखते हुए गांव में पुलिस की तीन कंपनियां तैनात की गई हैं और शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए जिले में मस्जिदों के आसपास सुरक्षा बढ़ाई गई है.

पुलिस का दावा है कि स्थिति पर काबू पा लिया गया है.

यामीन और शौक़ीन को पीटने वालों और तोड़फोड़ करने वाले जाट युवकों के ख़िलाफ़ पुलिस क्या कदम उठा रही है, इस बारे में सवाल करने पर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उन्हें इस बाबत कोई शिकायत नहीं मिली है.

इमेज कॉपीरइट Sat Singh/BBC

'गांव खाली कराने के लिए दवाब'

टिटौली गांव के जाट समुदाय ने गांव में रहने वाले मुसलमान समुदाय को गांव छोड़ने की धमकी दी है.

गांव की सरपंच प्रमिला के देवर सुरेश कुंडू ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. सुरेश कुंडु गांव के सरपंच का कामकाज देखते हैं.

सुरेश कुंडू ने बीबीसी को बताया, "गाय मारने की घटना से गांव में रहने वालों की भावनाएं आहत हुई हैं. अगर वो लोग हमारे साथ गांव में रहना चाहते हैं तो हिंदुओं मान्यताओं का सम्मान करें या फिर वो गांव छोड़ दें."

इमेज कॉपीरइट Sat Singh/BBC

सुरेश कुंडू ने अपनी शिकायत में लिखा है कि ईद के अवसर पर बछड़े को मारा गया है.

कहना है कि मामला पर चर्चा करने के लिए पंचायत में बात की जाएगी.

उन्होंने कहा, "ये सब हम नहीं बर्दाश्त करना चाहते और इसीलिए इस मामले पर चर्चा करने के लिए गुरुवार को पंचायत की बैठक बुलाई गई है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे