आज की पांच बड़ी ख़बर: बीजेपी सांसदों ने की पुरुष आयोग बनाने की मांग

  • 3 सितंबर 2018
इमेज कॉपीरइट Facebook/Harinarayan Rajbhar

राष्ट्रीय महिला आयोग की तर्ज पर भारतीय जनता पार्टी के दो सांसदों ने पुरुष आयोग बनाए जाने की मांग की है.

उत्तर प्रदेश के घोसी से भाजपा सांसद हरिनारायण राजभर और हरदोई से भाजपा सांसद अंशुल वर्मा ने इसकी मांग की है.

इन दोनों सांसदों का कहना है कि यह आयोग उन पुरुषों की मदद के लिए बनाई जाए, जिनकी पत्नियां क़ानून का दुरुपयोग कर उन्हें परेशान करती हैं.

सांसदों ने कहा है कि वो इसकी मांग संसद में उठाएंगे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

अनुशासन की बात करने पर तानाशाह कहा जाता हैः मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू की किताब 'मूविंग ऑन, मूविंग फॉरवर्डः अ ईयर इन ऑफ़िस' के विमोचन कार्यक्रम में कहा कि आजकल अनुशासन का आग्रह करने पर कुछ लोग आपको तानाशाह और गैर-लोकतांत्रिक बता देते हैं.

कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी मौजूद थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनुशासन को व्यवस्था और व्यक्ति दोनों के लिए ज़रूरी बताया.

पुस्तक में नायडू ने अपने एक साल के कार्यकाल का लेखा-जोखा दिया है.

शरिया अदालतों के गठन को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती

सुप्रीम कोर्ट ने निकाह, तलाक और अन्य मामलों पर फ़ैसले के लिए गठित की जा रही शरिया अदालतों को असंवैधानिक घोषित करने की मांग करन वाली याचिका स्वीकार ली है.

चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति एएम खानविलकर और डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ एक मुस्लिम महिला की एक नई याचिका दायर करने की बात कही है.

पलास्टिक के बैग में 14 बच्चों के शव नहीं

इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

दक्षिण कोलकाता के हरिदेवपुर में रविवार को एक खाली प्लॉट में अलग-अलग प्लास्टिक के बैग में 14 नवजातों के शव मिलने की ख़बर के बाद सनसनी फैल गई.

सूचना के बाद वहां पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने भी यह बात दोहराई, पर जब उन पैकेटों को अस्पताल जांच के लिए भेजा गया तो डॉक्टरों ने किसी भी पैकेट में मानव अवशेष नहीं होने की बात कही.

पुलिस उपायुक्त निलांजन विश्वास ने बताया कि चिकित्सकों ने सभी पैकेटों की जांच की है लेकिन किसी में भी मानव अवशेष नहीं मिले हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

लीबिया में विद्रोहियों के हिंसक संघर्ष के बीच 400 क़ैदी फ़रार

लीबिया में पुलिस का कहना है कि राजधानी त्रिपोली में विद्रोही गुटों में जारी हिंसक संघर्ष के बीच लगभग 400 कैदी जेल से फ़रार हो गए हैं.

पुलिस के मुताबिक कैदियों ने आइन ज़ारा जेल के दरवाज़े तोड़ दिए और फ़रार हो गए. जेल के सुरक्षाकर्मी अपनी जान बचाते हुए भाग खड़े हुए.

राजधानी में विद्रोही गुटों के बीच चल रहे घमासान को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र समर्थित सरकार ने वहाँ आपातकाल घोषित कर दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे