वॉट्सऐप ग्रुप में 'बेहूदा सदस्य' बनने से कैसे बचें

वॉट्सऐप

जब आप किसी वॉट्सऐप ग्रुप में होते हैं तो कई बातों का ध्यान रखना होता है. नहीं तो ग्रुप के लोग आपसे परेशान हो जाएंगे या आप अपनी उपस्थिति ही दर्ज नहीं करा पाएंगे.

इसलिए जानें कि वॉट्सऐप ग्रुप में क्या करें और क्या ना करें.

ग्रुप एडमिन

ग्रुप में सारी पावर एडमिन के पास होती है, इसलिए ज़िम्मेदारी भी उसी की ज़्यादा होती है.

ग्रुप के दूसरे सदस्यों के लिए एडमिन को कुछ नियम तय कर देने चाहिए. लेकिन एक बात याद रहे, अगर आपके पापा अब भी आपके फोन का बिल भरते हैं तो वो इन नियमों को नहीं मानने वाले.

ग्रुप में वन-टू-वन बात ना करें

ग्रुप में वही बात करें जो सबके काम की हो, क्योंकि इसका नाम ही 'ग्रुप चैट' है.

अगर दो लोग आपस की बात ग्रुप में करेंगे तो ग्रुप के दूसरे लोग परेशान हो जाएंगे.

इसलिए ग्रुप पर वही पोस्ट करें जिसमें दूसरों की भी दिलचस्पी हो और सब लोग एन्जॉय करें.

अगर आपको ग्रुप के किसी व्यक्ति से सीधे बात करनी है तो उसे प्राइवेट मैसेज कर सकते हैं. क्योंकि किसी को ये जानने में दिलचस्पी नहीं होगी की आप जैक के साथ कितने बजे फिल्म देखने जा रहे हैं.

मैसेज भेजने से पहले ग्रुप देख लें

सेंड बटन दबाने से पहले अच्छे से देख लें कि मैसेज किस ग्रुप में भेज रहे हैं, क्योंकि मैसेज ग़लत ग्रुप में पहुंचने से आपको शर्मिंदा होना पड़ सकता है.

हो सकता है आपको ग्रुप ही छोड़ना पड़े या ग्रुप में रहते हुए कई लोगों को नज़रअंदाज़ करना पड़े.

स्पैम मैसेज ना भेजें

"ये मैसेज 10 लोगों को भेजें तो आपके साथ कुछ अच्छा होगा." ऐसे मैसेज ग्रुप में डालने से बचें.

ग्रुप के कई लोग आपके इस तरह के मैसेज से परेशान हो सकते हैं.

अपनी बात कम से कम शब्दों में रखें

जो बात एक लाइन में पूरी हो सकती है, उसके लिए 10 लाइनें क्यों लिखना?

ग्रुप में एक्टिव रहें

जो लोग ग्रुप चैट में हिस्सा नहीं लेते, उनकी ग्रुप में कोई जगह नहीं होती.

आपको मैसेज मिल गया और आपने पढ़ भी लिया, ये ग्रुप के सारे लोग देख सकते हैं.

अगर ग्रुप के दूसरे सदस्य आपकी प्रतिक्रिया का इंतज़ार कर रहे हैं और आप कुछ नहीं बोलते तो ये चिढ़ पैदा करने वाला होता है.

बात करने के बाद ही किसी को ग्रुप में जोड़ें

आप तीस लोगों को अपने घर बुलाएं और उन्हें एक कमरे में बंद कर दें, अजीब है ना? इसलिए वॉट्सऐप ग्रुप में किसी को जोड़ने से पहले उससे पूछ लें कि वो ग्रुप में शामिल होना चाहते हैं या नहीं.

इसी तरह किसी ग्रुप को छोड़ने से पहले दूसरे सदस्यों को वजह बता दें. अचानक से ग्रुप छोड़ देना बिल्कुल वैसा ही है जैसे आप अपने दोस्तों से बाए बोले बिना चले जाएं.

ये भी पढ़ें

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)