आज की पांच बड़ी ख़बरें: केसीआर ने राहुल गांधी को देश का सबसे बड़ा मसखरा कहा

  • 7 सितंबर 2018
राहुल गांधी, नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट TV GRAB

तेलंगाना विधानसभा को भंग किए जाने की सिफारिश करने के तुरंत बाद, मुख्यमंत्री और टीआरएस प्रमुख के चंद्रशेखर राव ने गुरुवार को 105 सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी और कांग्रेस पर तीखा हमला बोलते हुए पार्टी प्रमुख राहुल गांधी को 'सबसे बड़ा विदूषक' कहा.

केसीआर ने कांग्रेस को तेलंगाना का 'सबसे बड़ा दुश्मन' करार दिया और टीआरएस सरकार के ख़िलाफ़ 'आधारहीन और अर्थहीन' आरोप लगाने के लिए उसकी आलोचना की.

उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'कांग्रेस तेलंगाना की खलनायक नंबर-1 है.' उन्होंने हालांकि भाजपा की आलोचना नहीं की.

केसीआर ने लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गले मिलने और आंख मारने का ज़िक्र किया और कहा, 'राहुल गांधी इस देश के सबसे बड़े मसखरे हैं.'

इस दौरान उन्होंने हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम को 'मित्र पार्टी' बताया और कहा कि टीआरएस उसके साथ काम करती रहेगी.

हालांकि राव ने यह स्पष्ट किया कि टीआरएस विधानसभा चुनाव अकेले ही लड़ेगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मैं मर भी जाऊं तो भाजपा को क्या फर्कः हार्दिक

पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल किसानों की कर्ज माफ़ी और पाटीदार युवकों को सरकारी नौकरी में आरक्षण देने की मांग को लेकर 25 अगस्त से अनशन पर बैठे हैं.

उन्होंने ट्वीट कर भारतीय जनता पार्टी पर हमला किया है. ट्वीट में उन्होंने लिखा, "गोधरा कांड के गुंडे गुजरात के भाजपा वाले मैं मर जाऊं उनको क्या फर्क पड़ेगा, हज़ारों लोगों की हत्या करके तो सत्ता प्राप्त की है. 13 दिन के अनशन के बाद भी भाजपावालों ने अभी तक किसानों एवं सबसे बड़े पटेल समुदाय के बारे कुछ सोचा भी नहीं है और बोले भी नहीं. कोई बात नहीं चुनाव भी आ रहा है."

दूसरी तरफ गुरुवार को ही यह भी ख़बर आई कि गुजरात हाई कोर्ट हार्दिक पर 2015 में दर्ज राजद्रोह के मामले में उन्हें आरोपमुक्त करने की याचिका पर 9 अक्तूबर से आखिरी सुनवाई करेगा.

हार्दिक ने मामले से आरोपमुक्त किए जाने को लेकर अप्रैल में याचिका दायर की थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ग्लोबल मोबिलिटी समिट का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार यानी 7 सितंबर को दो दिवसीय ग्लोबल मोबिलिटी समिट का उद्घाटन करेंगे. 'ग्लोबल मोबिलिटी समिट' में देश में बेहतर परिवहन को लेकर चर्चा होगी. इस दौरान देश के परिवहन को समग्र रूप में रखते हुए अलग-अलग पक्षों पर विचार होगा.

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार और सीईओ अमिताभ कांत ने गुरुवार को कहा कि अपने तरह का यह पहला शिखर सम्मेलन है जिसमें पूरी दुनिया से 2,200 प्रतिभागियों के शामिल होने की उम्मीद है.

पहली बार हो रही इस 'ग्लोबल मोबिलिटी समिट' में इलेक्ट्रिक व्हिकल, साइकिल, शेयर राइडिंग, लिथियम बैटरी जैसे कई मुद्दों पर विस्तार से चर्चा होगी.

समिट का उद्देश्य देश के शहरों को गाड़ियों से प्रदूषण मुक्त कर आम लोगों के लिए बेहतर बनाना है.

इसके लिए इस बात पर विचार होगा कि कैसे फॉसिल फ्यूल की जगह इलेक्ट्रिक गाड़ियों का उपयोग बढ़ाया जाए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption एसपी वैद्य

जम्मू-कश्मीर में दिलबाग सिंह डीजीपी

जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख एसपी वैद्य को बृहस्पतिवार देर रात उनके पद से हटा दिया गया है. उनकी जगह पुलिस महानिदेशक (जेल) दिलबाग सिंह को अतिरिक्त प्रभार के रूप में राज्य के पुलिस प्रमुख का प्रभार सौंपा गया है.

वहीं एसपी वैद्य को ट्रांसपोर्ट कमिश्नर बनाया गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जम्मू-कश्मीर में पुलिसकर्मियों के बढ़ते अपहरणों से केंद्र सरकार नाराज थी. साथ ही इन घटनाओं से निपटने के तरीके से भी मंत्रालय संतुष्ट नहीं था. और इसके लिए नवनियुक्त राज्यपाल सत्यपाल मलिक से इस मसले पर विचार करने को कहा गया था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार ज़ईर बोलसोनारो

ब्राज़ील में राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी पर चाकू से हमला

ब्राज़ील के धुर दक्षिणपंथी नेता और राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार ज़ईर बोलसोनारो पर एक चुनावी रैली में चाकू से हमला कर दिया गया. सोशल मीडिया पर चल रहे एक वीडियो में देखा जा सकता है कि एक शख़्स ने उनके पास आकर उन्हें चाकू मार दिया जिसके बाद गंभीर रूप से जख़्मी बोलसोनारो को उनके समर्थक कंधों पर उठाकर वहां से ले गए. ऑपरेशन के बाद उनकी हालत स्थिर है.

पुलिस का कहना है कि उसने घटनास्थल से एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है और उसने बोलसोनारो पर हमले की बात क़बूल ली है. पुलिस के मुताबिक शख़्स का कहना है कि उसने बोलसोनारो की दक्षिणपंथी नीतियों से असहमति के कारण उन पर हमला किया.

ब्राज़ील में अगले महीने राष्ट्रपति चुनाव हैं और हालिया ओपनियिन पोल्स में कहा गया था कि बोलसोनारो को चुनाव में सबसे ज़्यादा वोट मिलेंगे. ब्राज़ील की पूर्व राष्ट्रपति डिल्मा रूसेफ़ ने इस हमले की निंदा की है.

ये भी पढ़ेंः

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे