पीएनबी स्कैम: मेहुल चोकसी पहली बार आए सामने

  • 11 सितंबर 2018
मेहुल चोकसी इमेज कॉपीरइट Getty Images

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में अभियुक्त मेहुल चोकसी पहली बार एक वीडियो के ज़रिए सामने आए हैं और सफ़ाई दी है.

समाचार एजेंसी एएनआई के इस एक मिनट के वीडियो में उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों को ग़लत बताया है. पढ़िए उन्होंने क्या कहा -

"प्रवर्तन निदेशालय ने मुझ पर जो भी आरोप लगाए हैं वे ग़लत हैं और आधारहीन हैं. मेरी संपत्ति को उन्होंने गैर-क़ानूनी तरीक़े से ज़ब्त किया है, जिसका कोई आधार नहीं था.

उद्योगपतियों के साथ खड़ा होने से नहीं डरता: मोदी

नीरव मोदी को कैसे रोका जा सकता था?

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
पीएनबी घोटाला और नीरव मोदी

पासपोर्ट अथॉरिटी ने मेरा पासपोर्ट रद्द कर दिया, जिसकी वजह से मैं लाचार हो गया. 16 फरवरी को मुझे स्थानीय पासपोर्ट दफ़्तर से ईमेल आया कि मेरा पासपोर्ट इसलिए सस्पेंड कर दिया गया है कि क्योंकि मैं भारत की सुरक्षा के लिए ख़तरा हूं.

20 फरवरी को मैंने मुंबई के स्थानीय पासपोर्ट दफ़्तर को लिखा कि मेरे पासपोर्ट को सस्पेंड ना करें. हालांकि मुझे उनकी तरफ़ से कोई जवाब नहीं मिला. ना ही उन्होंने मुझे कोई वजह बताई कि मेरा पासपोर्ट क्यों सस्पेंड हुआ और मैं कैसे भारत की सुरक्षा के लिए ख़तरा हूं.

जब मेरा पासपोर्ट ही सस्पेंड है, तो उसे सरेंडर करने का सवाल ही नहीं उठता."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

क्यों है चोकसी भागे हुए

इस साल की शुरुआत में पंजाब नेशनल बैंक में 11,300 करोड़ रुपए का घोटाला सामने आया. इस घोटाले में हीरा व्यापारी नीरव मोदी के अलावा उनकी पत्नी ऐमी, उनका भाई निशाल, और चाचा मेहुल चोकसी मुख्य अभियुक्त हैं. बैंक का दावा था कि इन सभी अभियुक्तों ने बैंक के अधिकारियों के साथ साज़िश रची और बैंक को नुकसान पहुंचाया.

पंजाब नेशनल बैंक ने जनवरी में पहली बार नीरव मोदी और उनके साथियों के ख़िलाफ़ शिकायद दर्ज कराई. इस शिकायत में उन पर 280 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लगाया गया था.

14 फ़रवरी को आंतरिक जांच पूरी होने के बाद पंजाब नेशनल बैंक ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को इस फ़र्ज़ीवाड़े की जानकारी दी.

15 फ़रवरी को प्रवर्तन निदेशालय ने दख़ल दिया और नीरव मोदी के मुंबई, सूरत और दिल्ली के कई दफ़्तरों पर छापामारी की. प्रिवेंशन ऑफ़ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया.

लेकिन ये सभी अभियुक्त जनवरी में ही देश छोड़ने में कामयाब रहे. भारतीय एजेंसियां उनके प्रत्यर्पण की कोशिश में लगी हुई हैं.

नीरव मोदी के भाई निशाल बेल्जियम के नागरिक है और उनकी पत्नी अमरीकी नागरिक हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे