प्रेस रिव्यू : 'उसे प्यार करती थी पर अब उसका चेहरा भी नहीं देखना चाहती'

  • 16 सितंबर 2018
इमेज कॉपीरइट Thinkstock

"मैं उसे टीवी पर भी नहीं देख सकती. मुझे पता चला है कि उसने उस लड़की का रेप किया है जो उस वीडियो में है. मुझे दर्द होता है उसे देखकर क्योंकि मैंने उसे प्यार किया था, लेकिन मुझे ये भी याद है कि उसने मेरे साथ क्या किया."

विजया (बदला हुआ नाम) ने ये सब बताया द हिंदू अख़बार को. विजया उस लड़के के साथ रिश्ते में थी जिसे उत्तम नगर (दिल्ली) के वायरल वीडियो में एक लड़की को पीटते हुए देखा जा सकता है. अभियुक्त रोहित तोमर एक पुलिसकर्मी का बेटा है जिसे दिल्ली पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है.

विजया बताती है कि एक साल तक तो सब ठीक था, लेकिन धीरे-धीरे वह बदतमीज़ी करने लगा और हिंसक होने लगा. उसने बिना विजया की जानकारी के उसका वीडियो भी बना लिया था जिसे लेकर ब्लैकमेल भी करता था.

लेकिन उसने अपने माता-पिता को सब बता दिया और उन्होंने उसका साथ दिया. एक बार पुलिस में शिकायत भी की. विजया कहती हैं, "मैं कभी उस लड़के से ना लड़ पाती अगर मेरे मम्मी-पापा समझने की बजाय मुझे ही दोष देते."

इमेज कॉपीरइट AFP

गैर ब्राह्मण महिलाएं बनीं पंडित

महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए एक मूक क्रांति रायगढ़ ज़िले (महाराष्ट्र) के एक छोटे से गांव मोहापादा में हो रही है. इस क्रांति की अगुवाई कर रहे हैं अलीबाग के 101 साल के रामेश्वर करवे.

पिछले 18 सालों में उन्हीं की बदौलत 150 से ज़्यादा गैर-ब्राह्मण, कम पढ़ी-लिखी महिलाओं को संस्कृत में डिग्री मिली और वे पुजारी बन पाईं.

कुछ प्रतिरोध के बाद आखिरकार इन महिलाओं को मुंबई, ठाणे और नवी मुंबई में पूजा, मृत्यु संस्कार और गणेशोत्सव के लिए निमंत्रण मिलना शुरू हो गया है.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपी इस रिपोर्ट के मुताबिक़ इन महिलाओं ने विवाह संपन्न करवाया है, धागा रस्म और यहां तक कि शनि शांति पूजा भी की है, जो आम तौर पर दहिसर में पुरुष करते हैं.

इमेज कॉपीरइट youtube grab
Image caption हरियाणा की विधायक प्रेमलता

केंद्रीय मंत्री की विधायक पत्‍नी का बलात्कार पर विवादित बयान

हरियाणा से भारतीय जनता पार्टी की विधायक प्रेमलता ने कहा है कि बेरोजगारी से परेशान और हताश होकर युवा बलात्कार जैसे अपराध कर रहे हैं. रेवाड़ी की सीबीएसई टॉपर छात्रा के साथ हुए गैंगरेप मामले को लेकर बीजेपी नेता के इस बयान से विवाद पैदा हो गया है.

केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह की पत्‍नी और विधायक प्रेमलता ने कहा है, 'बेरोजगारी से परेशान और हताश होकर युवा दुष्कर्म जैसे अपराध कर रहे हैं. आज भी लोगों का महिलाओं के प्रति नज़रिया ठीक नहीं है, इसी कारण समाज में इस कदर गिरावट हुई है.'

नवभारत टाइम्स में छपी इस रिपोर्ट के मुताबिक़ प्रेमलता के इस बयान पर विपक्ष के नेताओं ने उनपर निशाना साधा है.

रेवाड़ी की 19 वर्षीय युवती का बुधवार को तीन लोगों ने बस अड्डे से अपहरण किया और उसके साथ गैंगरेप किया. मामले के तीनों आरोपी अभी तक फरार हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सांकेतिक तस्वीर

दुनिया की पहली और एकमात्र गे क्रिकेट टीम

लंदन ग्रेसेस क्रिकेट क्लब के ख़िलाड़ी अलग-अलग पृष्ठभूमि के हैं - कुछ भारतीय हैं, कुछ पाकिस्तानी हैं, एक बांग्लादेशी है, एक न्यूज़ीलैंड, एक ऑस्ट्रेलियाई और कुछ ब्रितानी खिलाड़ी भी.

इंडियन एक्सप्रेस की ये ख़बर बताती है कि ये कोई साधारण क्रिकेट क्लब नहीं ब्लकि दुनिया की पहली और एकमात्र गे क्रिकेट टीम है.

ये क्लब 1997 में एक पब सेंट्रल स्टेशन में बनाया गया था. पब के मालिकों ने एलजीबीटी समुदाय के लोकप्रिय अख़बार पिंक पेपर में विज्ञापन देकर लोगों से इस टीम में शामिल होने का निमंत्रण दिया था.

इस रिपोर्ट में कई क्लब सदस्यों ने अपनी कहानी अख़बार के साथ साझा की है.

इमेज कॉपीरइट N tripathi/bbc

शेल्टर होम से बचाई लड़कियों को लड़कों के बालगृह में रखा गया

नेशनल कमीशन फ़ॉर प्रोटेक्शन ऑफ़ चाइल्ड राइट्स (एनसीपीसीआर) की टीम ने उत्तर प्रदेश में देवरिया के शेल्टर होम से बचाई गई 26 लड़कियों के पुनर्वास पर रिपोर्ट पेश की है.

टीम ने यौन शोषण की शिकार इन लड़कियों के लिए पुनर्वास सुविधाओं को ना सिर्फ अपर्याप्त पाया ब्लकि असंवेदनशील भी.

हिंदुस्तान टाइम्स की इस ख़बर के मुताबिक़ टीम ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि लड़कियों को बचाए जाने के बाद उनके ट्रॉमा को देखते हुए कोई काउंसलर तक नियुक्त नहीं किया गया था.

उन लड़कियों को शेल्टर होम से निकालकर एक हफ्ते तक लड़कों के बाल गृह में रखा गया जहां बाकी सुविधाएं तो दूर की बात, सफ़ाई भी नहीं थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए