जब रेगिस्तान में बिछ गई फूलों की चादर

  • 16 सितंबर 2018

दक्षिण अफ़्रीका के पश्चिमी हिस्से में हर साल वसंत के मौसम में ऐसे ही फूल खिल जाते हैं, हालांकि ये फूल कुछ महीनों के लिए ही खिलते हैं. फोटोग्राफर टॉमी ट्रेनचार्ड ने इन खूबसूरत नज़ारों को अपने कैमरे में कैद किया हैः

इमेज कॉपीरइट TOMMY TRENCHARD
Image caption अलग-अलग रंगों की छटा बिखेरते ये फूल दक्षिण अफ़्रीका में हर साल बसंत ऋतु में खिलते हैं.
इमेज कॉपीरइट TOMMY TRENCHARD
Image caption इस मौसम में कुछ हफ़्तों के लिए पश्चिमी दक्षिण अफ़्रीका का यह इलाका फूलों की चादर से बिछ जाता है.
इमेज कॉपीरइट TOMMY TRENCHARD
Image caption हर साल जुलाई के अंत से सितंबर माह के अंत तक यह बंजर ज़मीन इसी तरह फूलों से खिलखिला उठती है, इसके बाद गर्मियों की शुरुआती हवाओं में ये फूल झड़ जाते हैं और अगले साल के इंतज़ार लिए अपने बीज ज़मीन पर बिखेर देते हैं.
इमेज कॉपीरइट TOMMY TRENCHARD
Image caption फोटोग्राफर टॉमी ट्रेनचार्ड अपनी पत्नी के साथ दक्षिण अफ़्रीका की बीडो घाटी में घूमने गए थे, उन्होंने यहां का नज़ारा देख कहा कि 'यह खूबसूरती वास्विकता से परे है'.
इमेज कॉपीरइट TOMMY TRENCHARD
Image caption टॉमी कहते हैं कि ये खूबसूरती बहुत कम वक़्त के लिए रहती है और यही इसकी खासियत भी है.
इमेज कॉपीरइट TOMMY TRENCHARD
Image caption आमतौर पर लोग दक्षिण अफ़्रीका में जंगली जानवरों को देखने आते हैं, लेकिन जंगली फूल किसी जादू से कम नहीं हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए