प्रेस रिव्यू: ईरान से तेल इंपोर्ट पर भारत को छूट देगा अमरीका

  • 1 नवंबर 2018
ईरान और भारत इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत ने फैसला किया है कि वो ईरान से होने वाले तेल आयात में करीब एक-तिहाई की कटौती करेगा.

इसके बाद अमरीका ने भारत को ईरान प्रतिबंधों से छूट देने पर सहमति जताई है.

द इकनॉमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक 2017-18 में भारत ने ईरान से 22 मिलियन टन कच्चा तेल लिया था.

जबकि 2018-19 में वो ईरान से करीब एक तिहाई यानी 14-15 मिलियन टन तेल ही आयात करेगा.

अखबार के मुताबिक कुछ दिनों में इससे जुड़ी आधिकारिक घोषणा की जा सकती है.

ईरान के तेल पर कितना निर्भर है भारत?

मोदी, ट्रंप और ईरान के तेल का खेल

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अकबर ने बयान दर्ज कराया

यौन उत्पीड़न के आरोपों पर पत्रकार प्रिया रमानी के ख़िलाफ़ आपराधिक मानहानि मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर ने बुधवार को अदालत में बयान दर्ज कराया.

द हिंदू अखबार की खबर के मुताबिक अकबर ने कहा, "यौन उत्पीड़न के झूठे आरोपों के कारण मुझे नुकसान हुआ है. मैं मंत्री पद से इस्तीफा दे चुका हूं."

"करीबी लोगों की नज़रों में मेरी छवि खराब हुई है. मुझे न्याय मिलना चाहिए."

रमानी ने आरोप लगाया था कि 20 साल पहले अकबर ने उनका यौन उत्पीड़न किया था.

विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर ने दिया इस्तीफ़ा

अकबर मामले में कांग्रेस उतनी आक्रामक क्यों नहीं?

इमेज कॉपीरइट AFP

'गवर्नर पद छोड़ सकते हैं उर्जित'

अगर सरकार ने आरबीआई को कोई फैसला लेने का निर्देश दिया तो गवर्नर उर्जित पटेल इस्तीफा दे सकते हैं.

दैनिक भास्कर अखबार ने सूत्रों के हवाले से ये खबर छापी है.

अखबार के मुताबिक सूत्रों ने बताया कि आरबीआई एक्ट की धारा 7 के तहत सरकार ने पहली बार तीन पत्र रिजर्व बैंक को भेजे हैं.

माना जा रहा है कि इसी के बाद रिज़र्व बैंक के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने पिछले शुक्रवार को आरबीआई की स्वतंत्रता का मुद्दा उठाया था.

धारा 7 के इस्तेमाल की खबरें आने के बाद वित्त मंत्रालय ने बुधवार को स्पष्टीकरण भी जारी किया.

इसमें कहा गया कि आरबीआई की स्वायत्तता ज़रूरी है, सरकार इसका सम्मान करती है.

RBI पर लागू हुआ सेक्शन 7 तो कितना बढ़ेगा टकराव

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सबरीमला मामले में सुप्रीम कोर्ट का जल्द सुनवाई से इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने सबरीमाला मंदिर विवाद मामले में संविधान पीठ के खिलाफ दायर पुनर्विचार याचिका पर जल्द सुनवाई से इनकार कर दिया है.

पंजाब केसरी अखबार के मुताबिक भारत के मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि मंदिर 5 और 6 नवंबर को 24 घंटे के लिए खुलेगा.

पुनर्विचार याचिका पर 11 नवम्बर के बाद ही सुनवाई की जाएगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'दिल्ली में सिर्फ़ ग्रीन पटाखे ही बिकेंगे'

सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया है कि दिल्ली और एनसीआर में सिर्फ ग्रीन पटाखे ही बिकेंगे.

द हिंदू अखबार के मुताबिक अन्य राज्यों में इस साल यह व्यवस्था लागू नहीं होगी.

कोर्ट ने कहा है कि अब ग्रीन पटाखों का ही उत्पादन होगा और जो पटाखे पहले बन चुके हैं वे दिल्ली एनसीआर में नहीं बिकेंगे.

इन्हें फिलहाल दूसरी जगहों पर बेचा जा सकता है. दूसरी तरफ सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान पटाखा निर्मातों ने कहा कि ग्रीन पटाखों का उत्पादन इस वक्त संभव नहीं है. यह बाजार में भी उपलब्ध नहीं है.

ये भी पढ़ें...

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए