मेरा और ऐश्वर्या का मेल नहीं खाता: तेज प्रताप यादव

  • 4 नवंबर 2018
तेज प्रताप यादव, ऐश्वर्या राय इमेज कॉपीरइट Tej Pratam Yadav/Facebook

पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक़ की अर्ज़ी की ख़बरों के बीच बिहार के पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव शनिवार को बोधगया से रांची तक मीडिया से बातचीत के दौरान काफी कुछ कहते सुने गए.

तलाक़ की अर्ज़ी संबंधी ख़बरें आने के बाद तेज प्रताप अपने पिता लालू यादव से मिलने शनिवार को पटना से रांची तो निकले, लेकिन रात उन्होंने बोधगया में बिताई.

सुबह वहां से रांची के लिए रवाना होने के पहले उन्होंने पत्रकारों से कहा, "ये सच्चाई है कि हमने आवेदन दिया है और ये लड़ाई हम लड़ेंगे. घुट-घुटकर जीने से कोई फ़ायदा नहीं है."

इमेज कॉपीरइट Manish Shandilya/BBC

'मेरा और उनका मेल नहीं खाता'

एक स्थानीय चैनल से बातचीत में तेजप्रताप ने कहा, "मेरा और उनका मेल नहीं खाता है. हम पूजा-पाठ करने वाले धार्मिक व्यक्ति हैं और वो दिल्ली में हाई सोसाइटी में रहीं हैं. हमने अपने मम्मी-पापा को भी समझाने की कोशिश की है कि हमारा इनका मेल नहीं खाता है, लेकिन मुझे मोहरा बनाया गया. मेरे घरवाले भी मेरा साथ नहीं दे रहे हैं."

मोहरा बनाने का मतलब तेजप्रताप ने यह बताया कि उनकी मर्ज़ी के खिलाफ उनकी शादी करवाई गई. तेजप्रताप के मुताबिक डेढ़-दो महीने से उनकी ऐश्वर्या से कोई बात नहीं हुई है और लालू हाल के दिनों में जब जमानत पर घर थे, उस वक़्त भी ऐश्वर्या झगड़ती रहती थीं.

इमेज कॉपीरइट Manish Shandilya/BBC

उधर मीडिया की निगाहें लालू और तेजप्रताप की रांची में होने वाली मुलाकात पर भी थी. शनिवार दोपहर करीब तीन घंटे तक मुलाकात के बाद तेजप्रताप ने वापस लौटते हुआ अपना बोधगया का यह बयान दोहराया कि 'आदमी घुट-घुट क तो नहीं न जी सकता है'.

तेजप्रताप ने कहा, "डिवोर्स जो फ़ाइल करना था वो हमने फ़ाइल कर दिया. मेरा फैसला अडिग रहेगा और अपने पिताजी के आने का भी मैं इंतज़ार करूंगा. लालू जी बोले कि आएंगे तो इस पर मिल-बैठकर बात करेंगे."

इमेज कॉपीरइट Manish Shandilya/BBC
Image caption तेजस्वी यादव

तेजस्वी ने मांगा समर्थन

तेज प्रताप के अलावा लालू परिवार की ओर से तलाक की अर्ज़ी पर शनिवार शाम को बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का बयान आया. वो शनिवार को राष्ट्रीय जनता दल द्वारा आयोजित अति पिछड़ा सम्मलेन में शामिल होने पटना के एसकेएम हॉल पहुंचे थे.

कार्यक्रम के बाद पत्रकारों ने जब उनसे तेज प्रताप के बारे में सवाल किए तो उन्होंने कहा, "ये कौन सा पब्लिक इंटरेस्ट का बात है? हम आपसे पूछ रहे है कि आपके घर में कल क्या खाना बना? आपने बनाया कि आपकी वाइफ़ ने बनाया? ये सब बात पब्लिक इंटरेस्ट की नहीं है. हमारे परिवार की चिंता छोड़ दीजिए. ये पारिवारिक मामला है और परिवार के लोग इसका समाधान करेंगे."

हालांकि इसी सम्मलेन में उन्होंने अपने परिवार के लिए समर्थन मांगा. सम्मलेन में उन्होंने कहा, "आप लोगों को लालू जी ने बहुत कुछ दिया और आप लोगों ने भी लालू जी को बहुत कुछ दिया. हम बस इतना चाहते हैं हैं कि आपका प्यार, आशीर्वाद अपने भाई-बेटा पर बना रहे ताकि सूद समेत आपको वापस लौटा सकें. हमें अपने परिवार की नहीं अपने देश और बिहार की चिंता है."

इमेज कॉपीरइट Tej Pratap/Facebook

तेज प्रताप को बुखार

शनिवार देर शाम तेज प्रताप के साथ चल रहे उनके दोस्तों ने रांची में मीडिया को बताया कि तेज प्रताप दर्द और हल्के बुखार की चपेट में हैं. डॉक्टरों के मुताबिक थकान और तनाव के कारण ऐसा हुआ है और उन्हें अच्छी तरह आराम करने की सलाह दी गई है.

इस बीच ऐश्वर्या के परिवार की ओर से शनिवार को भी कोई बयान नहीं आया. ऐश्वर्या भी एक अहम राजनीतिक परिवार से आती हैं. उनके दादा दिवंगत दारोगा प्रसाद राय जहां बिहार के मुख्यमंत्री रहे, वहीं उनके पिता चंद्रिका राय लालू यादव और नीतीश कुमार के साथ बतौर मंत्री काम कर चुके हैं.

करीब डेढ़ साल पहले तक चंद्रिका राय अपने दामाद तेज प्रताप के साथ नीतीश मंत्रिमंडल का हिस्सा थे.

ये भी पढ़ें:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आपयहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे