बिहार में पनपती हिंदुत्व की प्रयोगशाला
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

बिहार में पनपती हिंदुत्व की प्रयोगशाला

  • 6 नवंबर 2018

बिहार में रामनवमी से लेकर दशहरे तक जारी रही हिंसा क्या बताती है ये जानने के लिए हमें बिहार के बदलते राजनीतिक स्वरूप को समझना होगा.

साल 2017 में बिहार में नीतीश कुमार के बीजेपी के साथ आने के बाद से एक नई तरह की स्थितियां जन्म ले रही हैं.

रामनवमी जैसे मौकों पर बिहार के तमाम ज़िले एक साथ हिंसा की चपेट में आए. इसके बाद इन मौकों पर उपजे सामाजिक तनाव में से राजनीतिक फ़ायदा उठाने की कोशिशें की गईं.

ऐसे में बिहार की इस बदलती सूरत के पीछे का कारण समझने के लिए देखिए ये वीडियो.

रिपोर्ट: पंकज प्रियदर्शी

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)