सीपी जोशी ने पूछा, उमा, मोदी की जाति मालूम है किसी को; आज की पांच बड़ी ख़बरें

  • 23 नवंबर 2018
सीपी जोशी इमेज कॉपीरइट PTI

राजस्थान में एक चुनावी रैली के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता सीपी जोशी ने विवादित बयान दिया है. अपने विधानसभा क्षेत्र नाथद्वारा में एक सभा के दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री उमा भारती की जाति और धर्म पर सवाल उठाते हुए दोनों पर निशाना साधा.

सीपी जोशी ने कहा, "उमा भारतीजी की जाति मालूम है किसी को? ऋतंभरा की क्या जाति है, मालूम है किसी को? इस देश में धर्म के बारे में कोई जानता है तो पंडित जानते हैं. अजीब देश हो गया. इस देश में उमा भारती लोधी समाज की हैं, वह हिंदू धर्म की बात कर रही हैं. साध्वीजी किस धर्म की हैं? वह हिंदू धर्म की बात कर रही हैं. नरेंद्र मोदीजी किसी धर्म के हैं, हिन्दू धर्म की बात कर रहे हैं. तो क्या ब्राह्मण किसी काम के नहीं हैं, 50 साल में इनकी अक्ल बाहर निकल गई."

बाद में सीपी जोशी ने ट्ववीट कर बीजेपी पर उनके बयान को तोड़-मोड़कर पेश करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया है, वो इसकी कड़ी निंदा करते हैं.

इमेज कॉपीरइट PTI

डिफॉल्टर्स पर शिकंजा

सरकारी बैंकों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी यानी सीईओ अब जानबूझकर अपना कर्ज नहीं चुकाने वाले (विलफुल डिफॉल्टर्स) के ख़िलाफ़ लुकआउट नोटिस जारी करने का अनुरोध कर सकते हैं.

केंद्र सरकार ने भगोड़ों पर लगाम कसने के लिए एक नया फ़ैसला किया है.

विजय माल्या, मेहुल चोकसी और नीरव मोदी जैसे लोग बैंकों को करोड़ों रुपये का चूना लगाकर विदेश भाग चुके हैं.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
लोन लेने से पहले ध्यान रखें ये बातें

गृह मंत्रालय ने हाल ही में सर्कुलर में बदलाव करते हुए सरकारी बैंकों के सीईओ को उन अधिकारियों की लिस्ट में शामिल कर दिया है, जो मंत्रालय से किसी भी फ्रॉड करने वाले के ख़िलाफ़ लुकआउट नोटिस जारी करने का अनुरोध कर सकते हैं, भले ही डिफॉल्टर के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज़ हुई हो या नहीं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सीमा मुद्दे पर भारत-चीन के बीच बातचीत

भारत और चीन के बीच सीमा मुद्दे को लेकर 21वें दौर की बातचीत चीन के चेंगदू सिटी के दुजियांगयान में शुक्रवार से शुरू होगी.

भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और चीन के स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वांग यी के बीच दो दिन सीमा को लेकर चर्चा करेंगे. बातचीत को लेकर चीन ने अच्छे संकेत दिए हैं.

भारत और चीन के बीच 3,488 किलोमीटर लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को लेकर विवाद है. चीन अरुणाचल प्रदेश को अपने दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा बताता है. अधिकारियों ने बताया कि इस चरण की वार्ता व्यापार और सीमा पर शांति बरकरार रखने पर हुई वार्ता में प्रगति की समीक्षा पर केंद्रित है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

सबरीमला में धारा 144 और बढ़ाई गई

गुरुवार की रात को सबरीमला, निलक्कल और पम्बा क्षेत्रों में निषेधात्मक आदेशों को और चार दिनों के लिए बढ़ा दिया गया है.

ज़िला कलेक्टर पी बी नूह ने पुलिस आयुक्त और अन्य संबंधित अधिकारियों द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट्स पर विचार करने के बाद अपराध प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत जारी निषेधात्मक आदेशों की अवधि बढ़ा दी.

धारा 144 के तहत चार या इससे अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर प्रतिबंध होता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

सीआईए ने ख़ाशोज्जी की हत्या का दोष क्राउन प्रिंस पर नहीं डालाः ट्रंप

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने अमरीका की ख़ुफ़िया जांच एजेंसी सीआईए के उस आंकलन को ग़लत बताया है जिसमें कहा गया था कि पत्रकार जमाल ख़ाशोज्जी की हत्या के विषय में सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान को जानकारी थी.

फ़्लोरिडा में पत्रकारों के साथ बातचीत में ट्रंप ने कहा कि ख़ुफ़िया एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में क्राउन प्रिंस के ऊपर सारा दोष नहीं डाला है.

डोनल्ड ट्रंप ने कहा, ''मुझे नहीं पता कि कौन यह बात कह रहा है कि क्राउन प्रिंस ने वह हत्या करवाई. लेकिन मैं सिर्फ़ इतना ही कहूंगा कि मुझे कुछ नहीं पता. मुझे नहीं पता कि उन्होंने कुछ किया या नहीं. उन्होंने शुरुआत से इससे इंकार किया है. उनके पिता ने भी इसे नकारा है. सीआईए ने भी कभी नहीं कहा कि उन्होंने ऐसा किया.''

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
ख़ाशोज्जी हत्या: ट्रंप पर बढ़ता दबाव

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए