अखिलेश यादव की अयोध्या में सेना तैनात करने की मांगः आज की पांच बड़ी ख़बरें

  • 24 नवंबर 2018
अखिलेश यादव इमेज कॉपीरइट TWITTER

अयोध्या में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और विश्व हिंदू की होने वाली धर्मसभा से ठीक पहले उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने वहां सेना की तैनाती की मांग की है.

सपा अध्यक्ष का कहना है कि भाजपा और उससे जुड़े संगठन किसी भी हद तक जा सकते हैं लिहाजा अयोध्या में सेना लगाकर सुरक्षा पुख्ता की जाए.

अखिलेश यादव मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों में रैलियां कर रहे हैं. उन्होंने पन्ना में चुनावी रैली के बाद मीडिया से बातचीत में ये बातें कही.

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में माहौल ख़राब है, विशेषकर अयोध्या में. लिहाजा सुप्रीम कोर्ट को इस पर संज्ञान लेना चाहिए.

इमेज कॉपीरइट PTI

सीपी जोशी को चुनाव आयोग का नोटिस

पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता सीपी जोशी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जाति और धर्म पर सवाल उठाए जाने पर भाजपा की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने उन्हें नोटिस जारी किया है.

राजस्थान में एक चुनावी रैली के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता सीपी जोशी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री उमा भारती की जाति और धर्म पर सवाल उठाते हुए दोनों पर निशाना साधा था.

सीपी जोशी ने कहा था, "उमा भारतीजी की जाति मालूम है किसी को? ऋतंभरा की क्या जाति है, मालूम है किसी को? इस देश में धर्म के बारे में कोई जानता है तो पंडित जानते हैं. अजीब देश हो गया. इस देश में उमा भारती लोधी समाज की हैं, वह हिंदू धर्म की बात कर रही हैं. साध्वीजी किस धर्म की हैं? वह हिंदू धर्म की बात कर रही हैं. नरेंद्र मोदीजी किसी धर्म के हैं, हिन्दू धर्म की बात कर रहे हैं. तो क्या ब्राह्मण किसी काम के नहीं हैं, 50 साल में इनकी अक्ल बाहर निकल गई."

केंद्रीय क़ानून मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को सीपी जोशी के दिए बयान पर तीखा पलटवार करते हुए कहा कि सीपी जोशी, प्रधानमंत्री मोदी, उमा भारती की जाति पूछते हैं, यह राजनीति का गिरा हुआ स्तर है. यह राजनीति में आई नई नीचता है.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि गुजरात चुनाव में जब राहुल गांधी ने कहा था कि मैं शिव भक्त ब्राह्मण हूं, तब हमने कहा था कि नेहरू खानदान में पहली बार किसी ने अपनी जाति बताई है, इसका क्या कारण है.

उन्होंने कहा कि एक तरफ सीपी जोशी राम मंदिर के बारे में कहते हैं कि मंदिर हम ही बनाएंगे, वहीं दूसरी तरफ उनकी पार्टी के नेता कपिल सिब्बल बाबरी मस्जिद के लिए मुस्लिम पक्ष की तरफ से बहस करते हैं.

इमेज कॉपीरइट FB/BBC

गौरी लंकेश मामले में चार्जशीट दाखिल

पत्रकार और मानवाधिकार कार्यकर्ता गौरी लंकेश की हत्या के मामले में एसआईटी ने अतिरिक्त चार्जशीट दाखिल की है.

लगभग 9 हज़ार पन्नों की इस चार्जशीट में 18 लोगों पर आरोप लगाए गए हैं.

इन 18 में से 16 लोगों को गिरफ़्तार किया जा चुका है. कन्नड़ की साप्ताहिक पत्रिका की संपादक गौरी लंकेश की पिछले साल 5 सितंबर को उनके घर के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

चाइल्ड पॉर्नोग्राफ़ी पर मिलेगी कड़ी सज़ा

केंद्र सरकार ने चाइल्ड पॉर्नोग्राफ़ी के मामले में क़ानून को और सख्त बनाने का फ़ैसला लिया है. बच्चों से जुड़ी अश्लील सामग्री के पाये जाने और उसके व्यावसायिक इस्तेमाल के मामले में सरकार ने तीन साल की सज़ा को बढ़ाकर पांच साल कर दिया है. जबकि दूसरी बार अपराध करने पर अधिकतम सात साल तक की सज़ा का प्रावधान किया गया है.

महिला और बाल विकास मंत्रालय की तरफ से पॉक्सो ऐक्ट में संसोधन के प्रस्ताव को मंजूरी देने के बाद क़ानून मंत्रालय ने इस पर अपनी मुहर लगा दी है.

इसके साथ ही चाइल्ड पॉर्नोग्राफ़ी से जुड़ी अश्लील तस्वीरें और वीडियो के व्हाट्सएप्प पर रखे जाने पर भी जुर्माने का प्रावधान शामिल है. यानी व्हाट्सएप्प पर ऐसी सामग्री आए तो सावधान रहें.

इमेज कॉपीरइट PAUL HILTON

जलवायु परिवर्तन से सैकड़ों बिलियन डॉलर का नुकसान

अमरीकी सरकार की एक नई रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि लगातार होते जलवायु परिवर्तन के चलते इस सदी के अंत तक देश को सैकड़ों बिलियन डॉलर का नुकसान हो सकता है. साथ ही इससे आम लोगों के स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर पड़ सकता है.

इस रिपोर्ट में कई सरकारी एजेंसियों से जानकारियां एकत्रित की गई हैं. रिपोर्ट बताती है कि जलवायु परिवर्तन का सबसे अधिक ख़तरा ग़रीब तबके के लोगों पर पड़ेगा, इससे खेती और स्वास्थ्य ख़राब हो जाएंगे.

यह रिपोर्ट अमरीकी राष्ट्रपति के उस फ़ैसले के विपरीत नतीजे दर्शाती है जिसमें उन्होंने पेरिस समझौते से अमरीका को अलग कर दिया था.

ये भी पढ़ें:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार