मंदिर नहीं बनवाएगी तो ये सरकार भी नहीं रहेगीः उद्धव ठाकरे

  • 25 नवंबर 2018
उद्धव ठाकरे इमेज कॉपीरइट TWITTER/SHIVSENA

अयोध्या के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा है कि यदि मोदी सरकार अयोध्या में मंदिर बनाने में नाकाम रही तो वो शायद दोबारा सत्ता में नहीं आएगी.

रविवार को अपनी पत्नी और बेटे के साथ राम लला के दर्शन करने के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने ये बात कही.

संवाददाता सम्मेलन में यह पूछे जाने पर कि सरकार अगर मंदिर नहीं बनाती तो वो क्या करेंगे. उद्धव ने कहा, "पहले सरकार को इस पर काम तो करने दो. ये सरकार मज़बूत है अगर ये नहीं बनाएगी तो कौन बनाएगा. अगर ये सरकार मंदिर नहीं बनाएगी तो मंदिर तो ज़रूर बनेगा लेकिन शायद ये सरकार नहीं रहेगी."

उद्धव ने कहा, "मेरा कोई छुपा एजेंडा नहीं है. देशवासियों की भावना की वजह से आया हूं. पूरे विश्व के हिंदू राममंदिर कब बनेगा ये जानना चाहते हैं. चुनाव के दौरान सब लोग राम राम करते हैं और बाद में आराम करते हैं. महीने, साल गुजरते जा रहे हैं पीढ़ियां जा रही हैं लेकिन राम लला का मंदिर नहीं बना."

इमेज कॉपीरइट TWITTER/SHIVSENA

उन्होंने कहा, "मुख्यमंत्री योगी जी ने कहा है कि मंदिर जहां था वहीं है और वहीं रहेगा लेकिन वो दिख नहीं रहा है. जल्द से जल्द उसका निर्माण होना चाहिए. आओ एक क़ानून बनाओ, शिवसेना हिंदुत्व पर आपका साथ दे रही थी, दे रही है. हिंदुओं की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिए."

उन्होंने कहा कि अब हिंदू इतना ताक़तवर हो गया है कि मार तो नहीं खाएगा.

'हिंदू भावना से खिलवाड़ नहीं करें'

इससे पहले, शिव सेना प्रमुख राम लला के दर्शन के लिए गए थे.

उद्धव ने कहा, "आज जब दर्शन के लिए गया तो वहां एक अलग अनुभव हुआ. वहां कुछ तो चेतना ज़रूर है. दुख इस बात का है कि मैं मंदिर जा रहा था लेकिन लग रहा था कि जेल जा रहा हूं."

वो बोले, " सरकार ने कहा था कि मंदिर बनाने के लिए संविधान के दायरे में सभी संभावनाओं को तलाशा जाएगा. पिछले चार साल किन-किन संभावनाओं की तलाश की गई और एक भी ऐसी संभावना नहीं मिली कि राम मंदिर के निर्माण की दिशा में आगे बढ़ा जाए. हिंदुओं की भावनाओं से खिलवाड़ न करें."

इससे पहले शनिवार को लक्ष्मण क़िला मैदान में उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा था कि आज हमें मंदिर बनाने की तारीख चाहिए बाकी बातें बाद में होती रहेंगी.

इमेज कॉपीरइट TWITTER/SHIVSENA

'अध्यादेश लाएं, शिवसेना करेगी समर्थन'

उद्धव ठाकरे ने कहा कि बीते साढ़े चार साल से बीजेपी राम मंदिर के मुद्दे पर सोयी रही. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर बीजेपी बिल या अध्यादेश लाए, हमारी पार्टी इसका समर्थन ज़रूर करेगी.

उन्होंने कहा कि अटल जी की मिलीजुली सरकार थी और तब मंदिर का मुद्दा उठाना शायद कठिन हो सकता था, लेकिन आज की सरकार बहुत ताक़तवर है. केंद्र और राज्य दोनों में बीजेपी की ही सरकारें हैं.

ठाकरे ने कहा, "मंदिर नहीं बनवा सकते तो सरकार कह दे कि हमसे नहीं हो पाएगा."

ये भी पढ़ें:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार