गुगली में आपकी नहीं फंसेंगे हम: सुषमा स्वराज

  • 2 दिसंबर 2018
सुषमा स्वराज इमेज कॉपीरइट Reuters

भारतीय विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान के विदेशमंत्री शाह महमूह क़ुरैशी को आड़े हाथों लिया है और कहा है 'हम आपकी गुगली में नहीं फंसेंगे.'

सुषमा स्वराज ने ट्वीट करके कहा है, ''पाकिस्तान के श्रीमान विदेशमंत्री- आपकी गुगली वाली बात से कोई और नहीं बल्कि आप ही उजागर हो गए हैं. ये बताता है कि सिख भावनाओं के प्रति आपका कोई सम्मान नहीं है, आप केवल गुगली खेलते हैं.''

सुषमा स्वराज ने आगे कहा, ''मैं आपको ये स्पष्ट कर देना चाहती हूं कि हम आपकी गुगली में नहीं आने वाले. हमारे दो सिख मंत्री पवित्र गुरुद्वारे में प्रार्थना करने के लिए करतारपुर साहिब गए थे.''

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, भारतीय विदेशमंत्री के इस पलटवार से पहले गुरुवार को पाकिस्तानी विदेशमंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा था कि प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने वो गुगली फेंकी कि भारत सरकार को करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के मौके पर अपने मंत्री भेजने पड़े.

पाकिस्तान के विदेशमंत्री ने कहा था कि करतारपुर बॉर्डर को खोलना इमरान ख़ान की सरकार के लिए 'बड़ी उपलब्धि' है.

शाह महमूद क़ुरैशी ने ये बात गुरुवार को तब कही थी जब इमरान ख़ान की सरकार ने अपने कार्यकाल के 100 दिन पूरे किए थे.

इसके जवाब में भारतीय विदेशमंत्री ने शनिवार रात एक के बाद एक, दो ट्वीट करके अपना पक्ष रखा.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

सार्क सम्मेलन में पाकिस्तान नहीं जाएगा भारत: सुषमा

डेरा बाबा नानक के लोगों की बेचैनी की वजह क्या है

इमेज कॉपीरइट TWITTER

इससे पहले भारतीय विदेशमंत्री ने करतारपुर के लिए पाकिस्तान के निमंत्रण को ये कहते हुए ख़ारिज कर दिया था कि उनका कार्यक्रम पहले से तय है, इस वजह से करतारपुर नहीं जा सकेंगी.

उनकी जगह केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और हरदीप सिंह पुरी ने अपनी मौजूदगी दर्ज कराई.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी

इसके बाद हैदराबाद में सुषमा स्वराज ने ये भी कहा था कि करतारपुर कॉरिडोर खोलने का मतलब ये नहीं होगा कि भारत, पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय बातचीत बहाल कर देगा.

उन्होंने कहा था कि जब पाकिस्तान, भारत के ख़िलाफ़ सीमापार से आतंकी गतिविधियां बंद कर देगा, बातचीत तभी होगी.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
क्या सोचते हैं करतारपुर साहिब कॉरिडोर पर पाकिस्तान से लोग

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं.हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे