गर्भवती महिला ने फांसी लगाई, बच्चा खुद जन्मा और बच गया, कैसे?

  • 21 दिसंबर 2018
बच्चा इमेज कॉपीरइट Getty Images

मध्य प्रदेश के कटनी ज़िले में एक गर्भवती महिला की फांसी लगाने के बाद बच्चे को जन्म देने का मामला सामने आया है.

महिला की मौत के बाद जन्मे बच्चे की हालत अब ठीक है.

मामला गुरुवार का है जब शहर के कोतवाली की खिरहनी चौकी क्षेत्र में लक्ष्मी सिंह नाम की गर्भवती महिला ने अज्ञात वजहों से फांसी लगा ली और फांसी में लटके हुए ही उसने एक बच्चे को जन्म दे दिया.

प्लेसेंटा (नाड़ी) से बच्चा मां से जुड़ा हुआ था, जिसे देखकर परिवार वालों ने फौरन पुलिस और अस्पताल दोनों जगह संपर्क किया.

मृत महिला को जन्मे बच्चे के साथ ज़िला अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने बच्चे को गंभीर हालत में पाया. बच्चे को तुरंत अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया, जिसके बाद से बच्चे की हालत में सुधार है.

इमरजेंसी एंबुलेंस सेवा से जुड़े डॉ. माखनलाल सेन ने बताया, "हमारे पास मैसेज आया कि एक औरत ने फांसी लगा ली है और उसका बच्चा फंसा हुआ है. हम लोग वहां पहुंचे तो महिला की डिलीवरी हो चुकी थी और बच्चा प्लेसेंटा से फंसा हुआ था."

"हम तुरंत वहां पहुंचे और बच्चे को मां से अलग किया. बच्चा उस समय ठीक स्थिति में नहीं था. हम लोगों ने तुरंत उसे आईसीयू में भर्ती कराया. अब उसकी हालात ठीक है."

वहीं कटनी सिविल अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. यशवंत वर्मा इस घटना के बारे में बताते हैं, "महिला गर्भवती थी और 9वें महीने में थी. बच्चे का वजन लगभग दो किलो का था. जब महिला फंदे में झूली तो बच्चा ग्रेविटी की वजह से नीचे आ गया."

डॉ. यशवंत वर्मा ने बताया, ''जब हम ज़िंदा होते है तो बहुत सी चीज़ों को रोके रखते है लेकिन मौत के बाद उस पर काबू नहीं होता. यही इस मामले में हुआ कि जब वो महिला फांसी पर झूली तो बच्चा नीचे चला गया और बाहर आ गया."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आत्महत्या की वजह पता नहीं

महिला के पति संतोष सिंह का कहना है कि उनके परिवार में सब कुछ ठीक चल रहा था.

उन्होंने कहा, "हमेशा की तरह रात को हमारा परिवार खाना खाकर सो गया. मैं लगभग 6 बजे सुबह उठा तो वो नहीं दिखी."

संतोष सिंह ने बताया कि सुबह के वक़्त दूसरे बच्चे सो रहे थे. पहले उन्होंने अपनी पत्नी को देखा, जब वो नहीं मिली तो वो गाय के बांधने वाले स्थान पर चले गए.

वहां पर उनकी पत्नी फंदे में झूली हुई थी और उनका बच्चा भी पेट से निकलकर नाल से लटका हुआ था.

संतोष सिंह के शोर मचाने पर आसपास के लोग आए और उन्होंने फिर पुलिस और अस्पताल को फोन किया.

संतोष के चार और बच्चे हैं, जिनमें दो बेटे और दो बेटियां हैं. महिला के भाई अजमेर सिंह ने बताया कि उन्हें भी इस आत्महत्या की वजह नहीं मालूम.

कटनी एसपी विवेक कुमार लाल ने बताया, "इस प्रकरण में अभी जांच की जा रही है कि मामला क्या था. महिला की मौत हो गई थी. वहीं बच्चे की स्थिती अभी सामान्य है. पुलिस महिला की मौत की जांच कर रही है और पता लगाने की कोशिश कर रही है कि किस वजह से उसने आत्महत्या की."

ये भी पढ़ेंः

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार