शाहरुख़ की दीवानगी ने पहुंचाया था जेल

  • 26 दिसंबर 2018
अब्दुल्लाह शाह और इमरान वारसी इमेज कॉपीरइट Getty Images

पिछले हफ़्ते छह साल की सज़ा पूरी करने के बाद मुंबई के हामिद निहाल अंसारी को पाकिस्तान से भारत भेजा गया था जिन्होंने फ़ेसबुक पर दोस्ती के बाद एक लड़की से मिलने के लिए सरहद पार की और जेल पहुँच गए.

और इसके एक हफ़्ते बाद ऐसा ही कुछ हुआ पाकिस्तान के दो लोगों के साथ जिन्हें भारत में सज़ा पूरी करने के बाद पाकिस्तान भेज दिया गया.

इनमें से एक ने शाहरूख़ ख़ान से मिलने के लिए सीमा पार की थी तो दूसरे को अपनी ममेरी बहन से प्यार हो गया.

ये दोनों बिना दस्तावेज़ भारत आ गए थे और हामिद की तरह ये भी क़ानून के शिकंजे में आ गए.

अब्दुल्लाह शाह और इमरान वारसी को बुधवार को अटारी वाघा बोर्डर पर पाकिस्तानी रेंजर्स के सुपुर्द कर दिया गया.

इमेज कॉपीरइट BBC/Ravinder Singh

स्वात के रहनेवाले 21 साल के अब्दुल्लाह को ऑटिज़्म है. मगर बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान से मिलने की चाहत इतनी ज़्यादा थी कि 2017 में वो बिना दस्तावेज़ भारत चले आए.

अब्दुल्लाह अपने परिवार के साथ वाघा बोर्डर एक समारोह में आए थे लेकिन किसी तरह वो बचकर भारतीय सीमा में चले आए.

उनका शाहरूख़ से मिलने का सपना तो अधूरा ही रहा पर भारत में वो गिरफ़्तार ज़रूर हो गए और फिर उन्हें लगभग 18 महीने जेल में काटने पड़े.

वहीं इमरान वारसी की कहानी ये है कि वो 2004 में अपने कुछ रिश्तेदारों से मिलने कोलकाता आए थे और वहां उन्हें अपनी ममेरी बहन से प्यार हो गया. दोनों ने शादी कर ली, और उनके दो बच्चे भी हैं.

मगर 2008 में उन्हें साज़िश और जालसाजी के आरोप में भोपाल में गिरफ़्तार कर लिया गया.

10 साल की सज़ा पूरी करने के बाद इमरान वारसी को भी पाकिस्तान भेज दिया गया है.

भारत-पाकिस्तान, शाबाश! ऐसे ही लगे रहो ताकि दुनिया का मन लगा रहे

इमेज कॉपीरइट BBC/Ravinder Singh

मीडिया से बात करने पर अब्दुल्लाह ने बताया कि शाहरुख़ के लिए उनका प्यार आज भी कायम है.

उन्होंने बताया, ''मैं वीज़ा के साथ फिर भारत आऊंगा और शाहरुख़ से मिलूंगा. मुझे भारत पसंद है.''

अब्दुल्लाह ने ये भी बताया कि उन्होंने शाहरुख़ की सारी फ़िल्में देखी हैं और मीडिया के सामने सीमा पर अब्दुल्लाह ने शाहरुख का एक पोज़ करके भी दिखाया.

वहीं वारसी का कहना है कि वे अपने परिवार को लेने भारत दोबारा आयेंगे.

सीमा पार करते ही दोनों पाकिस्तानियों को अपने वतन की धरती पर सिर झुकाते और उसे चूमते हुए देखा गया.

इमेज कॉपीरइट Facebook
Image caption हामिद निहाल अंसारी

हाल ही में इसी तरह का मामला सामने आया था जब भारत के हामिद निहाल अंसारी को पाकिस्तान से भारत भेजा गया था.

हामिद बिना दस्तावेज़ों के एक लड़की से मिलने पाकिस्तान पहुंच गए थे, जहां उन्हें जासूसी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया था.

उन्होंने वहां छह साल की सजा पूरी की और वाघा बॉर्डर के रास्ते भारत लौटे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार