मिशेल ने लिया 'मिसेज गांधी' का नाम: अगस्ता वेस्टलैंड मामले में ईडी का दावा

  • 29 दिसंबर 2018
क्रिश्चियन मिशेल इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption क्रिश्चियन मिशेल

अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर ख़रीद मामले में कथित तौर पर बिचौलिए की भूमिका निभाने वाले क्रिश्चियन मिशेल को शनिवार को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया.

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से बताया गया है कि क्रिश्चियन मिशेल ने कोर्ट के सामने अपना बयान दर्ज़ कराया है.

ईडी के अनुसार मिशेल ने अपने बयान में 'श्रीमती गांधी' नाम का ज़िक्र भी किया. हालांकि अभी यह साफ़ नहीं हो सका है कि मिशेल ने यह नाम किस संदर्भ में लिया.

पटियाला हाउस कोर्ट में मौजूद बीबीसी के सहयोगी पत्रकार सुचित्र मोहंती ने बताया कि अदालत ने मिशेल को सात दिन की रिमांड पर भेज दिया है, साथ ही अदालत ने आदेश दिया है कि मिशेल के वकील जब भी उनसे मुलाक़ात करें तो एक तय दूरी बनाकर रखें.

अदालत ने मिशेल के वकीलों के मिलने का वक़्त भी निर्धारित कर दिया है, वे अब रोज़ाना सुबह और शाम 15 मिनट ही मिशेल से मुलाक़ात कर सकेंगे.

सुचित्र मोहंती ने बताया कि ईडी चाहती थी कि मिशेल को उनके वकीलों से मिलने पर रोक लगाई जा सके क्योंकि ईडी को शक़ है कि मिशेल को उनके वकीलों के ज़रिए बाहरी लोग संदेश भिजवा सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

दिसंबर की शुरुआत में लाए गए भारत

क्रिश्चियन मिशेल को 5 दिसंबर को दुबई से भारत प्रत्यर्पित किया गया था.

उस समय सीबीआई ने बताया था कि मिशेल को भारत प्रत्यर्पण करने का ऑपरेशन राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के निर्देशन में चलाया गया था.

मिशेल को भारत लाने के लिए सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर साई मनोहर की अगुवाई में अधिकारियों की एक टीम दुबई गई थी.

57 बरस के मिशेल की अपील कोर्ट में ख़ारिज होने के बाद संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) सरकार ने मिशेल के प्रत्यर्पण को हरी झंडी दे दी थी.

मिशेल को भारत लाए जाने के अगले ही दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक चुनावी रैली में कहा था कि 'राजदार आ गया है, अब सारे राज़ खुलेंगे.'

इमेज कॉपीरइट Getty Images

क्या है अगस्ता वेस्टलैंड मामला?

ब्रितानी-इतालवी कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड के साथ हुए 77 करोड़ डॉलर के इस सौदे पर रिश्वतखोरी के आरोप लगे थे. भारत सरकार ने साल 2010 में 12 वीवीआईपी हेलीकॉप्टरों की ख़रीद का सौदा किया था.

अगस्ता वेस्टलैंड को सौदा दिलाने में मिशेल के कथित तौर पर बिचौलिये की भूमिका निभाने और भारतीय अधिकारियों को कथित तौर पर रिश्वत देने की जानकारी साल 2012 में सामने आई थी.

इन 12 में से तीन हेलीकॉप्टर भारत पहुंच भी चुके थे लेकिन सौदे की क़ीमतों में गड़बड़ियों की बातें सामने आने के बाद बाक़ी के नौ हेलीकॉप्टर भारत लाने पर रोक लग गई.

फिनमैकानिका इटली की कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड की सहयोगी कंपनी है और इसमें सौदे में 30 फ़ीसदी हिस्सेदारी इटली की सरकार की है.

इमेज कॉपीरइट LEONARDO COMPANY

इस सौदे के एक साल बाद इटली की मीडिया में ऐसी रिपोर्टें आईं कि यूरोप में दो बिचौलियों को गिरफ़्तार किया गया है जिन्होंने इस सौदे को कराने में अहम भूमिका निभाई. माना जाता है कि उन्हीं से एक कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल हैं.

ये भी पढ़ेंः

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार