प्रियंका गांधी सक्रिय राजनीति में उतरीं, मिली पूर्वी उत्तर प्रदेश की ज़िम्मेदारी

  • 23 जनवरी 2019
प्रियंका गांधी इमेज कॉपीरइट AFP

कांग्रेस ने 2019 आम चुनाव से पहले प्रियंका गांधी को आधिकारिक तौर पर सियासी मैदान में उतार दिया है.

कांग्रेस ने प्रियंका को पार्टी का महासचिव बनाया है और उन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश की ज़िम्मेदारी दी है.

प्रियंका गांधी ये ज़िम्मेदारी फ़रवरी 2019 के पहले हफ़्ते से संभालेंगी.

राहुल गांधी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ''प्रियंका और ज्योतिरादित्य को यूपी दो महीने के लिए नहीं भेजा है. मैंने इस मिशन के साथ दोनों को यूपी भेजा है कि सबके विकास के लिए वो काम करें. ताकि यूपी के युवा को जो चाहिए वो दे सकें. मुझे काफी खुशी है कि मेरी बहन बहुत कर्मठ और सक्षम हैं. हम यूपी की जनता को कहना चाहते हैं कि आपने अब बहुत समय वक़्त ज़ाया किया है. अब आप बीजेपी को हटाइए. हम यूपी को नंबर-1 प्रदेश बनाएँगे.''

प्रियंका के चुनाव लड़ने पर राहुल गांधी ने कहा, ''ये उनके ऊपर है. हम कहीं भी बैकफुट पर नहीं खेलेंगे. जहां मौका मिलेगा हम फ्रंटफुट पर खेलेंगे.'' रॉबर्ट वाड्रा ने प्रियंका को बधाई दी.

इमेज कॉपीरइट AFP

राहुल गांधी ने और क्या कहा

राहुल गांधी ने गठबंधन पर कहा, ''मायावती और अखिलेश के साथ मिलकर काम करने के लिए तैयार हैं. बीजेपी को हराने के लिए जहां भी ज़रूरत होगी, हम बात करने के लिए तैयार हैं. ''

कांग्रेस ने पार्टी में कई अहम फेरबदल किए हैं. प्रियंका के अलावा ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी महासचिव बनाया गया है और उन्हें पश्चिमी उत्तर प्रदेश की ज़िम्मेदारी दी गई है.

गुलाम नबी आज़ाद को यूपी से हटाकर अब हरियाणा की ज़िम्मेदारी दी गई है. कांग्रेस ने केसी वेणुगोपाल को तत्काल प्रभाव से कांग्रेस का संगठन महासचिव बनाया गया है.

वेणुगोपाल ने अशोक गहलोत की जगह ली है.

प्रियंका अब तक अमेठी और राय बरेली में सोनिया गांधी और राहुल गांधी के चुनाव प्रचार की ज़िम्मेदारी संभालती थीं.

लेकिन पहली बार आधिकारिक रूप से उन्हें पार्टी का एक अहम पद दिया गया है.

कांग्रेस के राजीव शुक्ला ने कहा कि इससे कांग्रेस पार्टी को न केवल उत्तर प्रदेश में बल्कि पूरे भारत में राजनीतिक लाभ होगा. लेकिन बीजेपी ने इसपर चुटकी ली है.

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ''हर जगह के नकारने के बाद अब बैसाखी परिवार के भीतर ही खोजी जा रही है. भाजपा और कांग्रेस में एक बुनियादी फ़र्क़ है. बीजेपी में पार्टी ही परिवार है लेकिन कांग्रेस में परिवार ही पार्टी है.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

प्रियंका गांधी के बारे में ख़बर आने के बाद से सोशल मीडिया पर लोगों की प्रतिक्रिया आने लगी हैं.

वरिष्ठ पत्रकार प्रभु चावला ने ट्वीट करके पूछा है कि क्या अब सोनिया गांधी की जगह राय बरेली से प्रियंका गांधी लोकसभा चुनाव लड़ेंगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए