योगी आदित्यनाथ आज कुंभ मेले में करेंगे यूपी कैबिनेट की बैठक- पांच बड़ी ख़बरें

  • 29 जनवरी 2019
योगी आदित्यनाथ इमेज कॉपीरइट Getty Images

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को प्रयागराज में चल रहे महा कुंभ में कैबिनेट बैठक करेंगे.

यह बैठक सुबह 11 बजे शुरू होगी जिसकी अध्यक्षता मुख्यमंत्री करेंगे. इसके अलावा बैठक में दोनों उप-मुख्यमंत्री, कैबिनेट मंत्रियों के अलावा स्वतंत्र प्रभार वाले राज्यमंत्री शामिल हो सकते हैं. बैठक के बाद ख़ुद मुख्यमंत्री योगी संगम में डुबकी लगा सकते हैं.

योगी आदित्यनाथ के अब तक के कार्यकाल में ऐसा पहली बार हो रहा है जब कैबिनेट की बैठक प्रदेश की राजधानी लखनऊ में ना होकर कहीं दूसरी जगह हो रही है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'गठबंधन के लिए उतावले नहीं हैं'

महाराष्ट्र में बीजेपी गठबंधन का हिस्सा रही शिवसेना को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने आड़े हाथों लेते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव में हम (बीजेपी) गठबंधन के लिए उतावले नहीं हैं.

दरअसल सोमवार को शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने 'बीजेपी-शिवसेना' गठबंधन में शिवसेना को बड़ा भाई बताया था और कहा था कि उनकी पार्टी आगे भी बड़े भाई की ही भूमिका में ही रहना चाहेगी.

इस बयान के जवाब में फडणवीस ने कहा, ''बीजेपी असहाय नहीं है, हम गठबंधन चाहते हैं लेकिन राष्ट्र के विकास के लिए. हम हिंदुत्व के संरक्षक और भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ एक मज़बूत ताक़त के रूप में गठबंधन चाहते हैं. हम गठबंधन में आने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन हम उतावले नहीं हैं. बीजेपी वो पार्टी है जिसने दो सीटों से 200 सीटों तक का सफ़र तय किया है.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'मोदी का विरोध राष्ट्र का मिज़ाज दिखाता है'

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने सोमवार को कहा कि तमिलनाडु दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ हुआ विरोध प्रदर्शन 'राष्ट्र की मनःस्थिति' को दिखाता है.

नायडू ने अपने पार्टी नेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि चक्रवाती तूफ़ान 'गज' के कारण राज्य को नुक़सान हुआ और इसको नज़रअंदाज़ करने पर तमिलों ने काले झंडे और गुब्बारे दिखाकर विरोध किया था.

उन्होंने कहा कि मोदी को इससे भी भारी विरोध आंध्र प्रदेश में झेलना होगा.

नायडू ने कहा, "मदुरै का विरोध प्रदर्शन बीजेपी के ख़िलाफ़ राष्ट्र के मिज़ाज को दिखाता है. तमिलनाडु से तुलना की जाए तो केंद्र ने आंध्र प्रदेश के साथ अन्याय किया."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सिद्धारमैया ने महिला के साथ की बदसलूकी

कर्नाटक में सोमवार को मैसूर के क़रीब एक सभा के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया एक स्थानीय महिला कांग्रेस नेता के ख़िलाफ़ भड़क उठे. महिला उनसे सवाल पूछ रही थी जिसके कारण पूर्व मुख्यमंत्री गुस्से में आ गए और उससे बदसलूकी की.

जमीला नामक महिला ने सवाल उठाए थे कि सिद्धारमैया सिर्फ़ चुनाव के वक़्त ही क्यों यहां आए थे जिसके बाद सिद्धारमैया ने उनके हाथ से माइक छीन लिया और फिर थोड़ी देर बाद उन्हें पीछे की ओर धकेल दिया.

इस घटना के बाद महिला ने कहा है कि उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री से बदतमीज़ी से नहीं बोलना चाहिए था और वह सबसे अच्छे मुख्यमंत्री थे. वहीं, सिद्धारमैया ने कहा है कि वह महिला को 15 साल से जानते हैं और वह उनकी बहन की तरह हैं.

बीजेपी नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि यह अपराध है और कांग्रेस नेता सिर्फ़ एक परिवार की महिलाओं का सम्मान करते हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'भारत से आम चुनावों के बाद बातचीत'

पाकिस्तान के सूचना मंत्री फ़वाद चौधरी ने कहा है कि भारत की वर्तमान सरकार से बातचीत करना 'व्यर्थ' है और पाकिस्तान भारत में आम चुनावों के परिणाम के बाद ही बात करेगा.

उन्होंने कहा कि इस समय भारतीय नेताओं के साथ बात नहीं की जानी चाहिए क्योंकि वे आम चुनावों की तैयारी कर रहे हैं और जब तक भारत में स्थिरता नहीं आ जाती है तब तक बात करना व्यर्थ है.

उन्होंने कहा कि भारत के साथ बातचीत के प्रयासों में इसलिए देरी की गई क्योंकि भारत के वर्तमान नेतृत्व से किसी बड़े फ़ैसले की उम्मीद नहीं की जा सकती है.

ये भी पढ़ें:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार