नरेंद्र मोदी को गुवाहाटी में दिखाए गए काले झंडे: आज की पांच बड़ी ख़बरें

  • 9 फरवरी 2019
नरेंद्र मोदी, गुवाहाटी, नागरिकता बिल इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption असम में बीजेपी की सहयोगी रही असम गण परिषद ने नागरिकता बिल के ख़िलाफ़ मार्च निकाला.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को असम में नागरिकता बिल को लेकर भारी विरोध का सामना करना पड़ा.

पीएम मोदी के गोपीनाथ बारदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से राजभवन जाते समय ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन के सदस्यों ने उन्हें काले झंडे दिखाए और बिल के ख़िलाफ़ नारेबाजी की.

गुवाहाटी विश्वविद्यालय के गेट पर पीएम को काले झंडे दिखाए गए और 'मोदी गो बैक' व 'नागरिकता बिल संशोधन बिल समाप्त करो' के नारे लगे.

प्रधानमंत्री पूर्वोतर राज्यों के दो दिन के दौरे पर पहुंचे हुए हैं. वह अरुणाचल प्रदेश और त्रिपुरा भी जाने वाले हैं.

पीमए मोदी के आगे के कार्यक्रम को देखते हुए विरोध प्रदर्शन के और बढ़ने की आशंका है.

असम में बीजेपी की सहयोगी रही असम गण परिषद ने भी बिल के ख़िलाफ़ शुक्रवार शाम बड़े पैमाने पर मशाल लेकर मार्च निकाला.

इमेज कॉपीरइट PTI

पूर्व सीबीआई प्रमुख के पारिवारिक दोस्त पर छापा

कोलकाता में पुलिस ने एक गैर बैंकिंग फ़ाइनेंस फ़र्म (एनबीएफ़सी) एंगेला मर्चेंटाइल प्राइवेट लिमिटेड पर छापे मारे हैं.

ये कंपनी सीबीआई के अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव के पारिवारिक दोस्त प्रवीण अग्रवाल की है.

एक बयान में राव ने इस फ़र्म को अपने आप से जोड़ने वाली मीडिया रिपोर्टों को खारिज किया है.

वहीं, कोलकाता पुलिस का कहना है कि जिन फ़र्म पर छापेमारी की गई है वो क़ानून के तहत पंजीकृत नहीं है.

आरोप है कि राव की पत्नी एम संध्या और कंपनी के बीच कई वित्तीय लेनदेन हुए हैं लेकिन नागेश्वर राव का कहना है कि 'काले धन का कोई सवाल ही नहीं उठता है.'

सीबीआई ने हाल ही में शारदा चिंटफंड घोटाले की पूछताछ के लिए कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पहुंची थी जिसके बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी धरने पर बैठ गईं थीं.

अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर राजीव कुमार को सीबीआई के समक्ष पूछताछ के लिए उपस्थित होना है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption पुलिल कमिश्नर राजीव कुमार के साथ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी

कोलकाता पुलिस कमिश्नर से आज पूछताछ

सीबीआई आज कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से शारदा चिटफंड घोटाले के मामले में पूछताछ करेगी. राजीव कुमार पर इस घोटाले में सबूतों को नष्ट करने के आरोप हैं.

राजीव कुमार पूछताछ के लिए मेघालय की राजधानी शिलॉन्ग पहुंच चुके हैं. सीबीआई एक अज्ञात स्थान पर उनसे पूछताछ करेगी. सीबीआई अधिकारियों का एक समूह इसके लिए दिल्ली से आ रहा है.

सीबीआई के कोलकाता में राजीव कुमार के घर पहुंचने के बाद खड़े हुए विवाद के चलते ये मामला सुप्रीम कोर्ट चला गया था. कोर्ट ने बंगाल से बाहर शिलॉन्ग में उनसे पूछताछ करने के आदेश दिए थे.

ये मामला पहले ही राजनीतिक रूप ले चुका है और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और सत्ताधारी बीजेपी एक-दूसरे पर राजनीति करने का आरोप लगा रहे हैं.

एक दिन में स्वाइन फ़्लू के 100 मामले

इमेज कॉपीरइट ANKUR JAIN

राजस्थान में एक दिन में स्वाइन फ़्लू के 100 मामले सामने आए हैं. जबकि इस साल की शुरुआत से अब तक राज्य में स्वाइन फ़्लू से करीब 100 लोगों की मौत हो चुकी है.

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक पूरे राज्य में स्वाईन फ़्लू से पिछले 48 घंटों में नौ लोगों की जान जा चुकी है. इन चिंताजनक आंकड़ों के बाद सरकार ने बीमारी की जांच तेज कर दी है.

स्वाइन फ़्लू के मामले में राजस्थान के हालात काफ़ी ख़राब हैं. स्वाइन फ्लू के 70 प्रतिशत मामले राजस्थान में ही सामने आए हैं.

देश में मिले 6,000 मामलों में से 2,793 अकेले राजस्थान से ही हैं. पिछले साल यहां स्वाइन फ़्लू के 1088 मामले पाए गए थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

जेफ़ बेज़ोस ने लगाया ब्लैकमेल करने का आरोप

अमेज़न कंपनी के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी जेफ़ बेज़ोस ने एक अमरीकी अख़बार पर उन्हें ब्लैकमेल करने के आरोप लगाए हैं.

दुनिया के सबसे अमीर शख्स जेफ़ बेज़ोस का कहना है कि नेशनल एंक्वॉयरर नामक एक टैबलॉयड ने उन्हें ब्लैकमेल किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि अख़बार एक महिला के साथ उनकी नग्न तस्वीरों को लेकर उन्हें ब्लैकमेल कर रहा है.

अमरीका के संघीय अभियोजक जेफ़ बेज़ोस के दावों की समीक्षा कर रहे हैं. नेश्नल एंक्वॉयरर टेबलॉयड की पेरेंट कंपनी अमरीकन मीडिया इंक यानी एएमआई है.

एएमआई ने अपने बयान में कहा है कि उन्होंने क़ानून के दायरे में रहते हुए रिपोर्टिंग की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार