मुलायम सिंह यादव ने कहा कि मोदी फिर देश के प्रधानमंत्री बनें

  • 13 फरवरी 2019
इमेज कॉपीरइट Loksabha TV

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी नेता मुलायम सिंह यादव ने संसद भवन में अपने भाषण में कहा कि वो चाहते हैं कि मोदी फिर से देश के प्रधानमंत्री बनें.

अपने संबोधन में मुलायम सिंह यादव ने कहा, "मेरी कामना है कि जितने माननीय सदस्य हैं, दोबारा फिर जीत जाएं. मैं ये भी चाहता हूं, हम लोग तो बहुमत से नहीं आ सकते हैं, प्रधानमंत्री जी आप फिर बने प्रधानमंत्री. हम चाहते हैं जितने सदन में बैठे हैं सब स्वस्थ रहें, सब मिलकर फिर सदन चलाएं."

मुलायम सिंह ने कहा, "मैं प्रधानमंत्री जी को बधाई देना चाहता हूं. प्रधानमंत्री जी आपने भी सबसे मिलजुल करके और सबका काम किया है. ये सही है कि हम जब-जब मिले, किसी काम के लिए कहा तो आपने उसी वक़्त आर्डर किया. मैं आपका यहां पर आदर करता हूं, सम्मान करता हूं, कि प्रधानमंत्री जी ने सबको साथ लेकर चलने का पूरा प्रयास किया."

इमेज कॉपीरइट Loksabha TV

उन्होंने कहा, "मैं चाहता हूं, मेरी कामना है कि सदन के जितने माननीय सदस्य हैं दोबारा फिर से जीत जाएं, मेरी ये भी कामना है कि आप फिर से प्रधानमंत्री बनें."

समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश में अहम राजनीतिक दल है और वह बहुजन समाज पार्टी के साथ मिलकर नरेंद्र मोदी की भाजपा के ख़िलाफ़ चुनाव लड़ने जा रही है. ऐसे में मुलायम के इस बयान पर उनके बेटे अखिलेश यादव से सवाल किए जा सकते हैं.

वहीं सदन में अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "मुलायम सिंह जी ने मुझे आशीर्वाद दे दिया है."

दूसरी ओर एक प्रेसवार्ता में जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, "मैं उनसे सहमत नहीं हूं."

सदन में मोदी ने क्या कहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोलहवीं लोकसभा के आख़िरी सत्र के अंतिम दिन संसद में अपने संबोधित में मुलायम को विशेष रूप से शुक्रिया कहा.

नरेंद्र मोदी ने इस दौरान कहा कि उनके कार्यकाल में देश ने कई उपलब्धियां हासिल कीं. प्रधानमंत्री ने इस दौरान कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी पर भी निशाना साधा.

मोदी ने राहुल का नाम लिए बिना निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोगों ने संसद में भूकंप लाने की बात कही थी लेकिन कोई भूकंप नहीं आया.

मोदी ने कहा कि गले मिलना और गले पड़ने में क्या फ़र्क़ होता है, इसी संसद में पता चला.

इमेज कॉपीरइट Loksabha TV

मोदी ने कहा, ''इस सदन में पहली बार यह दिखा कि आंखों से गुस्ताखियां क्या होती हैं. इस सदन में ऐसी हंसी सुनने को मिलती थी कि अच्छे-अच्छे कलाकार भी नहीं कर पाएंगे.''

राहुल ने मोदी को संसद में गला लगाया था और आंख मारते भी उनका एक वीडियो आया था.

मोदी ने पूर्ण बहुमत वाली सरकार के महत्व को भी रेखांकित किया.

प्रधानमंत्री ने कहा, ''पूर्ण बहुमत वाली वाली सरकार को दुनिया तवज्जो देती है. पूर्ण बहुमत वाली सरकार का कोई प्रधानमंत्री किसी विश्व नेता से मिलता है तो पता होता है कि इस नेता के पास बहुमत है.''

इमेज कॉपीरइट Loksabha TV

मोदी ने कहा कि दुनिया भर में भारत की प्रतिष्ठा बढ़ी है तो इसमें सुषमा और मोदी का योगदान नहीं है बल्कि 2014 में पूर्ण बहुमत मिलने के कारण ऐसा हुआ.

मोदी ने कहा कि मानवता के काम में भारत ने पड़ोसी देशों में अहम भूमिका अदा की. प्रधानमंत्री ने कहा, ''योग को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता दिलाई.

उहोंने कहा, ''करीब 219 बिल पेश हुए और 203 बिल पास हुए. सोलहवीं लोकसभा के बारे में अगर किसी को बताऊंगा तो इस बात के बारे में ज़रूर बात की जाएगी कि काले धन और भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ क़ानून इसी सदन ने बनाया. आर्थिक अपराधियों और भगोड़ों के ख़िलाफ़ क़ानून इसी सदन ने बनाया.''

संसद में मुलायम सिंह जब नरेंद्र मोदी के फिर से पीएम बनने की कामना कर रहे थे तो एनसीपी सांसद और शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले भी वहीं बैठी थीं.

सुप्रिया सुले से जब मुलायम सिंह की टिप्पणी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ''मैंने आदरणीय मुलायम सिंह जी को 2014 में मनमोहन सिंह के बारे में भी ऐसा कहते सुना था.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक,ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए