Valentine's Day पर वायरल हुए लड़के की पिटाई के वीडियो की हक़ीक़त: फ़ैक्ट चेक

  • 14 फरवरी 2019
सोशल मीडिया इमेज कॉपीरइट SM Viral Video Grab

सोशल मीडिया पर एक लड़के की पिटाई का वीडियो तेज़ी से शेयर किया जा रहा है और बीते 48 घंटे में लाखों बार इस वीडियो को फ़ेसबुक पर देखा गया है.

30 सेकेंड के इस वीडियो में लड़कियों के एक समूह को लड़के की पिटाई करते हुए देखा जा सकता है.

फ़ेसबुक समेत अन्य चैटिंग एप्स पर अधिकांश लोगों ने इसे 'प्रपोज़ डे और वैलेंटाइंस डे पर मनचले की पिटाई' का वीडियो बताया है.

लेकिन सभी जगह इस वीडियो की लोकेशन अलग-अलग बताई गई है.

सोशल मीडिया पर लोगों ने दावा किया है कि ये वीडियो मध्य प्रदेश के रतलाम, राजस्थान के कोटा, उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद और छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा ज़िले का है.

इमेज कॉपीरइट SM Viral Video Grab

कुछ लोगों ने दैनिक भास्कर अख़बार की एक रिपोर्ट के हवाले से ये दावा किया है कि वीडियो रतलाम का ही है.

लेकिन अपनी पड़ताल में हमने इन सभी दावों को ग़लत पाया. साथ ही ये भी कि 'वैलेंटाइंस डे' या 'वैलेंटाइंस वीक' से इस वीडियो का कोई लेना-देना नहीं है.

तो वीडियो है कहां का?

वैलेंटाइंस डे के दिन वायरल हो रहा ये वीडियो दरअसल राजस्थान का है.

अगस्त 2018 में छपीं मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ये घटना जोधपुर से सटे रानीवाड़ा संभाग की है जहाँ कस्बे में स्थित राजकीय बालिका विद्यालय में पढ़ने वाली छात्राओं ने छेड़खानी के आरोप में एक लड़के की पिटाई कर दी थी.

राजस्थान के स्थानीय पुलिस (रानीवाड़ा थाना) अधिकारियों ने बीबीसी से बातचीत में कहा कि पिटाई के इस मामले में बाद में क्या हुआ था, इसकी जानकारी फ़िलहाल थाने में उपलब्ध नहीं है क्योंकि नई सरकार बनने के बाद ज़्यादातर अफ़सरों के तबादले हो चुके हैं.

उस समय छपीं कुछ अन्य मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ये स्कूली छात्राओं से रोज़मर्रा में होने वाली छेड़छाड़ और अभद्रता का मामला था जिससे तंग आकर लड़कियों ने एक 'मनचले' युवक को पकड़कर पीट दिया था.

इमेज कॉपीरइट SM Viral Video Grab

दिलचस्प बात है कि दैनिक भास्कर की वेबसाइट ने 8 अगस्त 2018 को जिस घटना को राजस्थान के जोधपुर का बताकर छापा था, उसी घटना के वीडियो को वेबसाइट ने 11 फ़रवरी 2019 के दिन मध्य प्रदेश के रतलाम का बताकर शेयर किया है.

यही नहीं, न्यूज़-18 भी इस वीडियो को अगस्त 2018 में पहले छाप चुका है, जिसे अब वेबसाइट ने दोबारा 'वायरल वीडियो' बताकर शेयर किया है. हालांकि अपनी ख़बर में उन्होंने घटना की जगह बदल दी है.

इमेज कॉपीरइट WEBSITE GRAB

राजस्थान के दैनिक अख़बार 'राजस्थान पत्रिका' ने भी बुधवार 13 फ़रवरी को दूसरे पेज पर इसी वायरल वीडियो के आधार पर एक बड़ी ख़बर छापी, जिसके बारे में जोधपुर पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि ख़बर बेबुनियाद है.

पढ़ें 'फ़ैक्ट चेक' की अन्य कहानियाँ:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार