पुलवामा CRPF हमला: कश्मीर के लिए अर्धसैनिक बलों को मिलेगा हवाई टिकट

  • 21 फरवरी 2019
पैरामिलिट्री फोर्स इमेज कॉपीरइट EPA

भारत प्रशासित कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल यानी सीआरपीएफ़ पर आत्मघाती हमले के बाद केंद्र सरकार ने जवानों की सुरक्षा के मद्देनजर अहम फ़ैसला लिया है.

अब अर्ध सैनिक बलों के जवानों को श्रीनगर आने और जाने के लिए हवाई यात्रा की सुविधा मिल सकेगी.

गृह मंत्रालय की ओर से जारी आदेश के मुताबिक दिल्ली-श्रीनगर, श्रीनगर-दिल्ली, जम्मू-श्रीनगर और श्रीनगर-जम्मू के बीच किसी भी यात्रा के लिए अर्धसैनिक बल के जवान हवाई सफर कर सकेंगे. केंद्रीय सशस्त्र अर्धसैनिक बलों के सभी जवानों पर यह आदेश लागू होगा.

इस आदेश से अर्ध सैनिक बलों के 7 लाख 80 हज़ार जवानों को लाभ होगा. इनमें कॉन्स्टेबल, हेड कॉन्स्टेबल और एएसआई से लेकर अन्य वे सभी जवान शामिल हैं. इन जवानों को अब तक हवाई यात्रा करने की सुविधा नहीं थी.

गृह मंत्रालय ने इस फ़ैसले को तुरंत लागू करने का आदेश दिया है. आदेश के मुताबिक जवान ड्यूटी के दौरान यात्रा करने के अलावा छुट्टी पर श्रीनगर से वापस जाने या फिर आने के लिए भी हवाई यात्रा कर इस्तेमाल कर सकेंगे.

सीआरपीएफ़ के काफ़िले पर हमला

14 फ़रवरी को दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा ज़िले में जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर सीआरपीएफ़ के क़ाफ़िले पर फ़िदायीन हमले में 40 से अधिक जवान मारे गए थे.

इस हमले की ज़िम्मेदारी चरमपंथी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी.

इस हमले की चौतरफ़ा निंदा हो रही है. इसके साथ ही सरकार पर सवालिया निशान भी उठ रहे हैं. कुछ रक्षा विशेषज्ञों ने ये भी पूछा है कि इन जवानों को सड़क मार्ग के बजाय हवाई यात्रा के ज़रिए क्यों नहीं भेजा जा रहा था.

कई विशेषज्ञ बता चुके हैं कि सड़क की जगह हवाई यात्रा कम समय में पूरी की जा सकती है और वह अधिक सुरक्षित भी है.

सेना के आवागमन के दौरान आम ट्रैफ़िक रोका जाएगा- राजनाथ सिंह

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption जम्मू में कर्फ़्यू के दौरान सैनिक गश्त कर रहे हैं

सेना के आवागमन के दौरान आम ट्रैफ़िक रोका जाएगा

सीआरपीएफ़ के काफ़िले पर हुए आत्मघाती हमले के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह श्रीनगर के दौरे पर गए थे. वहां उन्होंने घोषणा की थी कि जम्मू-कश्मीर में बड़े क़ाफ़िले के जाने के दौरान आम लोगों का ट्रैफ़िक रोका जाएगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने कहा था, "सीआरपीएफ़ क़ाफ़िले पर जिस तरह से फ़िदायीन हमला हुआ है उसे देखते हुए यह फ़ैसला हुआ है कि बड़े क़ाफ़िले के जाने के दौरान आम लोगों का ट्रैफ़िक थोड़े समय के लिए रोका जाएगा. आम लोगों को थोड़ी देर के लिए असुविधा हो सकती है उसके लिए हम माफ़ी चाहेंगे."

ये भी पढ़ेंः

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार