इमरान ख़ान का बयान, मोदी 'शांति लाने को एक मौका दें': प्रेस रिव्यू

इमरान ख़ान और मोदी

इमेज स्रोत, MEA/INDIA

अमर उजाला के मुताबिक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने रविवार को अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी से 'शांति लाने को एक मौका देने' की बात कही और उन्हें यकीन दिलाया कि वह अपनी जुबान पर 'कायम' रहेंगे और अगर भारत पुलवामा हमले पर पाकिस्तान को 'कार्रवाई योग्य खुफिया जानकारी' उपलब्ध कराता है तो इस पर 'तत्काल' कार्रवाई की जाएगी.

इमरान ख़ान का बयान राजस्थान में पीएम मोदी की उस रैली के बाद आई है, जिसमें उन्होंने कहा था, "आतंकवाद के ख़िलाफ़ पूरी दुनिया में आम सहमति है. आतंकवाद के दोषियों को दंडित करने के लिए हम मजबूती से आगे बढ़ रहे हैं. इस बार हिसाब होगा और बराबर होगा. यह बदला हुआ भारत है, इस दर्द को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. हम जानते हैं आतंकवाद को कैसे कुचलना है."

पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनने के बाद खान को बधाई देने के लिए फोन पर उनके साथ हुई अपनी बातचीत को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मैंने उनसे कहा, 'आइए गरीबी और अशिक्षा के खिलाफ लड़ाई लड़ें. इस पर खान ने कहा था कि मोदीजी मैं पठान का बच्चा हूं, सच्चा बोलता हूं, सच्चा करता हूं. आज उनके शब्दों को कसौटी पर तौलने का वक़्त है.'

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी बयान के अनुसार, "प्रधानमंत्री इमरान ख़ान अपनी जुबान पर कायम हैं कि अगर भारत कार्रवाई योग्य ख़ुफिया जानकारी देता है तो हमलोग तत्काल कार्रवाई करेंगे." ख़ान ने बयान में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को 'शांति को एक मौका' देना चाहिए.

जुड़वा बच्चों की अपहरण के बाद हत्या

इमेज स्रोत, Getty Images

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक मध्य प्रदेश के चित्रकूट ज़िले में 12 फ़रवरी को जिन पांच वर्षीय जुड़वा भाइयों का स्कूल बस में बंदूक की नोक पर अपहरण हुआ था, अब उनके शव (शनिवार को) यूपी के बांदा में मिले हैं.

इस घटना के बाद चित्रकूट में लोगों में भारी गुस्सा है, अनहोनी से बचने के लिए प्रशासन ने वहां अभी धारा-144 लागू कर दी है. एमपी पुलिस ने इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया है और साथ में वारदात में इस्तेमाल किए गए बाइक भी बरामद कर लिए हैं.

इन दोनों भाइयों को स्कूल बस के अंदर से 12 फ़रवरी को किडनैप किया गया था. अपहरणकर्ताओं ने बच्चों के पिता से 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी. बच्चों के पिता उन्हें 20 लाख रुपये दे भी चुके थे, लेकिन शनिवार रात बच्चों के शव उत्तर प्रदेश के बांदा में बबेरू इलाके के पास यमुना नदी में मिले.

35 ए पर महबूबा की चेतावनी

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने संविधान के अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35-ए पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है कि इन दोनों अनुच्छेद से जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा मिलता है. इनसे किसी तरह की छेड़छाड़ की गई तो राज्य को भारत का अंग बनाने वाला दस्तावेज अमान्य हो जाएगा.

वीडियो कैप्शन,

मोदी की सोच वाजपेयी जैसी नहीं- महबूबा

रविवार को महबूबा ने ट्वीट कर कहा, "अनुच्छेद 370 जम्मू-कश्मीर और भारतीय संघ के बीच संवैधानिक संपर्क है. 'इंस्ट्रूमेंट ऑफ एक्सेशन' (जम्मू-कश्मीर को भारत का अंग बनाने वाला दस्तावेज) अनुच्छेद 370 पर निर्भर करता है, जो अनुच्छेद 35-ए से अभिन्न रूप से जुड़ा हुआ है. इसमें किसी छेड़छाड़ से 'ट्रीटी ऑफ एक्सेशन' (जम्मू-कश्मीर को भारत का अंग बनाने के लिए की गई संधि) अमान्य हो जाएगी."

उन्होंने कहा कि कश्मीर घाटी में अनुच्छेद 35-ए को लेकर तरह-तरह की अटकलों का बाजार गर्म है.

इमेज स्रोत, Bilal Bahadur/BBC

महबूबा ने कहा, "कोई भी फैसला करने से पहले भारत सरकार को इस बात पर निश्चित तौर पर विचार करना चाहिए कि जम्मू-कश्मीर एकमात्र मुस्लिम बहुल राज्य है जिसने विभाजन के दौरान पाकिस्तान की बजाय धर्मनिरपेक्ष भारत के साथ जाने का रास्ता चुना."

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा ने आगाह किया कि यदि विशेष प्रावधान को रद्द किया जाता है तो घटनाओं के लिए कश्मीरियों को जिम्मेदार नहीं ठहराया जाना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)