भारत ने पाकिस्तान का दावा किया ख़ारिज, एफ़-16 विमान के पेश किए सबूत

  • 28 फरवरी 2019
एफ़ 16 विमान के सबूत
Image caption भारत ने पाकिस्तान का दावा खारिज करते हुए हवाई हमले में एफ़16 विमान के इस्तेमाल होने के सबूत पेश किए.

भारत का कहना है कि पाकिस्तान का वो दावा झूठा है जिसमें उसने कहा था कि उसकी सेना ने भारत में एफ़-16 लड़ाकू विमान का इस्तेमाल नहीं किया है.

पाकिस्तान की ओर से भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा करने की घोषणा के बाद गुरुवार शाम भारत की तीनों सेनाओं के वरिष्ठ अधिकारियों ने साउथ ब्लॉक के लॉन में संयुक्त प्रेस वार्ता की.

इस प्रेस कॉन्फ़्रेंस में पाकिस्तान द्वारा भारत प्रशासित कश्मीर में सेना के ठिकानों पर हमले के लिए एफ़-16 लड़ाकू विमान के इस्तेमाल के सबूत पेश किए गए.

भारतीय वायु सेना ने कहा कि पाकिस्तानी वायु सेना का एफ़-16 लड़ाकू विमान भारतीय क्षेत्र में दाख़िल हुआ था और उसने सेना के परिसर को निशाना बनाया था लेकिन नाकाम रहे.

वायु सेना ने बताया कि इस घटना के बाद भारतीय वायु सेना के मिग-21 बाइसन विमानों ने एफ़-16 विमान का पीछा किया और उसे मार गिराया. इस दौरान भारतीय मिग-21 विमान ग़ायब हो गया और भारतीय वायु सेना के पायलट पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में गिरे.

इस प्रेस कॉन्फ़्रेस में थल सेना की ओर से मेजर जनरल सुरेंद्र सिंह महल, वायु सेना की ओर एयर वाइस मार्शल आरजीके कपूर और नौसेना की ओर से रियर एडमिरल दलबीर सिंह गुजराल शामिल हुए थे.

वायुसेना के एयर वाइस मार्शल आरजीके कपूर ने बताया कि 27 फ़रवरी को भारतीय वायु सेना ने भारत प्रशासित कश्मीर में पाकिस्तानी विमानों को दाख़िल होते देखा.

Image caption एयर वाइस मार्शल कपूर

एयर वाइस मार्शल कपूर ने बताया कि पाकिस्तान कहता आया है कि इस घटना में एफ़-16 का इस्तेमाल नहीं हुआ है लेकिन भारत प्रशासित कश्मीर के राजौरी में एफ़-16 की एमरैम मिसाइल के टुकड़े बरामद हुए हैं

विंग कमांडर अभिनंदन की पाकिस्तान से रिहाई की घोषणा पर कपूर ने कहा कि उनके वापस आने की ख़ुशी हुई है और यह जेनेवा कन्वेंशन के तहत लिया गया फ़ैसला है.

वायुसेना ने कहा कि पाकिस्तान झूठे दावे कर रहा है कि उसने एफ़-16 विमान का इस्तेमाल नहीं किया, उनके पास एमरैम मिसाइल के टुकड़ों के अलावा ऐसे इलेक्ट्रॉनिक सिग्नेचर मिले हैं जो यह साबित करता है कि पाकिस्तान ने एफ़-16 का इस्तेमाल किया है.

भारतीय सेना के मेजर जनरल सुरेंद्र सिंह महल ने बताया कि पाकिस्तानी वायु सेना ने ब्रिगेड, बटालियन हेडक्वॉर्टर और लॉजिस्टिक को निशाना बनाया था. उन्होंने बताया कि भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पूरी तैयारी कर रखी है और किसी भी स्थिति के लिए तैयार है.

Image caption एफ़ 16 विमान के सबूत पेश करते भारतीय सेना के मेजर जनरल सुरेंद्र सिंह महल

उन्होंने कहा, "हम शांति चाहते हैं और भड़काऊ कार्रवाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी."

नौसेना के रियर एडमिरल दलबीर सिंह गुजराल ने कहा कि भारतीय नौसेना हर मोर्चे पर तैयार है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान द्वारा किसी भी हरकत को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और नौसेना भारत और उसकी जनता की सुरक्षा में तैनात हैं.

एयर वाइस मार्शल कपूर ने बालाकोट में भारतीय कार्रवाई पर पूछे गए सवाल का भी जवाब दिया.

उन्होंने कहा, "हमारे पास पूरे सबूत हैं कि वहां कितने लोग मारे गए थे और अभी यह कहना जल्दबाज़ी होगी कुल कितने लोग मारे गए. हमारे पास सबूत हैं कि जो जगहें हमें नष्ट करने थे वह हमने नष्ट किए और यह सरकार के ऊपर है कि वह कब सबूत जारी करती है या नहीं."

सेना के मेजर जनरल सुरेंद्र सिंह महल ने कहा कि पिछले दो दिनों में कम से कम 35 बार पाकिस्तान ने सीज़फ़ायर उल्लंघन किया है और भारतीय सेना उसका जवाब दे रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार