फ़ोर्ब्स की 2019 की सूची में मुकेश अंबानी 13वें स्थान पर पहुंचे

  • 7 मार्च 2019
Mukesh Ambani, मुकेश अंबानी, फोर्ब्स, अरबपति, फोर्ब्स 2019 इमेज कॉपीरइट Reuters

फ़ोर्ब्स ने 2019 की सबसे अमीर लोगों की सूची जारी कर दी है. इसके अनुसार दुनिया के सबसे अमीर आदमियों की सूची में मुकेश अंबानी अपनी स्थिति को छह पायदान सुधारते हुए 13वें स्थान पर पहुंच गये हैं.

2018 में मुकेश अंबानी 19वें स्थान पर थे जबकि 2017 में उनका 33वां स्थान था.

इस लिस्ट के अनुसार अमेज़न के संस्थापक जेफ़ बेजोस (131 बिलियन डॉलर) दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बने हुए हैं. उनके बाद बिल गेट्स (96.6 बिलियन डॉलर) और वॉरेन बफ़ेट (82.5 बिलियन डॉलर) का स्थान है.

वहीं, फ़ेसबुक के संस्थापक मार्क ज़करबर्ग (62.3 बिलियन डॉलर) तीन स्थान नीचे (आठवें पर) आ गए हैं जबकि न्यूयॉर्क के पूर्व मेयर माइकल ब्लूमबर्ग (55.5 बिलियन डॉलर) दो स्थान ऊपर (9वें स्थान पर) पहुंचे हैं.

फ़्रांस की एलवीएमएच के सीईओ बर्नार्ड अरनॉल्ट (76 बिलियन डॉलर) इस सूची में चौथे स्थान पर हैं.

पांचवे स्थान पर लैटिन अमरीका की सबसे बड़ी मोबाइल कंपनी 'अमरीका मोविल' के मालिक कार्लोस स्लिम हेलू (64 बिलियन डॉलर) हैं. स्लिम मैक्सिको के सबसे अमीर शख़्स भी हैं.

शीर्ष-10 की सूची में ज़ारा फैशन चेन से प्रसिद्ध 82 वर्षीय अमानसियो ऑरटेगा (62.7 बिलियन डॉलर) छठे, ओरेकल के सह-संस्थापक लैरी इलिसन (62.5 बिलियन डॉलर) सातवें और गूगल के पहले सीईओ रहे लैरी पेज (50.8 बिलियन डॉलर) 10वें स्थान पर हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption फ्रैंकोइस बेटेनकोर्ट

फ़ोर्ब्स की सूची में महिलाएं

पिछले 10 सालों में महिला अरबपतियों की संख्या में 167 फ़ीसदी इज़ाफ़ा हुआ है. 2010 में महिला अरबपतियों की कुल संख्या 91 थी जो 2019 में बढ़कर 243 पर जा पहुंची है.

इस साल टॉप 20 की सूची में केवल दो महिलाएं लोरियल की फ्रैंकोइस बेटनकोर्ट और क्रिस्टल ब्रिजेस म्यूज़ियम ऑफ़ अमेरिकन आर्ट की एलिस वॉल्टन हैं.

बेटनकोर्ट फ्रांसिसी कॉस्मेटिक कंपनी लॉरियल की उत्तराधिकारी हैं जबकि एलिस वॉल्टनअमरीकी सुपरमार्केट वॉलमार्ट के संस्थापक सैम वॉल्टन की इकलौती पुत्री हैं.

इस लिस्ट में सबसे युवा महिला अरबपति बनी हैं काइली जेनर. कार्दाशियां परिवार की जेनर केवल 21 साल की हैं लिहाज़ा उन्होंने मार्क ज़करबर्ग के 23 साल में अरबपति बनने के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है.

जेनर काइली कॉस्मेटिक चलाती हैं, जिसे उन्होंने केवल तीन साल पहले शुरू किया था. इस कंपनी ने बीते वर्ष 360 मिलियन डॉलर का बिज़नेस किया है.

जेनर ने फ़ोर्ब्स से कहा, "मैं कुछ भी उम्मीद नहीं करती. मैं भविष्य के पूर्वानुमान नहीं लगाती."

जेनर ने कहा, " लेकिन (मान्यता) मिलने से अच्छा लगता है. यह मुझे मिली शाबासी है."

फ़ोर्ब्स की 2019 की सूची में 2,153 लोगों के नाम हैं जो 2018 की तुलना में 55 कम है.

2018 में अरबपतियों की संख्या 2,208 थी. इस साल अरबपतियों की कुल संपति 8,700 अरब डॉलर रही जो 2018 में 9,100 अरब डॉलर थी.

फ़ोर्ब्स की यह सूची 8 फ़रवरी के कंपनियों के शेयर और विनिमय दर के आधार पर तैयार की गई है.

इमेज कॉपीरइट PTI

टॉप-100 में केवल चार भारतीय

पिछले एक साल के दौरान मुकेश अंबानी की संपत्ति में भी क़रीब 10 अरब डॉलर का इज़ाफ़ा हुआ है. 2018 में उनकी कुल संपति 40.1 अरब डॉलर थी. यह 2019 में बढ़कर 50 अरब डॉलर पर पहुंच गई है.

2017 में मुकेश अंबानी को 'ग्लोबल गेम चेंजर' का दर्जा दिया गया था.

इस सूची में उनके भाई अनिल अंबानी का नाम भी है लेकिन 1349वें स्थान पर. फ़ोर्ब्स की इस लिस्ट में अनिल अंबानी 2008 में छठे स्थान पर थे.

मुकेश अंबानी के साथ ही शीर्ष 100 अरबपतियों में भारत के अज़ीम प्रेमजी 22.6 अरब डॉलर के साथ 36वें स्थान पर जबकि एचसीएल के सह-संस्थापक शिव नाडर 82वें और आर्सेलर मित्तल के चेयरमैन और सीईओ लक्ष्मी मित्तल 91वें स्थान पर रहे.

वहीं, शीर्ष हज़ार की सूची में आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला (122), अदानी समूह के संस्थापक गौतम अडानी (167), एयरटेल के सुनील मित्तल (244), पतंजलि आयुर्वेद के सह-संस्थापक आचार्य बालकृष्ण (365), पीरामल एंटरप्राइजेज के अध्यक्ष अजय पीरामल (436), बायोकॉन की संस्थापक किरण मजूमदार-शॉ (617), इंफोसिस के सह-संस्थापक एन आर नारायणमूर्ति (962) का नाम शामिल है.

ये भी पढ़ें:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार