भीम आर्मी के चंद्रशेखर फिर हिरासत में, पर क्यों?: आज की पांच बड़ी ख़बरें

  • 13 मार्च 2019
भीम आर्मी इमेज कॉपीरइट Facebook/BHIM ARMY

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर को उत्तर प्रदेश पुलिस ने आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का हवाला देकर हिरासत में ले लिया है.

उन्हें एक रैली के दौरान गिरफ़्तार किया गया. चंद्रशेखर का कहना है कि उनके पास रैली की अनुमति थी, लेकिन पुलिस उन्हें रोकने की कोशिश कर रही थी.

पुलिस और रैली में शामिल चंद्रशेखर के समर्थकों के बीच नोंक-झोंक शुरू हुई, जिसके बाद उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया.

गिरफ़्तारी के बाद चंद्रशेखर की तबीयत बिगड़ गई, जिसके बाद उन्हें पहले मेरठ और मंगलवार देर रात उन्हें दिल्ली रेफ़र कर दिया गया.

उनके समर्थकों ने अपने नेता को गिरफ़्तार किए जाने का विरोध किया और हाइवे जाम कर दिए थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ममता के लोकसभा प्रत्याशियों की सूची में 41% महिलाएं

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनज़र सभी 42 प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी है, जिसमें 41 फ़ीसदी महिलाएं हैं.

दस सांसदों के टिकट काटे हैं, वहीं चार अभिनेत्रियों को भी टिकट दिए गए हैं. भाजपा के प्रत्याशी बाबुल सुप्रियो के ख़िलाफ़ ममता अभिनेत्री मुनमुन सेन को मैदान में उतारेंगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सुप्रीम कोर्ट ने पूछा, प्रदूषण के लिए सिर्फ़ पटाखों पर बैन क्यों

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को कहा कि पटाखे ही प्रदूषण का इकलौता कराण नहीं है. लोग पटाखा उद्योग के पीछे क्यों पड़े हैं, जबकि प्रदूषण के लिए वाहन पटाखों से कहीं ज़्यादा ज़िम्मेदार हैं.

कोर्ट ने देशभर में पटाखों के इस्तेमाल पर पूरी तरह रोक लगाने के लिए दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान यह टिप्पणी की.

कोर्ट ने सरकार से पूछा कि क्या उसने पटाखों और वाहनों से होने वाले प्रदूषण के बीच कोई आनुपातिक अध्ययन कराया है?

जस्टिस एसए बोबड़े और जस्टिस एस अब्दुल नज़ीर की पीठ ने कहा कि वह पटाखा उद्योग में काम कर रहे लोगों के रोज़गार ख़त्म नहीं करना चाहती है. अगली सुनवाई तीन अप्रैल को होगी.

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK/CHANDRASHEKHAR VERMA

मुज़फ़्फ़रपुर शेल्टर होम मामले में पूर्व मंत्री को मिली ज़मानत

पटना हाईकोर्ट ने मंगलवार को आर्म्स एक्ट के मामले में बिहार की पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा को नियमित ज़मानत दे दी है.

मुज़फ़्फ़रपुर शेल्टर होम मामले की जांच के दौरान जब सीबीआई ने बेगूसराय के चेरियाबरियापुर स्थित पूर्व मंत्री के आवास पर छापेमारी की थी, तो उनके आवास से अवैध रूप से रखे गए 50 ज़िदा कारतूस ज़ब्त किए थे.

इसके बाद मंजू वर्मा के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

शांति वार्ता के लिए अमरीका और तालिबान के बीच कई मुद्दों पर सहमति

तालिबान के एक प्रवक्ता ने बीबीसी से कहा है कि अफ़ग़ान शांति वार्ता के ताज़ा दौर में तालिबान और अमरीका के बीच दो अहम मुद्दों पर सहमति बन गई है.

सुहैल शाहीन ने कहा कि दोनों ही पक्ष अफ़ग़ानिस्तान से अमरीकी बलों की वापसी पर चर्चा के लिए सहमत हो गए हैं. अफ़ग़ानिस्तान की ज़मीन से दूसरे देशों पर आतंकवादी हमलों को कैसे रोका जाए इस विषय पर चर्चा के लिए आगे बातचीत होगी.

इससे पहले दो सप्ताह तक क़तर में चली बातचीत में अफ़ग़ानिस्तान सरकार को शामिल नहीं किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार