राहुल गांधी के लिए मंदिर-मंदिर दौड़ रहे हैं मंत्री-प्रेस रिव्यू

  • 16 मार्च 2019
इमेज कॉपीरइट Twitter

द टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक मध्य प्रदेश के मंत्री कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को देश का प्रधानमंत्री बनने की प्रार्थना करने के लिए मंदिरों के चक्कर लगा रहे हैं. मध्य प्रदेश में धार्मिक न्यास के मंत्री पीसी शर्मा इन दिनों मंदिर और अन्य धार्मिक स्थलों के दौरे कर रहे हैं और राहुल गांधी के प्रधानमंत्री बनने की प्रार्थना कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, ''मैंने अब तक कई मंदिरों के दौरे कर लिए हैं. मैं आज मंदसौर के पशुपतिनाथ मंदिर गया. वहां मैंने भगवान से प्रार्थना की है कि पार्टी को आगामी चुनाव में मध्य प्रदेश में बड़ी जीत मिले. साथ ही मैंने भगवान से प्रार्थना की है कि हमारे अध्यक्ष राहुल गांधी देश के प्रधानमंत्री बनें. मैं आज अजमेर शरीफ़ की दरगाह भी गया था.''

बदलाव थोपा नहीं जा सकताः मनमोहन सिंह

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि ईमानदार व्यापारी और वास्तविक उद्यमियों को कभी ये महसूस नहीं होना चाहिए कि राजस्व अधिकारी उनका शोषण कर रहे हैं. द हिंदू के एक कार्यक्रम में बोलते हुए मनमोहन सिंह ने कहा कि सार्वजनिक नीति के क्षेत्र में कोई भी पहल तब तक कामयाब नहीं हो सकती जब तक उसे जनसमर्थन न प्राप्त हो. उन्होंने कहा, हमने अपने लिए लोकतांत्रिक रास्ता चुना है. यहां ऊपर से सत्तावादी लगान के लिए कोई जगह नहीं है.

सब ज़िंदा हैं, ठीक हैंः मसूद अज़हर

इमेज कॉपीरइट iStock

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक जैश-ए-मोहम्मद के संस्थापक मसूद अज़हर ने अपने साप्ताहिक कॉलम में कहा है कि हवाई हमले में जैश को कोई नुक़सान नहीं पहुंचा है और सब ठीक हैं.

सादी नाम से अल कलाम नाम की पत्रिका के कॉलम में मसूद अज़हर ने कहा है कि जैश-ए-मोहम्मद को नुक़सान होने और उनके स्वास्थ्य के बारे में फ़र्ज़ी ख़बरें चलाई जा रही हैं.

उन्होंने कहा, ऐसा कुछ नहीं हुआ है, सभी ज़िंदा हैं और सब ठीक है. मसूद अज़हर ने अपने सेहत को साबित करने के लिए भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ तीरअंदाज़ी या निशानेबाज़ी के मुक़ाबले की चुनौती भी दी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार