Nirav Modi: नीरव मोदी को नहीं मिली ज़मानत,अब आगे क्या?

  • 20 मार्च 2019
इमेज कॉपीरइट Getty Images

लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने भारत के हीरा कारोबारी नीरव मोदी की ज़मानत याचिका ख़ारिज कर दी है.

नीरव मोदी को मंगलवार को लंदन में गिरफ़्तार किया गया था.

उन पर पंजाब नेशनल बैंक से क़रीब 13 हज़ार करोड़ रुपए का उधार लेकर न चुकाने के आरोप हैं.

भारत ने अगस्त में ब्रिटेन से नीरव मोदी को प्रत्यर्पित करने की मांग की थी.

इसे भारत का सबसे बड़ा बैंक घोटाला भी माना जाता है.

लंदन पुलिस ने बीबीसी को बताया है कि 48 वर्षीय मोदी को लंदन के होल्बोर्न इलाक़े से मंगलवार को गिरफ़्तार किया गया था जिसके बाद उन्हें बुधवार को लंदन के वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश किया गया.

लंदन स्थित वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने उनके ख़िलाफ़ वॉरेंट जारी किया था जिसके बाद उन्हें गिरफ़्तार किया गया है.

नीरव मोदी के मामले में अब आगे क्या?

ज़ईवाला एंड कंपनी से जुड़े वरिष्ठ सरोश ज़ईवाला कहते हैं, "नीरव मोदी का मामला भी ठीक ऐसे ही चलेगा जैसे विजय माल्या का मामला चला है. माल्या को गिरफ़्तार किए जाने के दो महीने बाद प्रत्यर्पण मामले की सुनवाई के दौरान ज़मानत दे दी गई. नीरव मोदी को भी ठीक उसी तरह गिरफ़्तार किए जाने के बाद वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया है."

ज़ईवाला कहते हैं, "यानी हिरासत में लिए जाने, जम़ानत अर्ज़ी दाख़िल करने और फिर अदालत में फ़ैसला आने की प्रक्रिया पहले जैसी ही है. लेकिन अगर अदालत ने उन्हें प्रत्यरप्ति करने का फ़ैसला दे दिया तो फिर ब्रितानी गृहमंत्री को आदेश का पालन करने के लिए दस्तख़त करने होंगे. फिलहाल तो ये मामला सीधा दिखता है लेकिन यदि नीरव मोदी के पास किसी यूरोपीय देश की नागरिकता होने की बात सामने आती है तो फिर चीज़ें बदल जाएंगी.

वो कहते हैं, "हालांकि मोदी जब तक ब्रिटेन की ज़मीन पर हैं, इससे फ़र्क़ नहीं पड़ेगा, लेकिन अगर आगे क़ानूनी लड़ाई लंबी चली तो देरी हो सकती है क्योंकि फिर कई अंतरराष्ट्रीय और बाहरी क़ानून भी लागू हो जाएंगे."

लेकिन यदि नीरव मोदी ने ब्रिटेन में शरण लेने की अर्ज़ी दे रखी होगी तब भी क़ानूनी रास्ता बदल जाएगा. फिर सबसे पहले उनकी शरण याचिका पर सुनवाई होगी और उसके बाद प्रत्यर्पण पर सुनवाई तब ही होगी जब शरण याचिका रद्द हो जाए.

ब्रिटेन में यदि कोई व्यक्ति शरण मांगता है तो उसे तब तक अंतरिम शरणार्थी माना जाता है जब तक उसकी याचिका पर अंतिम फ़ैसला न आ जाए.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
पीएनबी घोटाला और नीरव मोदी

पीएनबी स्कैम: कौन हैं डायमंड मर्चेंट नीरव मोदी?

ग्राउंड रिपोर्टः 'नीरव मोदी ने धोखे से ले ली हमारी ज़मीन'

आरोप

इमेज कॉपीरइट AFP

पंजाब नेशनल बैंक ने साल 2018 में नीरव मोदी और उनके चाचा मेहुल चौकसी के नेतृत्व वाले ज्वैलरी समूहों पर फ़र्ज़ी बैंक गारंटी के ज़रिए क़र्ज़ लेने और धोखाधड़ी करने के आरोप लगाए थे.

लेकिन ये आरोप सार्वजनिक होने से पहले ही दोनों ने गुपचुप तरीके से भारत छोड़ दिया था.

नीरव मोदी को हाल ही में लंदन में देखा गया था जिसके बाद भारतीय मीडिया में सवाल उठाए गए थे.

इमेज कॉपीरइट NIRAV MODI/FACEBOOK

भारत के प्रवर्तन निदेशालय ने लंदन पुलिस से उन्हें गिरफ़्तार करने की गुज़ारिश की थी.

हांलाकि नीरव मोदी और मेहुल चौकसी ने भ्रष्टाचार के सभी आरोपों को खारिज किया है.

कौन है नीरव मोदी?

नीरव मोदी भारत के चर्चित हीरा कारोबारी हैं. वे 2.3 अरब डॉलर की ज्वेलरी डिजाइनर कंपनी फ़ायरस्टार डायमंड के संस्थापक हैं और उनके ग्राहकों में दुनिया के जाने-माने लोग शामिल हैं.

नीरव डायमंड का कारोबार करने वाले परिवार से आते हैं और बेल्जियम के एंटवर्प शहर में उनका पालन-पोषण हुआ है.

युवा उम्र से ही उनकी दिलचस्पी आर्ट और डिजाइन में थी और वो यूरोप के अलग-अलग म्यूज़ियम में आते-जाते थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इसके बाद भारत में जाकर बसने और डायमंड ट्रेडिंग बिज़नेस के सभी पहलुओं की ट्रेनिंग लेने के बाद साल 1999 में उन्होंने फ़ायरस्टार की नींव रखी.

ये एक डायमंड सोर्सिंग और ट्रेडिंग कंपनी है. साल 2008 में नीरव के एक करीबी दोस्त ने उन्हें ईयररिंग बनाने को कहा.

साल 2010 में वो क्रिस्टी और सॉदबी के कैटालॉग पर जगह बनाने वाले पहले भारतीय ज्वेलर बने. साल 2013 में वो फ़ोर्ब्स लिस्ट ऑफ़ इंडियन बिलिनेयर में आए और तब से अपनी जगह बनाए हुए हैं.

नीरव मोदी कंपनी के आभूषण केट विंस्लेट, रोज़ी हंटिंगटन-व्हाटली, नाओमी वॉट्स, कोको रोशा, लीज़ा हेडन और एश्वर्य राय जैसे भारतीय और अंतरराष्ट्रीय स्टाइल आइकन पहनते हैं.

कहां-कहां हैं उनके स्टोर?

नीरव मोदी के डिजाइनर ज्वेलरी बूटीक लंदन, न्यूयॉर्क, लास वेगास, हवाई, सिंगापुर, बीजिंग और मकाऊ में हैं. भारत में उनके स्टोर मुंबई और दिल्ली में है.

नीरव मोदी ने अपने ही नाम से साल 2010 में ग्लोबल डायमंड ज्वेलरी हाउस की नींव रखी थी. कंपनी का मुख्यालय भारत के मुंबई शहर में है.

नीरव डायमंड का कारोबार करने वाले परिवार से आते हैं और बेल्जियम के एंटवर्प शहर में उनका पालन-पोषण हुआ है.

भारत में स्टोर कहां-कहां?

साल 2014 में नीरव मोदी ने दिल्ली के डिफ़ेंस कॉलोनी में पहला फ्लैगशिप स्टोर खोला और साल 2015 में मुंबई के काला घोड़ा में स्टोर खुला.

साल 2015 में नीरव मोदी कंपनी ने न्यूयॉर्क सिटी और हॉन्गकॉन्ग में बूटीक खोले. लंदन की बॉन्ड स्ट्रीट और एमजीएम मकाऊ में उनके बूटीक स्टोर हाल में खुले हैं.

niravmodi.com के मुताबिक नीरव मोदी का ये झुकाव परिवार की वजह से हुआ क्योंकि रात के भोजन के वक़्त भी उन लोगों की बातचीत इसी पर हुआ करती थी.

इसके अलावा उन्हें अपनी मां से काफ़ी प्रेरणा मिलती है, जो इंटीरियर डिज़ाइनर थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार