पाकिस्तान में दो हिन्दू लड़कियों को मुस्लिम बनाने पर इमरान का यह आदेशः आज की पांच बड़ी ख़बरें

  • 25 मार्च 2019
इमरान खान इमेज कॉपीरइट Getty Images

पाकिस्तान में दो हिन्दू नाबालिग़ लड़कियों के अपहरण, शादी और जबरन धर्मांतरण के मामले में प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने पंजाब और सिंध की सरकार को साथ मिलकर लड़कियों की तलाश का आदेश दिया है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने कहा है कि दोनों सरकारें एक साथ मिलकर उन लड़कियों की तलाश करें. कहा जा रहा है कि इन लड़कियों को पाकिस्तान में पंजाब के रहीम यार ख़ान के घोटकी से अग़वा किया गया था.

लड़की के भाई और पिता का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है जिसमें वो अपना दर्द बयां कर रहे हैं. दूसरी तरफ़ एक वैसा वीडियो भी सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया है जिसमें वो अपनी इच्छा से इस्लाम स्वीकार करने की बात कह रहे हैं. पाकिस्तान के सूचना मंत्री चौधरी फ़व्वाद हुसैन ने ट्वीट कर बताया है कि प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने पंजाब और सिंध की सरकारों को जांच के लिए कहा है.

रविवार को भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस मामले में इस्लामाबाद स्थित भारत के उच्चायोग से रिपोर्ट मांगने की बात को ट्वीट किया तो पाकिस्तान के सूचना मंत्री चौधरी फ़व्वाद हुसैन ने कहा कि भारत में अल्पसंख्यकों के साथ जो 'ज़ुल्म' हो रहा है उस पर भी आप इसी तरह से सक्रियता दिखाइए.

पाकिस्तान के सूचना मंत्री चौधरी फ़वाद हुसैन ने कहा है कि उनके मुल्क के राष्ट्रध्वज का सफ़ेद हिस्सा अल्पसंख्यकों का प्रतिनिधित्व करता है और वो भी उतने ही प्यारे हैं.

इस मामले में पाकिस्तान के क़ानून की धारा 365 बी (अपहरण, जबरन शादी के लिए महिला का अपहरण), 395 (डकैती के लिए सज़ा), 452 (चोट पहुंचाने, मारपीट, अनधिकृत रूप से दबाने के उद्देश्य से घर में अनाधिकार प्रवेश) के तहत भाई सलमान दास, पुत्र हरि दास मेघवार के बयान पर दहारकी पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है.

इमेज कॉपीरइट Facebook/Sudhakar Reddy

महागठबंधन में कन्हैया नहीं, इसके लिए राहुल ज़िम्मेदार

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव एस सुधाकर रेड्डी ने विपक्षी दलों के बीच बिहार, पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में गठबंधन नहीं हो पाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को ज़िम्मेदार ठहराया है.

उन्होंने कहा कि गठबंधन का फ़ैसला राज्य इकाइयों पर छोड़ने का राहुल का निर्णय सही नहीं था.

सुधाकर रेड्डी ने कहा कि क्षेत्रीय परिस्थितियों के कारण गठबंधन की योजना परवान नहीं चढ़ पाई. उन्होंने यह भी कहा कि सपा और बसपा जैसी पार्टियां राष्ट्र हित को प्राथमिकता नहीं दे पाई, जिसकी वजह से गठबंधन में वो शामिल नहीं हुए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आयोध्या मामलाः मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने तय किया अपना रुख़

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने अयोध्या मामले में गठित मध्यस्थता कमेटी में पक्ष रखने के लिए अपना रुख़ तय कर लिया है.

बोर्ड के कार्यकारिणी सदस्यों और सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद अधिवक्ताओं के बीच रविवार को लखनऊ में पांच घंटे तक बैठक चली, जिसमें रुख़ तय किया गया.

बोर्ड 27 और 29 मार्च को होने वाली मध्यस्थता कमेटी की बैठक में अपना रुख़ रखेगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

IPL 2019: पंत की तूफ़ानी पारी, दिल्ली ने मुंबई को हराया

आईपीएल के तीसरे मुक़ाबले में रविवार को दिल्ली कैपिटल्स ने मुंबई इंडियंस को 37 रनों से हराया. ऋषभ पंत ने इस मैच में तूफ़ानी पारी खेली.

उन्होंने 27 गेंद पर सात चौके और सात छक्के की मदद से नॉटआउट 78 रन बनाए.

दिल्ली की टीम ने 20 ओवर में 213 रन बनाए, वहीं मुंबई की टीम 19.2 ओवरों में 176 रनों पर ही ढेर हो गई.

इससे पहले के मैच में केकेआर ने हैदराबाद को छह विकटों से हराया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

तख़्तापलट के बाद थाईलैंड में पहली बार हुए चुनाव

थाईलैंड में साल 2014 में तख़्तापलट के बाद पहली बार मतदान हुए.

चुनाव में क़रीब पांच करोड़ मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया और अब इस बात की संभावना जताई जा रही है कि इस चुनाव के परिणाम स्वरूप एक सैन्य समर्थक पार्टी प्रमुख राजनीतिक दल के तौर पर सामने आएगी.

चुनाव आयोग का कहना है कि पलांग प्रता रथ पार्टी, क़रीब सत्तर लाख़ वोट पाकर प्रमुख विपक्षी पार्टी से कुछ आगे चल रही है. यह पार्टी सैन्य समर्थक है. हालांकि यह अंतिम परिणाम नहीं है.

चुनाव आयोग के चेयरमेन इत्तिपोर्न ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, "चुनाव बहुत अच्छे तरीक़े से संपन्न हुए. हमारे पास जो जानकारी है उसके मुताबिक़ क़रीब नब्बे फ़ीसदी बैलेट बक्सों की गिनती हो चुकी है. अंतिम परिणाम आज यानी सोमवार तक घोषित कर दिये जाएंगे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार