नीरव मोदी की खरीदी पेंटिंग्स 55 करोड़ रुपए में नीलाम

  • 27 मार्च 2019
नीरव मोदी की ख़रीदी पेंटिंग्स 55 करोड़ रुपए में हुईं निलाम इमेज कॉपीरइट Getty Images

हीरा कारोबारी नीरव मोदी की खरीदी पेंटिंग्स करीब 55 करोड़ रुपए में नीलाम हुई हैं.

यह नीलामी आयकर विभाग ने मुंबई में कराई, जिसमें उनके 68 पेंटिंग्स नीलाम किए गए.

नीरव मोदी पर आयकर विभाग के करोड़ों रुपए टैक्स बकाया है.

48 साल के मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक के क़रीब 13 हज़ार करोड़ रुपए का उधार लेकर न चुकाने के आरोप हैं.

इमेज कॉपीरइट EPA

पिछले हफ़्ते नीरव मोदी को लंदन के होल्बोर्न इलाक़े से गिरफ़्तार किया गया था जिसके बाद उन्हें वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश किया गया.

उनकी तरफ से कोर्ट में जमानत याचिका दायर की गई थी, जिसे कोर्ट ने ख़ारिज कर दिया था.

भारतीय अधिकारियों ने नीलामी से करीब 50 करोड़ रुपए जुटाने का अनुमान लगाया था, हालांकि कई पेंटिंग उम्मीद से अधिक दाम पर बिके.

नीलाम करने वाले लोगों का कहना है कि आयकर विभाग सामान्य तौर पर प्रोपर्टी, सोना और महंगे सामान की निलामी करता रहा है. यह पहली बार है जब विभाग ने इस तरह की निलामी की है.

नीरव मोदी के पास भारत के प्रसिद्ध चित्रकारों में से एक वासुदेव एस गायतोंडे की एक पेंटिंग थी, जो करीब 25 करोड़ रुपए में बिकी है.

इमेज कॉपीरइट SAFFRONART

नीरव मोदी पर क्या हैं आरोप?

पंजाब नेशनल बैंक ने साल 2018 में नीरव मोदी और उनके चाचा मेहुल चौकसी के नेतृत्व वाले ज्वैलरी समूहों पर फ़र्ज़ी बैंक गारंटी के ज़रिए क़र्ज़ लेने और धोखाधड़ी करने के आरोप लगाए थे.

लेकिन ये आरोप सार्वजनिक होने से पहले ही दोनों ने गुपचुप तरीके से भारत छोड़ दिया था.

हांलाकि नीरव मोदी और मेहुल चौकसी ने भ्रष्टाचार के सभी आरोपों को खारिज किया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

कौन हैं नीरव मोदी?

नीरव मोदी भारत के चर्चित हीरा कारोबारी हैं. वे 2.3 अरब डॉलर की ज्वेलरी डिजाइनर कंपनी फ़ायरस्टार डायमंड के संस्थापक हैं और उनके ग्राहकों में दुनिया के जाने-माने लोग शामिल हैं.

नीरव हीरा का कारोबार करने वाले परिवार से आते हैं और बेल्जियम के एंटवर्प शहर में उनका पालन-पोषण हुआ है.

युवा उम्र से ही उनकी दिलचस्पी आर्ट और डिजाइन में थी और वो यूरोप के अलग-अलग म्यूज़ियम में आते-जाते थे.

इसके बाद भारत में जाकर बसने और डायमंड ट्रेडिंग बिज़नेस के सभी पहलुओं की ट्रेनिंग लेने के बाद साल 1999 में उन्होंने फ़ायरस्टार की नींव रखी.

ये एक डायमंड सोर्सिंग और ट्रेडिंग कंपनी है. साल 2008 में नीरव के एक करीबी दोस्त ने उन्हें ईयररिंग बनाने को कहा.

साल 2010 में वो क्रिस्टी और सॉदबी के कैटालॉग पर जगह बनाने वाले पहले भारतीय ज्वेलर बने. साल 2013 में वो फ़ोर्ब्स लिस्ट ऑफ़ इंडियन बिलिनेयर में आए और तब से अपनी जगह बनाए हुए हैं.

नीरव मोदी की कंपनी के आभूषण केट विंस्लेट, रोज़ी हंटिंगटन-व्हाटली, नाओमी वॉट्स, कोको रोशा, लीज़ा हेडन और एश्वर्य राय जैसे भारतीय और अंतरराष्ट्रीय स्टाइल आइकन पहनते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार